For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    ''अब फिल्में सिर्फ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन के लिए बनाई जाती हैं....''

    By Neeti
    |

    जी हां, यह कहना है जया बच्चन का। एक इवेंट के दौरान जया बच्चन के साफ साफ कहा कि अब बॉलीवुड फिल्में सिर्फ और सिर्फ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन के लिए बनाई जाती है। किस फिल्म ने 100 करोड़ कमाया.. वीकेंड कलेक्शन कितना गया.. ये कलेक्शन.. वो कलेक्शन.. ये सब मुझे बेकार लगता है।

    इतना ही नही्, बल्कि जया बच्चन ने पुराने समय और आज के समय के निर्देशकों को लेकर कई बातें सामने रखी। हालांकि कुछ टिप्पणी हो सकता है, आज के निर्देशकों को उतनी पसंद ना आए।

    जया बच्चन ने कहा, उस वक्त फिल्ममेकर्स के लिए सिनेमा एक आर्ट था। आज यह सिर्फ एक बिजनेस है, पूरा खेल ही नंबर्स का है। खुलेआम सीन्स दिखाना अब स्मार्ट माना जाता है। शर्म नाम की तो चीज ही नहीं है।

    jaya bachchan

    अब फिल्मों के लिए बस बॉक्स ऑफिस कलेक्शन की मायने रखता है। करोड़ फिल्म, फर्स्ट वीकेंड कलेक्शन.. यह सब मुझे परेशान करता है।

    बता दें, जया बच्चन अपने ज़माने की सुपरहिट एक्ट्रेस रह चुकी हैं। उन्होंने गुड्डी, अभिमान, सिलसिला जैसी सदाबहार फिल्में की हैं।

    बॉलीवुड फिल्मों पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि आज की फिल्में पश्चिमी सभ्यता से बहुत ज्यादा प्रेरित दिखती हैं। उन्होंने कहा कि काफी कम फिल्में हैं जो आज असल भारत को दिखाती हैं।

    लेकिन फिर भी अलीगढ़ और मसान जैसी फिल्में हैं, जो फिल्मों में आज भी भारत को जिंदा किए हुए हैं। इन फिल्मों में हमें रियल भारत और भारत की परेशानियां दिखी हैं।

    वहीं, उसी इवेंट में मौजूद मशहूर स्क्रीनराइटर और एडिटर अपूर्व असरानी ने कहा कि फिल्मकारों के साथ साथ यह दर्शकों की भी जिम्मेदारी बनती है कि वे अच्छी फिल्में देंखे। हाल ही में मराठी फिल्म 'कोर्ट' को काफी वाहवाही मिली, लेकिन दर्शकों के मामले में फिल्म ठंडी रह गई।

    English summary
    Jaya Bachchan just take a dig at the current generation of film makers in Jio MAMI.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X