For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    कनिका कपूर ने तोड़ी चुप्पी - खुद दिया अपना कोरोना अपडेट, कहा मैं चुप थी पर गलत नहीं थी

    |

    कनिका कपूर ने कोरोना वायरस से अपनी लड़ाई जीतने के बाद अब पहली बार अपने सोशल मीडिया पर अपनी सेहत के बारे में जानकारी दी है। कनिका ने एक पोस्ट में उन सब बातों और अफवाहों पर चुप्पी तोड़ी जो हाल ही में उन पर लगाए गए।

    इसके अलावा कनिका ने उन सारे चुटकुले के बारे में बात की जिसे उन पर बिना सोचे समझे फेंका गया। गौरतलब है जब से कनिका कपूर बॉलीवुड की पहली संक्रमित सेलिब्रिटी बनीं उन पर memes की बौछार हो गई।

    इनमें कुछ हद तक उन खबरों का भी दोष था जिनके मुताबिक कनिका कपूर ने लखनऊ में कई पार्टियां कीं जबकि वो कोरोना पॉज़िटिव थीं। उनकी इस गैर ज़िम्मेदाराना हरकत को काफी नमक मिर्च बनाकर चुटकुलों में परोसा गया।

    अब आखिरकार किनिका कई टेस्ट के बाद निगेटिव आ चुकी हैं और अपने घर में अपने माता पिता के साथ आराम कर रही हैं। और इस दौरान कनिका ने पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ उन सारी बातों के बारे में बात की है जो उनके बारे में की गई

    मैं गलत नहीं

    मैं गलत नहीं

    कनिका ने लिखा - मुझे पता है मेरे बारे में कई तरह के कई किस्से फेमस हो चुके हैं। इनमें से कुछ को तो रोज़ तवे पर सेंका जा रहा है क्योंकि मैं अभी तक इन सबके बारे में चुप हूं। मैं चुप थी इसलिए नहीं क्योंकि मैं गलत थी। मुझे पता था कि मेरे बारे में ढेर सारी अफवाहें बाहर फैल चुकी हैं और लोगों को बारे में काफी गलत जानकारियां मिल चुकी हैं क्योंकि मेरे बारे में सही जानकारी जा ही नहीं रही थी।

    सच पर था भरोसा

    सच पर था भरोसा

    मैं जानती थी कि सच अपने आप बाहर आ जाएगा और मैं लोगों को भी मौका दे रही थी कि एक बार अपने ज़ेहन में झांक कर देखें। मैं अपने परिवार का, दोस्तों का और उन सब लोगों का शुक्रिया अदा करती हूं जिन्होंने मेरे बोलने का इंतज़ार किया और मुझे पूरा समय दिया। मैं उम्मीद करती हूं कि आप सब ठीक हैं, स्वस्थ हैं और सुरक्षित हैं ।

    सुन लीजिए थोड़ा सच

    सुन लीजिए थोड़ा सच

    अब मैं आप लोगों से कुछ तथ्य बांटना चाहती हूं। मैं लखनऊ में अपने घर में हूं और अपने माता पिता के साथ कुछ अच्छा समय बिताने की कोशिश कर रही हूं।

    हर कोई निगेटिव

    हर कोई निगेटिव

    हर वो व्यक्ति जिससे मैं इस दौरान मिली - लंदन में, मुंबई में, लखनऊ में, किसी में भी कोरोना वायरस के कोई लक्षण नहीं हैं और उन सब की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई है। मैं 10 मार्च को लंदन से मुंबई आई थी और मुझे इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अच्छे से स्क्रीन किया गया था।

    कोई आदेश नहीं

    कोई आदेश नहीं

    उस दिन सरकार (ना लंदन, ना भारत) से ऐसा कोई भी आदेश आया था कि बाहर से आए लोगों को खुद को isolate/quarantine करना है। लंदन ने ये आदेश 18 मार्च को जारी किया। मेरी तबीयत बिल्कुल ठीक थी और मैं खुद को पूरी तरह स्वस्थ महसूस कर रही थी इसलिए मैंने खुद को क्वारंटीन नहीं किया। अगले दिन 11 मार्च को मैं लखनऊ चली गई। उस समय तक अंतर्देशीय फ्लाईट्स (Domestic) और एयरपोर्ट पर किसी तरह की कोई स्क्रीनिंग नहीं हो रही थी।

    टेस्ट रिपोर्ट थी पॉज़िटिव

    टेस्ट रिपोर्ट थी पॉज़िटिव

    14 और 15 मार्च को मैं एक दोस्त के घर लंच और डिनर पर आमंत्रित थी। मैंने कोई पार्टी नहीं रखी थी और तब तक मैं बिल्कुल ठीक थी। मुझे 17 और 18 मार्च से लक्षण दिखने शुरू हुए और मैंने टेस्ट करवाने की अर्ज़ी दी। मेरा टेस्ट 19 मार्च को किया गया और 20 मार्च को मेरी टेस्ट रिपोर्ट पॉज़िटिव आई जिसके बाद मैंने खुद अस्पताल में भर्ती होने का निर्णय लिया।

    घर पर हूं स्वस्थ हूं

    घर पर हूं स्वस्थ हूं

    तीन निगेटिव रिपोर्ट्स आने के बाद मुझे डिस्चार्ज किया गया है और मैं 21 दिन से घर पर हूं। मैं उन सभी डॉक्टर्स और नर्स का धन्यवाद करना चाहती हूं जिन्होंने इतने दिन मेरा ख्याल रखा। खासतौर से ऐसे वक्त पर जो भावनात्मक रूप से भी मेरे लिए बहुत कठिन था। मैं उम्मीद करती हूं कि हम में से हर कोई इस मामले को पूरी संवेदनशीलता और सच्चाई के साथ ले। किसी पर अपनी नकारात्मकता थोप देने से सच्चाई नहीं बदल जाती है। ढेर सारा प्यार, कनिका।

    हुई थी शिकायत

    हुई थी शिकायत

    गौरतलब है कि कनिका का इलाज लखनऊ के PGI में हुआ और वहां के इंचार्ज ने शिकायत करते हुए बताया था कि कनिका इलाज में काफी नखरे दिखा रही हैं जबकि उन्हें बेस्ट कमरा दिया गया है। उन्हें डांट कर समझाना पड़ा कि यहां वो स्टार नहीं बल्कि एक मरीज़ हैं।

    बुरा व्यवहार

    बुरा व्यवहार

    वहीं कनिका का कहना था कि उन्हें खाने और पीने के लिए कुछ नहीं दिया जा रहा था। उन्हें और भी कई दिक्कतें हैं जिस कारण से वो सब कुछ नहीं खा सकती हैं लेकिन डॉक्टर उनके घर से कुछ आने नहीं दे रहे थे। और उनके साथ मरीज़ जैसा व्यवहार नहीं हो रहा था।

    मुजरिमों सा सुलूक

    मुजरिमों सा सुलूक

    कनिका ने डॉक्टरों पर इल्ज़ाम लगाया था कि मुझे ऐसे ट्रीट किया जा रहा है जैसे मैंने कोई जुर्म किया है। मेरी ठीक तरह से देखभाल नहीं हो रही है। ये भी नहीं समझा जा रहा है कि मैं एक मरीज़ हूं और बीमार हूं तो कम से कम एक मरीज़ जैसा सुलूक तो किया जाए।

    English summary
    Kanika Kapoor for the first time updated about her corona status and revealed some facts about her testing covid 19 positive and then negative.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X