For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    'हमें फिल्म इंडस्ट्री को कई तरह के आतंकवाद से बचाना है, इसे बदलाव की जरूरत है'- कंगना रनौत

    |

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में एक खू़बरसूरत फ़िल्मसिटी बनाने की घोषणा की है। इस पर एक्ट्रेस कंगना रनौत की प्रतिक्रिया देते हुए सराहा है। कंगना ने कहा, फिल्म इंडस्ट्री में काफी बदलाव की जरूरत है। हमें सबसे पहले एक बड़ी फ़िल्म इंडस्ट्री चाहिए, जिसे इंडियन फ़िल्म इंडस्ट्री कहा जाए।

    सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में देश की सबसे खूबसूरत फिल्म सिटी बनेगी। इसके लिए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश भी दे दिए हैं। जानकारी के मुताबिक यूपी की नई फिल्म सिटी नोएडा या ग्रेटर नोएडा में बन सकती है।

    कंगना रनौत ने इसे बेहतरीन कदम माना है। इसके साथ ही अभिनेत्री ने भारत में विभिन्न फिल्म इंडस्ट्री को लेकर कई बयान पोस्ट किये। कंगना ने लिखा- "मैं योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा की सरहाना करता हूं। हमें फ़िल्म इंड्रस्टी में कई किस्म के बदलाव का जरूरत है। हमें सबसे पहले एक बड़ी फ़िल्म इंडस्ट्री चाहिए, जिसे इंडियन फ़िल्म इंडस्ट्री कहा जाए। हम कई वजहों से विभाजित हैं। हॉलीवुड फ़िल्में इसका फायदा उठाती हूं। एक इंडस्ट्री, लेकिन कई फ़िल्म सिटीज़।"

    फिल्म इंडस्ट्री को साथ लाने की जरूरत

    फिल्म इंडस्ट्री को साथ लाने की जरूरत

    अभिनेत्री ने लिखा- फिल्मों में पूरे देश को साथ लाने की ताकत है, लेकिन प्रधानमंत्री जी कृप्या पहले इन इंडस्ट्रीज को साथ ही लाना चाहिए, तो अपना अलग अलग पहचान रखती हैं। अखंड भारत की तरह ही.. यदि अखंड फिल्म इंडस्ट्री बन जाए तो हम दुनिया में नंबर 1 बन सकते हैं।

    हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री से आगे है तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री

    हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री से आगे है तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री

    कंगना ने लिखा- "लोगों की यह धारणा गलत है कि भारत की टॉप फ़िल्म इंडस्ट्री, हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री है। तेलुगु फ़िल्म इंडस्ट्री खु़द को टॉप पर स्थापित कर चुका है। साथ ही साथ में अब पूरा भारत में विभिन्न भाषाओं की फ़िल्म को परोसा जा रहा है। कई हिंदी फ़िल्मों की शूटिंग रमोजी हैदराबाद में शुरू हो गया है।"

    हॉलीवुड फिल्मों को क्षेत्रीय फिल्मों से ज्यादा स्क्रीन मिलती है

    हॉलीवुड फिल्मों को क्षेत्रीय फिल्मों से ज्यादा स्क्रीन मिलती है

    कंगना ने क्षेत्रीय फ़िल्मों को लेकर लिखा कि.. "रिलीज़िनल डब फ़िल्मों को पूरे भारत में रिलीज़ नहीं मिलता, लेकिन हॉलीवुड डब फ़िल्में मेनस्ट्रीम में रिलीज़ होती हैं। यह चिंताजनक है। कारण है कि हिंदी फ़िल्मों का थिएटर्स और स्क्रीन्स पर दबदबा है। वहीं, हॉलीवुड फ़िल्मों के लिए मीडिया की तरफ से एक सकारात्मक कल्पना पैदा की जाती है।"

    आतंकवाद से बचाने की जरूरत

    आतंकवाद से बचाने की जरूरत

    साथ ही कंगना ने लिखा कि, "हमें विभिन्न आतंकियों से इंडस्ट्री को बचाने की जरूरत है"-

    भाई-भतीजावाद आतंकवाद, ड्रग्स माफिया आतंकवाद, लिंगभेद आतंकवाद, धार्मिक और क्षेत्रीय आतंकवाद, विदेशी फिल्मों का आतंकवाद, पाइरेसी आतंकवाद, मजदूरों के शोषण से जुड़ा आतंकवाद, प्रतिभा के शोषण का आतंकवाद..

    बॉलीवुड पर कंगना

    बॉलीवुड पर कंगना

    कंगना रनौत लंबे समय से बॉलीवुड में फैले नेपोटिज्म और खेमेबाजी को लेकर आवाज उठाती रही हैं। हालांकि पिछले दिनों कई फिल्म कलाकारों को दिये व्यक्तिगत कमेंट्स की वजह से कंगना को विवादों का सामना भी करना पड़ा।

    'डॉली किट्टी और वो चमकते सितारे' फिल्म रिव्यू: दो बेखौफ बहनों की कहानी में स्टार हैं भूमि और कोंकणा

    English summary
    Kangana Ranaut thanks Yogi Adityanath for announcing film city in Uttar Pradesh. She said, we need many reforms in the film industry first of all we need one big film industry called Indian film industry.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X