For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    कंगना रनौत की दो टूक - इसी टूटे खंडहर ऑफिस से करूंगी काम, दोबारा बनवाने के पैसे नहीं हैं

    |

    कंगना रनौत का पाली हिल ऑफिस मणिकर्णिका फिल्म्स पर BMC बुलडोज़र चला चुकी है। और अब अपने नुकसान का मुआयना करने के बाद कंगना रनौत ने साफ किया है कि वो ना ही अपना ऑफिस बनवाएंगी और ना ही काम करना छोड़ेंगी। कंगना ने एक ट्वीट करते हुए बताया कि वो इसी टूटे ऑफिस से काम करेंगे और अब लोग भी एक महिला का शक्ति और इच्छाशक्ति का नमूना देखेंगे।

    कंगना का कहना है कि वो इसी खंडहर से वापस उठ खड़ी होंगी। लेकिन फिलहाल उनके पास अपना ऑफिस दोबारा बनवाने या ठीक करवाने के पैसे नहीं है क्योंकि इस ऑफिस का उद्घाटन 15 जनवरी को हुआ था।

    उसके बाद लॉकडाउन शुरू हो गया और फिलहाल कंपनी ने कोई काम नहीं किया है। इसलिए कोई कमाई भी नहीं हुई है। ऐसे में उनके पास वापस पूरा ऑफिस ठीक करवाने के पैसे नहीं है।

    अगर आप भी सोच रहे हैं कि आखिर ये सारा मामला शुरू कहां से हुआ तो हम एक बार फिर से पूरी कहानी दोहरा देते हैं -

    सुशांत केस से उठाया मामला

    सुशांत केस से उठाया मामला

    कंगना रनौत जगी थीं सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद। बॉलीवुड में एक आउटसाईडर होने के नाते, कंगना का कहना था कि वो समझ सकती हैं कि सुशांत किन कठिनाईयों और कुंठा से गुज़र रहे थे। वो सुशांत में अपना अक्स देखती थीं क्योंकि दोनों ही बॉलीवुड में नेपोटिज़्म और फिल्म माफिया गैंग का शिकार बने थे, ऐसा कंगना का मानना था।

    आदित्य ठाकरे, करण जौहर पर फूटा गुस्सा

    आदित्य ठाकरे, करण जौहर पर फूटा गुस्सा

    सुशांत की मौत के बाद कंगना रनौत ने लगातार इस मौत से चीफ मिनिस्टर के बेटे आदित्य ठाकरे और उनके खास दोस्त करण जौहर का नाम जोड़ा। कंगना का कहना था कि इन लोगों को पता है कि सुशांत के साथ क्या हुआ है। और इनसे कड़ी पूछताछ की जानी चाहिए।

    बॉलीवुड को बताया सुसाइड गैंग

    बॉलीवुड को बताया सुसाइड गैंग

    कंगना रनौत ने बॉलीवुड के एक संपन्न वर्ग को सुसाइड गैंग बताया और कहा कि ये लोग बाहरी प्रतिभाओं की धीरे धीरे करके इतना तोड़ते हैं कि वो लोग ऐसा कदम उठाने पर मजबूर हो जाते हैं जैसा कि सुशांत ने उठाया। कंगना का कहना था कि एक समय था जब उनके भी दिमाग में सुसाइड करने जैसे आईडिया डाले जाते थे।

    घर पर हुआ हमला

    घर पर हुआ हमला

    मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे का नाम लेने के बाद कंगना रनौत का दावा था कि हिमाचल में उनके घर के पास गोलियां चलीं। कंगना का कहना था कि ये गोलियां उन्हें डराने के लिए चलवाई गईं क्योंकि लोगों को लगता है कि उनका मुंह बंद हो जाए। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

    लगातार मुंबई पुलिस पर अटैक

    लगातार मुंबई पुलिस पर अटैक

    कंगना रनौत ने सुशांत सिंह राजपूत के केस में लगातार मुंबई पुलिस पर अटैक किया। और उनके उठाए इस मुद्दे को लगातार हवा दी रिपब्लिक टीवी ने। कंगना रनौत का साथ दिया सुशांत सिंह राजपूत की एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे ने। कंगना ने साफ किया कि मुंबई पुलिस इस केस में उन लोगों को पूछताछ के लिए बुला ही नहीं रही जो वाकई कुछ जानते हैं।

    वॉल ऑफ शेम का बनी हिस्सा

    वॉल ऑफ शेम का बनी हिस्सा

    इसके बाद मुंबई के एक आर्टिस्ट ने कंगना रनौत को अपने प्रोजेक्ट Wall Of Shame का हिस्सा बनाया। इस प्रोजेक्ट के तहत इस आर्टिस्ट ने मुंबई की सड़कों पर ऐसे नाम पेंट किए जो भारत के लिए एक शर्मिंदगी से ज़्यादा कुछ नहीं है। इस आर्टिस्ट का कहना था कि ऐसे नामों को लोगों को लगातार अपने कदमों तले रौंदना चाहिए।

    मुंबई पुलिस कमिश्नर की गलती

    मुंबई पुलिस कमिश्नर की गलती

    सोशल मीडिया पर इस आर्टिस्ट की Wall of Shame पर कमेंट करते हुए एक ट्विटर यूज़र ने कहा कि केवल नाम नहीं इन लोगों के चेहरे पर सड़कों पर पेंट होने चाहिए जिस पर लोग रोज़ अपने पैरों से चल सकें। इन लोगों के साथ ऐसा ही बर्ताव होना चाहिए। इस ट्वीट को मुंबई पुलिस कमिश्नर ने पसंद किया।

    मुंबई पर उठाया सवाल

    मुंबई पर उठाया सवाल

    ट्वीट पर कमिश्नर का लाईक आने के बाद कंगना रनौत ने सवाल खड़ा किया कि क्या वो मुंबई में सुरक्षित भी हैं? क्योंकि मुंबई पुलिस की उनके प्रति मानसकिता देखते हुए वो यहां खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करती हैं। इसके अलावा कंगना ने मुंबई की PoK से कर डाली।

    भड़क गए मुंबईकर

    भड़क गए मुंबईकर

    बस जैसे ही कंगना रनौत ने मुंबई की तुलना PoK यानि कि पाकिस्तान के साथ की, लोगों का गुस्सा भड़क गया। बॉलीवुड ने भी कंगना के खिलाफ आवाज़ उठाई। हर कोई उनकी बात से पूरी तरह से असहमत था।

    शिवसेना ने दिया जवाब

    शिवसेना ने दिया जवाब

    इसके बाद शिवसेना के नेता संजय राउत ने कंगना रनौत को ह****र कहा जिसके बाद कंगना का गुस्सा फूट गया। गृ़हमंत्री अनिल देशमुख ने भी सलाह दी कि अगर कंगना खुद को इतना असुरक्षित महसूस करती हैं तो फिर उन्हें मुंबई छोड़ देना चाहिए।

    दी थी खुली चेतावनी

    इसके बाद कंगना ने खुली चेतावनी दी थी कि मुंबई किसी के बाप का नहीं है। वो 9 सितंबर को मुंबई आ रही है और जिसे जो उखाड़ना है, उखाड़ ले।आगे की कहानी तो आपको और हमको दोनों को ही पता है।

    English summary
    Kangana Ranaut pledges to work from her dilapidated office which BMC bulldozed alleging illegal construction. Kangana says she cant afford a new office.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X