India
    For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    आपकी वजह से हिंदी फिल्में फ्लॉप और पुष्पा ब्लॉकबस्टर हो गई - आमिर खान पर करण जौहर ने लगाया इल्ज़ाम, मिला जवाब

    |

    कॉफी विद करण के नए एपिसोड में करण जौहर और आमिर खान, फिल्ममेकर के तौर पर कुछ सीरियस बातें करते दिखाई दिए। इनमें से सबसे बड़ा मुद्दा था बॉलीवुड फिल्मों का ना चल पाना। वहीं दक्षिण की फिल्मों का हिंदी बॉक्स ऑफिस पर बेतहाशा पैसे कमाना।

    करण जौहर ने आमिर खान के साथ इसी सवाल के साथ शुरूआत की जो वो शायद इस साल हर बड़े स्टार से पूछने वाले हैं। वो सवाल जो इस समय पूरे बॉलीवुड प्रोड्यूसर्स को परेशान कर रहा है। आखिर साउथ की फिल्में क्यों चल रही हैं और हिंदी फिल्मों में क्या कमी रह जा रही है।

    इस बारे में आमिर खान और करण जौहर एक सीरियस डिस्कशन करते हुए दिखाई दिए। करण जौहर ने आमिर खान के सामने कुछ उदाहरण रखते हुए बताया कि इस समय हिंदी दर्शकों को जिस तरह की साउथ फिल्में पसंद आ रही हैं वो लगभग अपने ढांचे में एक ही तरह की है। Larger Than Life फिल्में फिर चाहे वो पुष्पा हो या फिर केजीएफ 2.

    आमिर खान ने बदला हिंदी सिनेमा

    आमिर खान ने बदला हिंदी सिनेमा

    दिलचस्प ये है कि कुछ सालों पहले तक बॉलीवुड ठीक इसी तरह की फिल्में बना रहा था लेकिन फिर हमने खुद ही इन फिल्मों से किनारा कर लिया। और इसका ज़्यादातर श्रेय आमिर खान को जाता है क्योंकि 2001 में दो फिल्में आईं - दिल चाहता है और लगान। ये दोनों ही फिल्में उस समय की हिंदी फिल्मों से बिल्कुल ही अलग थीं। इसके बाद 2006 में आई रंग दे बसंती और उसके कुछ सालों बाद तारे ज़मीन पर।

    आमिर को बताया ज़िम्मेदार

    आमिर को बताया ज़िम्मेदार

    करण जौहर ने कहा, आमिर आप वो इंसान हैं जिन्होंने दर्शकों को अलग तरह के सिनेमा की तरफ मोड़ दिया। इस पर जवाब देते हुए आमिर ने साफ किया कि ऐसा बिल्कुल नहीं है, ये सारी बिल्कुल ज़मीन से जुड़ी फिल्में थीं। वो फिल्में जो दर्शक देखना चाहते थे लेकिन उन तक पहुंची नहीं। दंगल भी एक खास तरह की फिल्म थी लेकिन पूरी तरह से ज़मीन से जुड़ी हुई थी। गलती वहां हुई जब हम बंधने लग गए और एक सीमित दर्शक वर्ग के लिए फिल्में बनाने लग गए और बाकी जनता को छोड़ने लग गए। मुझे लगता है कि हमने वहीं कमी कर दी।

    अक्षय कुमार से भी पूछा था सवाल

    अक्षय कुमार से भी पूछा था सवाल

    गौरतलब है कि इससे पहले, कॉफी विद करण पर करण जौहर ने अक्षय कुमार से भी इस बारे में उनकी राय मांगी। अक्षय को बताया गया कि ऑरमैक्स के टॉप स्टार्स की हिंदी लिस्ट में वो पहले नंबर पर हैं लेकिन Pan India लिस्ट में वो पांचवे नंबर पर हैं। इतना ही नहीं, उन्हें करण जौहर ने बताया कि इस लिस्ट में वो इकलौते हिंदी एक्टर हैं। ये सोचकर उन्हें कैसा लग रहा है। अक्षय का कहना था कि मुझे लगता है कि हमें बेहतर काम करना चाहिए और ज़्यादा मेहनत करनी चाहिए। इससे ज़्यादा और मैं क्या कहूं। खुशी और दुख कुछ नहीं है ऐसा।

