»   » सलमान सीन पढ़ते ही नहीं...आमिर 10 बार SHOOT करते....शाहरुख 10 बार रिहर्सल

सलमान सीन पढ़ते ही नहीं...आमिर 10 बार SHOOT करते....शाहरुख 10 बार रिहर्सल

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

बॉलीवुड में कुछ सितारे ऐसे हैं जो बिल्कुल अलग चमकते हैं और सुपरस्टार्स के होने के बावजूद फिल्म में जान डाल देते हैं। ऐसे ही एक स्टार हैं मोहम्मद ज़ीशान अय्यूब। ज़ीशान फिलहाल ठग्स ऑफ हिंदुस्तान में काम कर रहे हैं।

ये लगातार उनकी बैक टू बैक खान फिल्म होगी। इसके पहले वो रईस में शाहरूख खान के बेस्ट फ्रेंड की भूमिका में दिखे तो ट्यूबलाइट में सलमान खान के साथ।

mohammad-zeeshan-ayub-talks-about-working-style-the-khans
Aamir Khan having these 5 MAJOR CHANGES in his LATEST LOOK | FilmiBeat

अब ठग्स ऑफ हिंदुस्तान में वो आमिर खान के साथ काम करते नज़र आएंगे। ज़ीशान ने तीनों खान के काम करने के तरीकों के बारे में बात की। उनका कहना था कि आमिर हर सीन अच्छे से समझेंगे। वो तब तक करेंगे जब तक परफेक्ट शॉट नहीं मिलता।

सलमान इसके बिल्कुल उलटे हैं। वो दो बार से ज़्यादा सीन नहीं पढ़ेंगे। एक बार लाइन बोलेंगे और बस सीन उनका हो गया। वो सीधा शूट करेंगे। इसलिए हमेशा गुंजाइश रहेगी कि वो सीन ना चले या फिर चमत्कार हो जाए तो धुंआधार चले।

mohammad-zeeshan-ayub-talks-about-working-style-the-khans

शाहरूख थियेटर वाले बंदे हैं। वो 10 बार रिहर्सल करेंगे। आपसे पूछेंगे आप सीन कैसे कर रहे हैं फिर उस हिसाब से अपनी लाइन तैयार करेंगे। जब आप सीन कर रहे होंगे तो तुरंत बताएंगे कि ऐसे करो तो बेहतर होगा। और आप भी बता सकते हैं।

नये सिनेमा का स्वागत

नये सिनेमा का स्वागत

कई ऐसे एक्टर्स हैं जिन्हें दर्शक अब सम्मान के साथ वो जगह दे रहे हैं जो एक कलाकार को मिलने चाहिए और इसका शाहरूख सलमान की स्टारडम से कोई लेना देना नहीं क्योंकि ये 'नया सनीमा' है!

मोहम्मद ज़ीशान अय्यूब

मोहम्मद ज़ीशान अय्यूब

अब रांझणा का मुरारी हो या फिर तनु वेड्स मनु का कंधा। ज़ीशान हर रोल में जान फूंक देते हैं। भूले तो आप उन्हें तब भी नहीं होंगे जब नो वन किल्ड जेसिकी में वो आए और एक ड्रिंक के लिए जेसिका को गोली मार कर चले गए।

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी भी उन चंद एक्टर्स में शामिल हो चुके हैं, जो कंटेंट के बल पर तारीफें बटोरते हैं। चाहे वो बॉम्बे टॉकीज़ की छोटी सी शॉर्ट फिल्म हो या फिर मांझी द माउंटेन मैन की बायोपिक हो। अब ज़माना आ चुका है 'नया सनीमा' का जहां स्टारडम नहीं अभिनय और कला परोसी जा रही है। और अब ये पूरी एक खेप हो चुकी है।

अमित साध

अमित साध

अगर सलमान खान के साथ भी कोई फिल्म में अपनी छाप छोड़ सकता है तो ज़ाहिर है वो सही दिशा में मेहनत कर रहा है। वैसे भी अमित को स्क्रीन पर देखना लोगों को काफी पसंद है!

जिम्मी शेरगिल

जिम्मी शेरगिल

जिम्मी शेरगिल ने माचिस से ही अपना जलवा दिखा दिया था और यशराज फिल्म्स ने उन्हें अपना नया चेहरा बनाया। लेकिन इसके बाद उनकी सफलता में केवल उनकी काबिलियत का योगदान है। 'यहां' से लेकर साहेब बीवी और गैंगस्टर, अ वेडनेसडे से तनु वेड्स मनु तक उनका सर्वश्रेष्ठ दिखा है। और राजा अवस्थी तो अपने यूपी वाले किरदार ही हैं फिर ;)

साकिब सलीम

साकिब सलीम

साकिब सलीम नए हैं और टैलेंटेड हैं और उतना उनके लिए काफी हैं। हवाहवाई को उनका करियर बेस्ट कहा जाए या बॉम्बे टॉकीज़ को इस बात पर थोड़ा डाउट है।

स्वरा भास्कर

स्वरा भास्कर

स्वरा भास्कर के अभिनय में जितनी सच्चाई है वो शायद ही आज के किसी एक्टर में देखने को मिलेगी। सीधा, सहज और सरल अभिनय उनकी ताकत है। यही वजह है कि रांझणा की बिंदिया के आगे ज़ोया भी फीकी सी लगीं।

 दीपक डोबरियाल

दीपक डोबरियाल

आपको पप्पी और ओमकारा का रज्जू पसंद आया होगा पर उनका करियर बेस्ट नॉट अ लव स्टोरी और गुलाल जैसी फिल्मों को माना जाएगा। शायद आपसे ये फिल्में मिस हो गई होंगी।

हुमा कुरैशी

हुमा कुरैशी

हुमा कुरैशी ने डेढ़ इश्किया जैसी फिल्म में माधुरी दीक्षित के सामने और साथ अपनी जगह बनाई और इसे अचीवमेंट कहते हैं जनाब।

रोनित रॉय

रोनित रॉय

रोनित रॉय की फैन फॉलोईंग आज की नहीं है। पर उनकी स्टारडम से ज़्यादा बड़ा है उनका अभिनय जो एक सीन से ही दिख जाता है। उनका करियर बेस्ट हम नहीं चुके सकते! [biased fan]

कंगना रनौत

कंगना रनौत

इस लिस्ट की क्वीन है कंगना रनौत। तनु और दत्तो को इतनी बेहतरी से निभाने की काबिलियत शायद कम लोगों में हो। फैशन की बिगड़ैल मॉडल से लेकर क्वीन की भोली सी रानी तक वो परफेक्ट हैं।

राजकुमार राव

राजकुमार राव

अगर क्वीन की बात हो तो उनके राजकुमार की बात भी होनी चाहिए। नए जेनेरेशन के बेस्ट एक्टर का खिताब उन्हें ही मिलना चाहिए। क्योंकि जितने वास्तविक ढंग से उन्होंने डॉली की डोली जैसी फिल्म में भी अपना किरदार जिया वो काबिले तारीफ है।

English summary
Mohammad Zeeshan Ayub talks about working style of the Khans.
Please Wait while comments are loading...