For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    'पठान' की धुआंधार बुकिंग से निराश हुए बंगाली फिल्ममेकर्स, जानें क्या है इसकी वजह?

    |

    'पठान' आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। शाहरुख खान लगभग 4 सालों के बाद थियेटर में जबरदस्त वापसी कर रहे हैं। फिल्म की एडवांस बुकिंग भी कई रिकॉर्ड को ध्वस्त कर चुका है। उम्मीद की जा रही है कि फिल्म एक शानदार ओपनिंग कर सकती है। फिल्म को लेकर सिने प्रेमियों के बीच जबरदस्त क्रेज देखा जा रहा है। सोशल मीडिया पर भी 'पठान' की ही चर्चा हो रही है।

    बॉलीवुड में पिछले कुछ समय से लगातार बॉक्स ऑफिस पर कई बड़ी फिल्मों का खराब प्रदर्शन रहा है और डिस्ट्रीब्यूटर्स और प्रोड्यूसर को अच्छा खासा नुकसान भी झेलना पड़ा है लेकिन, 'पठान' अब बॉलीवुड के लिए ऑक्सीजन बनकर आ रही है। ऐसे में जाहिर प्रोड्यूसर और डिस्ट्रीब्यूटर को भी अच्छा मुनाफा होने वाला है। लेकिन, शाहरुख खान की फिल्म ने कोलकाता के कई फिल्ममेकर्स को निराश कर दिया है।

    दरअसल, 'पठान' को विदेशों में 2500 स्क्रीन पर रिलीज किया जा रहा है तो वहीं, भारत में भी स्क्रीन की संख्या अच्छी खासी रहने वाली है। ऐसे में कई सिनेमाघरों में 'पठान' ही छाया हुआ है और ये बात कोलकाता के फिल्ममेकर्स को पसंद नहीं आ रही है और इसका कारण यह है कि, इससे बंगाली सिनेमा को नुकसान होने का अंदेशा है।

     रिलीज हुई तीन बंगाली फिल्में

    रिलीज हुई तीन बंगाली फिल्में

    ई टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले हफ्ते तीन बंगाली फिल्में 'काबेरी अंतर्ध्यान' 'दिलखुश' और 'डॉक्टर बख्शी' रिलीज हुई है जिन्हें क्रिटिक्स ने सराहा भी है लेकिन 'पठान' के रिलीज होने की वजह से इन तीन फिल्मों के शोज कम कर दिए जाएंगे। इससे तीनों ही फिल्मों का अच्छा खासा नुकसान हो सकता है।

     सिंगल स्क्रीन के नियम से दुखी फिल्ममेकर्स

    सिंगल स्क्रीन के नियम से दुखी फिल्ममेकर्स

    'पठान' के डिस्ट्रीब्यूटर्स ने सिंगल स्क्रीन के लिए यह शर्त रखी थी कि, अगर सिंगल स्क्रीन थिएटर्स 'पठान' को दिखाना चाहते हैं तो उन्हें दिन के सारे शोज इसी फिल्म के रखने होंगे। 'काबेरी अंतर्ध्यान' के मेकर कौशिक गांगुली ने माना है कि इस तरह के नियमों में बदलाव किया जाना चाहिए।

    'पठान' के डिस्ट्रीब्यूशन हाउस ने दिया बयान

    'पठान' के डिस्ट्रीब्यूशन हाउस ने दिया बयान

    'पठान' के डिस्ट्रीब्यूशन हाउस ने कहा है कि यह बिजनेस मॉडल सालों से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में चला आ रहा है। यह कोई नया बिजनेस मॉडल नहीं है। लेकिन, बंगाली मेकर्स का कहना है कि यह एक बिजनेस से जुड़ा फैसला है और ऐसा नहीं है कि हिंदी फिल्मों के डिस्ट्रीब्यूटर, बंगाली सिनेमा को नुकसान पहुंचाने के लिए ऐसा करते हैं।

    कई थियेटर में नहीं चलेगी पठान

    कई थियेटर में नहीं चलेगी पठान

    जी हां, कई ऐसे सिंगल थियेटर्स हैं जिन्होंने शाहरुख खान की पठान को चलाने से इनकार कर दिया है। कई मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सिंगल थियेटर के मालिक शाहरुख खान की फिल्म को चलाना तो चाहते थे लेकिन बंगाली फिल्म के साथ समझौता नहीं करना चाहते थे इसलिए उन्होंने बंगाली फिल्मों को चलाने का फैसला लिया है।

    English summary
    Makers of Bengali films are unhappy with the overwhelming booking of 'Pathaan', Know what is the reason behind it.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X