»   » 'माइ नेम इज़ ख़ान' की ज़बरदस्त शुरुआत

'माइ नेम इज़ ख़ान' की ज़बरदस्त शुरुआत

Subscribe to Filmibeat Hindi
'माइ नेम इज़ ख़ान' की ज़बरदस्त शुरुआत

मुश्किलें झेलने के बाद रिलीज़ हुई करण जौहर की फ़िल्म ‘माइ नेम इज़ ख़ान’ ने बॉक्स ऑफ़िस पर ज़बरदस्त शुरुआत की है.

उत्तरी अमरीका में ‘माइ नेम इज़ ख़ान’ को किसी भी हिंदी फ़िल्म को मिलने वाली सबसे बड़ी ओपिनिंग मिली है.

इस फ़िल्म ने अमरीका और कनाडा में सप्ताहांत में 1.86 मिलियन अमरीकी डॉलर की कमाई की है.

‘माइ नेम इज़ ख़ान’ के अमरीका और कनाडा में रिलीज़ करने वाली कंपनी फॉक्स सर्चलाइट ने कहा है कि जिन 120 सिनेमा घरों में ये फ़िल्म देखने को मिल रही है वहां क़रीब साढ़े 15 हज़ार डॉलर प्रति सिनेमा घर की कमाई हो रही है.

ये आंकड़े 12 से 14 फ़रवरी के हैं.

भारत में भी बॉक्स ऑफ़िस पर इस फ़िल्म ने काफ़ी धूम मचाई हुई है. भारत और विदेश में मिलाकर बीते शुक्रवार, शनिवार और रविवार को फ़िल्म ने 40 करोड़ के क़रीब का व्यापार किया है.

जानकारों के मुताबिक हाल में ‘थ्री इडियट्स’, ‘गजिनी’ और ‘लव आजकल’ को भी कुछ ऐसी ही ओपनिंग मिली थी.

आमिर ख़ान अभिनीत ‘थ्री इडियट्स’ और ‘गजिनी’ ने 100 करोड़ रुपए से ज़्यादा का कारोबार किया था.

तारीफ़

फ़िल्म समीक्षक सुभाष के झा ने बीबीसी को बताया कि ये एक बेहतरीन फ़िल्म है.

सुभाष झा कहते हैं, "ये एक क्लासिक फ़िल्म है. ये बॉक्स ऑफ़िस पर भी कमाल कर रही है. सप्ताहांत में फ़िल्म ने बढ़िया कारोबार किया है. करण जौहर ने एक ऐसी फ़िल्म बनाई है जो अरसे तक याद की जाएगी."

फ़िल्म समीक्षक तरन आदर्श फ़िल्म की ओपनिंग को बहुत बढ़िया बताते हैं. उन्होंने कहा सिंगल स्क्रीन सिनेमा के बजाए इस फ़िल्म के लिए मल्टीप्लेक्स सिनेमाघरों में काफ़ी भीड़ उमड़ रही है.

साथ ही इस फ़िल्म को अमरीकी मीडिया में अच्छे रिव्यू मिले हैं.

‘वेरायटी डॉट कॉम’ ने इस फ़िल्म को बेहद मनोरंजक कहते हुए लिखा है कि इसकी गति और ड्रामा ज़बरदस्त है.

‘हॉलीवुड रिपोर्टर’ ने लिखा है कि शाहरुख़ अमरीका में आकर दिखा दिया है कि वो क्यों भारत के मेगास्टार हैं.

‘लॉस एंजिलस टाइम्स’ कहता है कि ये फ़िल्म ऊर्जा से भरी हुई है जिसमें शाहरुख़ ख़ान और काजोल भावनाओं से भरे रोल में काफ़ी अच्छे लग रहे हैं.

‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ ने शंकर एहसान लॉय की संगीत तारीफ़ करते हुए लिखा है कि ये एक भावुक फ़िल्म है जो आपको आसानी से रुला देगी और साथ ही इस्लाम और सहनशीलता पर कुछ सीख भी देना चाहेगी.

Please Wait while comments are loading...