»   » #Final: मुझे सलमान के अलावा फिल्म में एक और सुपरस्टार चाहिए था!

#Final: मुझे सलमान के अलावा फिल्म में एक और सुपरस्टार चाहिए था!

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

सलमान खान स्टारर ट्यूबलाइट ईद पर धमाका करने को तैयार है लेकिन फिल्म का सबसे दिलचस्प पहलू है 15 साल बाद शाहरूख और सलमान खान का साथ आना। हाल ही में कबीर खान ने एक बार फिर इस बारे में बात की और शाहरूख का रोल थोड़ा और क्लियर किया।

कबीर खान ने कहा कि जो किरदार था वो चीख चीख कर कह रहा था कि फिल्म में एक सुपरस्टार चाहिए। और ऐसे में शाहरूख खान छोड़कर और कोई इस रोल को नहीं निभा सकता था।
 

kabir-khan-talks-about-shahrukh-khan-s-cameo-tubelight

ऐसा नहीं था कि किसी सुपरस्टार को कैमियो करना था इसलिए मैंने शाहरूख को लिया। बल्कि वो रोल चीख चीख कर कह रहा था कि उसे कोई सुपरस्टार ही शिद्दत से निभा सकता है। और इसलिए मैंने शाहरूख खान को कन्विन्स किया।

हालांकि कबीर खान ने रोल के बारे में ज़्यादा बात ना करते हुए कहा कि मैं चाहता हूं कि आप फिल्म देखकर खुद कहें कि वाकई ये रोल केवल शाहरूख खान का था। इससे ज़्यादा बात नहीं करूंगा वरना फिल्म का मज़ा चला जाएगा।

वैसे सलमान खान की ट्यूबलाइट की कहानी लगभग लीक हो चुकी है जो अंग्रेज़ी फिल्म द लिटिल बॉय से प्रेरित है। जानिए ट्यूबलाइट की कहानी -

एक खास इंसान, दिमाग से थोड़ा कमज़ोर

एक खास इंसान, दिमाग से थोड़ा कमज़ोर

सलमान खान लिटिल बॉय के लीड किरदार की तरह एक खास तरह के बच्चे हैं, जिनका दिमाग बड़ा नहीं हो पाया है। वो भोले और मासूम हैं। वो पूरे मोहल्ले के फेवरिट बच्चों की तरह!

भाई के साथ गुज़रते हैं दिन

भाई के साथ गुज़रते हैं दिन

सलमान खान के किरदार का नाम है लक्ष्मण जिसकी देख रेख करता है उनका भाई। बड़ा या छोटा फिलहाल नहीं पता। लेकिन दोनों एक दूसरे के लिए सबकुछ हैं और एक दूसरे पर जान छिड़कते हैं।

1964 का युद्ध

1964 का युद्ध

लेकिन इस खुशी के बीच छिड़ता है भारत और चीन के बीच एक युद्ध। दोनों तरफ लाशें बिछती हैं औऱ दोनों ओर से सैनिक अपने परिवारों को छोड़कर युद्ध पर चले जाते हैं।

भाई के जाने का दुख

भाई के जाने का दुख

सलमान खान अपने भाई को जाने देना नहीं चाहते लेकिन हर सैनिक को देश के प्रति अपना कर्तव्य निभाना होता है और सोहेल खान चले जाते हैं, भारत - चीन के युद्ध पर, बॉर्डर पर लड़ाई करने।

भाई की याद में

भाई की याद में

सलमान खान को भाई के जाने के बाद उसकी बहुत याद सताने लगती है और जब वो काफी समय बाद भी वापस नहीं आता तो वो अपने भाई से मिलने के तरीके ढूंढने की कोशिश करते हैं।

मिलता है जादूगर

मिलता है जादूगर

यहां सलमान को मिलता है एक जादूगर (शाहरूख खान) जो सलमान को अपने भाई तक पहुंचने का रास्ता बताता है।

कौन करेगा ये काम

कौन करेगा ये काम

सलमान एक छोटे से कस्बे से हैं और जब सैनिकों की नई भर्ती के बारे में पूछा जाता है तो सलमान खान जादूगर के बताए हुए रास्ते पर चलने के लिए और भाई से मिलने के लिए, सैनिक बनने की कोशिश करते हैं।

चल देते हैं ढूंढने

चल देते हैं ढूंढने

सलमान खान भाई को ढूंढने चल पड़ते हैं। हालांकि भारत - चीन के बीच इस दौरान तनाव काफी बढ़ जाता है। औऱ सलमान को उनकी मंज़िल तक पहुंचने से पहले, कुछ और साथी मिलते हैं।

इंटरवल के बाद क्या!

इंटरवल के बाद क्या!

अब ये तो थी इंटरवल की कहानी। इंटरवल के बाद, कहानी यही होगी, कि सलमान चीन कैसे पहुंचते हैं, इन चीनी लोगों से कैसे मिलते हैं, उनकी मदद से अपना भाई कैसे ढूंढते हैं और सलमान का नन्हा साथी इन सबके बीच क्या करता है!

हो जाइए तैयार

हो जाइए तैयार

तो ये है ट्यूबलाइट की धमाकेदार कहानी। इन सबको कबीर खान ने अपने अंदाज़ में कैसे गढ़ा है, ये देखना दिलचस्प होगा। अब बस इंतज़ार करिए जून में ईद आने का!

English summary
Kabir Khan talks about Shahrukh Khan's cameo in Tubelight and why it is important.
Please Wait while comments are loading...