For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    BMC ने तोड़ा कंगना रनौत का ऑफिस, शरद पवार का बयान-बिना वजह महत्व दिया गया, गैर ज़रूरी

    |

    कंगना रनौत के मुंबई पहुंचने से पहले बुधवार को पाली हिल स्थित मणिकर्णिका कार्यालय को तोड़ दिया गया। महाराष्ट्र सरकार में शामिल एनसीपी ने बीएमसी के इस एक्शन का विरोध किया है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने इस फैसले पर आपत्ति जताई है। पवार ने साफ तौर पर कहा है कि उनके बयानों को अनुचित महत्व दिया जा रहा है।

    मीडिया से बातचीत में शरद पवार ने बीएमसी की कार्रवाई पर कहा कि मुझे नहीं पता कि वहां कुछ गैर-कानूनी है या नहीं। मैंने अखबारों में ही सिर्फ पढ़ा है। बिना पूरी जानकारी के इस पर कमेंट करना सही नहीं होगा। उन्होंने आगे कहा कि मुंबई में अवैध निर्माण कोई नया नहीं है।

    ऐसी कई अवैध इमारतें हैं। ऐसे में बीएमसी अधिकारियों ने ऐसा फैसला क्यों लिया? यह देखने की जरूरत है। उन्होंने आगे कहा कि बीएमसी की कार्रवाई ने गैर जरूरी तौर पर लोगों को अवसर दे दिया है। वे इस पर बोलें।

    पवार ने कहा-ऐसे बयानों पर ध्यान देना जरूरी नहीं

    पवार ने कहा-ऐसे बयानों पर ध्यान देना जरूरी नहीं

    पवार ने अपनी राय जाहिर करते हुए कहा कि मेरी राय में लोग ऐसे बयानों को गंभीरता से नहीं लेते हैं। महाराष्ट्र और मुंबई के लोगों को राज्य और नगर की पुलिस के काम के संबंध में सालों का अनुभव है। वे लोग पुलिस के काम को जानते हैं। इसलिए ध्यान देने की जरूरत नहीं है कि कोई क्या कहता है।

    धमकी भरे कॅाल आने पर पवार का जवाब

    धमकी भरे कॅाल आने पर पवार का जवाब

    एनसीपी नेता ने इस खबर की भी पुष्टि की है कि धमकी भरे कॅाल आए हैं। उन्होंने इस संबंध में कहा कि मुझे अभी-अभी धमकी भरे कॅाल का रिकॅार्ड दिया गया है। पहले मुझे भी ऐसे कॅाल आए हैं। हम इसे गंभीरता से नहीं लेते हैं।

    कंगना ने कहा ये मेरा राम मंदिर है फिर वही बनेगा

    कंगना ने कहा ये मेरा राम मंदिर है फिर वही बनेगा

    कंगना अपने ऑफिस पर हुई बीएमसी की कार्रवाई पर ट्वीट कर कहा है कि यह मेरे लिए इमारत नहीं राम मंदिर है। आज वहां बाबर आया है। आज इतिहास फिर से खुद को दोहराएगा। राम मंदिर फिर टूटेगा। मगर याद रख बाबर,यह मंदिर फिर वही बनेगा।

    कंगना को बीएमसी ने दिया था 24 घंटे का समय

    कंगना को बीएमसी ने दिया था 24 घंटे का समय

    रिपोर्ट अनुसार बीएमसी ने कंगना को मणिकर्णिका फिल्म्स कार्यालय पर अवैध निर्माण गिराने को लेकर 24 घंटे का समय दिया था। लेकिन उनकी तरफ से इस पर कोई जवाब नहीं आया। बुधवार को कंगना के मुंबई आने से पहले इसे तोड़ दिया गया।

    कंगना और शिवसेना का विवाद

    कंगना और शिवसेना का विवाद

    बता दें कि कंगना ने चेतावनी देते हुए कहा था कि मैं 9 सितंबर को मुंबई आ रही हूं। किसी में दम है तो आकर उन्हें रोक ले। शिवसेना की तरफ से उन्हें मुंबई नहीं आने का बयान दिया गया था। केंद्र सरकार की तरफ से कंगना को वाई श्रेणी की सुरक्षा दी गई। इसी के साथ उन्होंने मुंबई में कदम रखा।

    English summary
    Mumbai BMC demolition kangana ranauts office NCP chief sharad pawar reaction ,here read all the update
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X