For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    कबीर बेदी का सालों बाद खुलासा- मैं परवीन बाबी के साथ हर रात रहना चाहता था, उसे दिखती थीं आत्माएं

    By Filmibeat Desk
    |

    बॅालीवुड एक्टर कबीर बेदी ने अपनी ऑटोबायोग्राफी में अपनी निजी जिंदगी को लेकर खुलासा किया है। कबीर बेदी ने अपनी टूटी हुई शादी और साथ ही लोकप्रिय एक्ट्रेस परवीन बाबी के साथ रिलेशनशिप को लेकर राज खोला है।

    स्टोरीज आए मस्ट टेल में कबीर बेदी ने प्रतिमा बेदी से अपनी पहली शादी और परवीन बाबी के साथ अपने रिश्ते के बारे में खुलकर बात की है। कबीर बेदी ने लिखा है कि हमारी ओपन मैरिज शुरू शुरू में एक अच्छा आइडिया लगा, मगर बाद में मुझे इससे बेचैनी होने लगी थी। मैं अकेला महसूस कर रहा था और परवीन बाबी ने मेरा अकेलापन भर दिया।

    कबीर बेदी ने बताया है कि जिस प्यार की मुझे जरूरत थी, वो बिल्कुल नहीं था। मैं खुद को अकेला महसूस करता था। इस खालीपन को वक्त के साथ परवीन बाबी ने भर दिया। तब मैं परवीन को केवल डैनी डेंजोंग्पा की गर्लफ्रेंड के तौर पर जानता था।

    परवीन खुलेआम डैनी के साथ रहती थीं

    परवीन खुलेआम डैनी के साथ रहती थीं

    डेनी मुझसे 2 साल छोटा और परवीन से एक साल बड़ा था। कुछ समय में डैनी बॅालीवुड का सफल विलेन बन गया था। वो फिल्मफेयर पुरस्कार के लिए नॅामिनेट हुए। परवीन भी सफल हो रही थीं। दोनों 4 साल साथ रहें। परवीन खुलेआम डैनी के साथ रहती थीं।

    फिर मुझे परवीन से प्यार हो गया

    फिर मुझे परवीन से प्यार हो गया

    परवीन को लोग सिगरेट पीने वाली मॅार्डन समझते हों, मगर वो इसके विपरीत थीं और कंजर्वेटिव थीं। जब जुहू का गैंग ओशो की शरण में जाकर फ्री सेक्स किए जाने की बात करता था तो परवीन इसके उलट सेक्स में वफादारी चाहती थीं। यही मुझे उस वक्त चाहिए था, जिसके कारण मुझे परवीन से प्यार हो गया।

    मैं रात को परवीन के पास जा रहा हूं

    मैं रात को परवीन के पास जा रहा हूं

    अपनी पत्नी प्रतीमा बेदी के लिए कबीर बेदी ने लिखा है कि जब घर पर प्रतिमा पहुंची तो मैंने उन्हें बताया कि मैं रात में परवीन के पास जा रहा हूं। उन्होंने कहा कि वह अभी आई हैं तो रात को मैं उनके साथ रुकूं।

    हमारी शादी खत्म हो गई

    हमारी शादी खत्म हो गई

    मैंने प्रतिमा को मना कर दिया और कहा कि आज रात नहीं बल्कि हर रात परवीन के साथ रहना चाहता हूं। इसके बाद प्रतिमा रोने लगीं और हमारी ओपन मैरिज खत्म हो गई।

    परवीन को रूहें दिखाई देती थी

    परवीन को रूहें दिखाई देती थी

    कबीर बेदी ने ये भी लिखा है कि बचपन में परवीन को मुगल स्मारकों के पास रूहें दिखाई देती थीं। वह बचपन में परिवार से अलग हो गई थीं। असुरक्षा की भावना उन्हें जिंदगीभर रही।

    परवीन का खानदानी रोग

    परवीन का खानदानी रोग

    मेरे दोस्त महेश भट्ट ने बताया था कि परवीन की मां ने उन्हें बताया था कि परवीन के पिता भी मानसिक रोग के शिकार थे। महेश भट्ट ने कहा था कि परवीन का यह रोग खानदानी है।

    परवीन की बीमारी के लिए मुझे जिम्मेदार ठहराया

    परवीन की बीमारी के लिए मुझे जिम्मेदार ठहराया

    परवीन बाबी की बीमारी के लिए मुझे जिम्मेदार ठहराया गया कि मैंने उन्हें छोड़ दिया। जबकि सच्चाई ये है कि परवीन ने ही मुझे छोड़ दिया और जब मैं उनकी मदद करना चाहता था तो उन्होंने इससे इनकार कर दिया।

    English summary
    Kabir Bedi autobiography reveals about his relationship with parveen babi,here read all the details
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X