For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    संसद पहुंचा यौन शोषण मामला, रवि किशन- मैं भी बेटी का पिता, 'लाइफ बना दूंगा' बोलकर सौदेबाजी होती है

    |

    नेपोटिज्म और ड्रग्स के बाद बॅालीवुड में एक बार फिर से मी टू का मामला गर्म हो गया है। अनुराग कश्यप पर एक्ट्रेस पायल घोष ने यौन शोषण का आरोप लगाया। इसे लेकर निर्देशक अनुराग कश्यप के साथ काम कर चुकी की एक्ट्रेसे ऐसी हैं जिन्होंने उनका समर्थन किया है।

    हालांकि इस पूरे मामले को लेकर अभिनेता की पारी खेलने के बाद नेता बन चुके गोरखपुर के भाजपा सांसद रवि किशन ने इस मामले को लोकसभा में उठाया है। साथ ही महिलाओं के हक में कानून बनाने की मांग की है। उन्होंने अनुराग कश्यप का नाम नहीं लिया है। लेकिन फिल्म इंडस्ट्री और महिलाओं के यौन शोषण का गंभीर मामला जरूर उठाया है।

    रविवार देर रात तक लोकसभा की कार्यवाही चली। इस दौरान रवि किशन ने कहा कि ऐसा कानून लाना चाहिए जिससे महिलाओं, लड़कियों पर अनुचित दबाव बनाने वालों में डर पैदा होना चाहिए।

    देश में बेटियां देवी दुर्गा

    देश में बेटियां देवी दुर्गा

    रवि किशन ने कहा कि हमारे देश में बेटियां देवी दुर्गा और गो माता की तरह पूज्यनीय हैं। लेकिन बॅालीवुड के साथ कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां पर अभी भी कुछ लोग उनकी तकदीर चमकाने का दावा कर सौदेबाजी पर उतारू हैं।

    देश की बहुत गंभीर समस्या

    देश की बहुत गंभीर समस्या

    सांसद रवि किशन ने संसद में कहा इस देश की बहुत गंभीर समस्या पर आवाज उठा रहा हूं। जैसा की हमारे प्रधानमंत्री ने कहा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ। इससे भारत की बेटियों को बल मिला।

    मैं भी एक बेटी का पिता हूं

    मैं भी एक बेटी का पिता हूं

    खुद की निजी जिंदगी से जोड़ते हुए रवि किशन ने कहा कि मैं भी एक बेटी का पिता हूं। मुझे भी उनके पीड़ा से तकलीफ होती है। बेटियों को बल मिलने से उन्हें हिम्मत मिली और उन्होंने खुलकर समस्य भारत के सामने अपनी बात रखीं।

    कोई हिम्मत न करें कि मैं तेरी लाइफ बना दूंगा।

    कोई हिम्मत न करें कि मैं तेरी लाइफ बना दूंगा।

    रवि किशन ने केंद्र सरकार से ये मांग की है कि ऐसा कानून बनाया जाए कि इसकी मदद से बेटियों,महिलाओं के साथ हो रहे अत्याचार को रोका जा सके। कोई हिम्मत न करें कि मैं तेरी लाइफ बना दूंगा। इसके बदले सौदेबाजी करें।

    बड़े निर्देशक के दफ्तर की घंटी

    बड़े निर्देशक के दफ्तर की घंटी

    रवि किशन ने कहा कि छोटी जगहों से निकलकर जब कोई जाता है तो उसका सबकुछ दांव पर लगा होता है। कोई अपनी जमीन बेचकर जाता है तो कोई बाइक। वहां जाकर किसी बड़े निर्देशक के दफ्तर की घंटी बजती है तो उसके साथ सौदेबाजी की जाती है।

    सौदेबाजी क्यों होती है?

    सौदेबाजी क्यों होती है?

    ये सौदेबाजी क्यों होती है? क्या अधिकार है ये कहने का कि तुम्हारी लाइफ बना दूंगा। कॉमप्रोमाइज का सौदा करने की क्या जरूरत है? कब तक ऐसा चलेगा? मोदी सरकार? हमारी सरकार में ऐसा कानून बनना ही चाहिए। ताकि महिलाओं को न्याय मिल सके।

    कंगना रनौत के खिलाफ बोलने पर अध्ययन सुमन की बेइज्जती- मुझे निकम्मा कहा गया था, दर्दनाक खुलासा !

    English summary
    Me Too allegation on Anurag Kashyap Ravi Kishan raised the issue in the Lok Sabha
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X