    अक्षय ने बताई थी दिक्कत

    अक्षय ने बताई थी दिक्कत

    जब करण जौहर ने वापस दबाव डालते हुए पूछा कि हिंदी इंडस्ट्री ऐसा क्या गलत कर रही है और साउथ की इंडस्ट्री ऐसा क्या सही कर रही है तो अक्षय कुमार का कहना था कि साउथ के एक्टर्स में Insecurity नहीं है। वो लोग दो हीरो तीन हीरो वाली फिल्में करने से कतराते नहीं है। जबकि हीरोइनों में ऐसा नहीं है, हीरोइनों ऐसे रोल के लिए तैयार रहती हैं लेकिन हीरो रोल बांटने को तैयार नहीं होते हैं।

    पहली छमाही की बॉक्स ऑफिस रिपोर्ट

    पहली छमाही की बॉक्स ऑफिस रिपोर्ट

    गौरतलब है कि जनवरी 2022 से जून 2022 की तो इन छह महीनों में 18 हिंदी फिल्में रिलीज़ हुईं। इन 18 हिंदी फिल्मों ने मिलकर बॉक्स ऑफिस पर कुल 908 करोड़ की कमाई की। वहीं अगर इन 18 फिल्मों का बजट देखा जाए तो कुल मिलाकर इन 18 फिल्मों का बजट था 1680 करोड़। दिलचस्प ये है कि इनमें से दो फिल्मों को छोड़कर बाकी सारी बड़े बजट की फिल्म थीं। ये दो फिल्में थीं निकम्मा और जनहित में जारी। इसके अलावा पहली छमाही में रणवीर सिंह से लेकर आयुष्मान खुराना और अजय देवगन से लेकर अक्षय कुमार तक बॉक्स ऑफिस पर कोई स्टार बॉक्स ऑफिस पर नहीं टिका। अक्षय और अजय तो प्रोड्यूसर के तौर पर इतने घाटे के कारण बिक गए। अगर कोई टिका तो वो थे कार्तिक आर्यन।

    दक्षिण फिल्मों की कमाई

    दक्षिण फिल्मों की कमाई

    जनवरी से जून तक हिंदी में दक्षिण भारत की कन्नड़ की 777 चार्ली, केजीएफ 2, तमिल की विक्रम, बीस्ट और वलीमई और तेलुगू की खिलाड़ी, मेजर और RRR. इनमें बीस्ट और वलीमई को छोड़कर बाकी सभी फिल्मों ने हिंदी भाषा में भी जमकर कमाई की। कुल मिलाकर इन सभी फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर 731 करोड़ की कमाई की। वहीं किसी भी दक्षिण भारतीय फिल्म ने हिंदी में 1.5 करोड़ से कम कमाई नहीं की।

    हिंदी बॉक्स ऑफिस को दक्षिण से ही मिली राहत

    हिंदी बॉक्स ऑफिस को दक्षिण से ही मिली राहत

    हिंदी फिल्मों की कमाई में इजाफा किया एस एस राजामौली की तेलुगू फिल्म RRR और कन्नड़ फिल्म केजीएफ 2 ने। जहां RRR का बजट 550 करोड़ था, इस फिल्म ने हिंदी में 265 करोड़ की कमाई की। वहीं केजीएफ 2 का बजट था 100 करोड़ और इसने हिंदी में 435 करोड़ की कमाई की। इसके अलावा, अक्षय कुमार की पृथ्वीराज के साथ रिलीज़ हुई मेजर संदीप उन्नीकृष्णन की बायोपिक मेजर और इसने हिंदी में 13 करोड़ की कमाई की।

    जुलाई में भी जारी है सिलसिला

    जुलाई में भी जारी है सिलसिला

    कुल मिलाकर हिंदी दर्शकों को 18 हिंदी फिल्में देखने को मिली जिनमें से केवल 2 बॉक्स ऑफिस पर टिक पाईं - कार्तिक आर्यन स्टारर भूल भुलैया 2 और विवेक अग्निहोत्री की अनुपम खेर फिल्म द कश्मीर फाईल्स। इसके अलावा हिंदी बॉक्स ऑफिस को एक एवरेज फिल्म मिली संजय लीला भंसाली की गंगूबाई काठियावाड़ी के साथ। जुलाई में भी शमशेरा बुरी तरह फ्लॉप हो चुकी है। अगर इस छमाही की बात करें तो बड़े बजट की फिल्मों का जमावड़ा लग चुका है। उम्मीद है कि लाल सिंह चड्ढा और रक्षाबंधन के साथ हिंदी सिनेमा एक बार फिर से बॉक्स ऑफिस पर अपनी धमाकेदार वापसी कर सके।

    English summary
    Karan Johar blames Aamir Khan for hindi films flopping at the box office while KGF 2 and Pushpa turned blockbusters. Aamir Khan has a stern reply.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X