For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    लॉकडाउन से जाह्नवी कपूर ने ली सीख, कहा- अभी भी मां की खुशबू का होता है एहसास- इमोशनल पोस्ट

    |

    धड़क गर्ल जाह्नवी कपूर ने इंस्टाग्राम पर लंबा पोस्ट साझा किया। इस पोस्ट में जाह्नवी कपूर ने बताया कि कैसे हमें इस कोरोना वायरस लॉकडाउन से सीख लेनी चाहिए। उन्होंने खुद कई चीजों को इस लॉकडाउन के दौरान सीखा है। पिता के प्रेम, बहन खुशी के स्नेह और मां श्रीदेवी की खुशबू के अहसास से लेकर घर की अहमियत को समझा।

    प्रियंका चोपड़ा ने PM राहत कोष के अलावा इन संस्थानों में किया डोनेट, रकम छुपाई- लूटी वाहवाहीप्रियंका चोपड़ा ने PM राहत कोष के अलावा इन संस्थानों में किया डोनेट, रकम छुपाई- लूटी वाहवाही

    जाह्नवी कपूर ने दो तस्वीरों को साझा किया। उन्होंने फैंस को भी बताया कि हमें लॉकडाउन के दिनों को कोसना नहीं चाहिए बल्कि इनसें सीख लेने की जरूरत है। जाह्रवी कपूर का ये इमोशनल पोस्ट फैंस द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है।

    फैंस ने कमेंट्स में कहा, हम इन सभी प्वाइंट्स से सहमत हैं। वहीं कई सितारों ने भी इस पोस्ट को लाइक किया।

    सेल्फ आइसोलेशन से इन चीजों को सीखा

    सेल्फ आइसोलेशन से इन चीजों को सीखा

    जाह्नवी कपूर ने इस टाइटल से अपने पोस्ट को शुरू किया। इस टाइटल के साथ उन्होंने अपना पोस्ट साझा किया। जहां उन्होंने अपनी बहन, पिता और मां के बारे और घर से जुड़ी चीजों का जिक्र किया।

    जाह्नवी कपूर ने मां श्रीदेवी के लिए क्या लिखा

    जाह्नवी कपूर ने मां श्रीदेवी के लिए क्या लिखा

    वह लिखती हैं, मैंने सीखा कि एक दिन में कई घंटे होते हैं हम काफी कुछ कर सकते हैं। मैंने सीखा कि अभी भी मैं अपनी मां (श्रीदेवी) की खुशबू को ड्रेसिंग रुपम में अभी भी महसूस कर सकती हूं।

    बहन खुशी कपूर का जिक्र

    बहन खुशी कपूर का जिक्र

    जाह्नवी कपूर ने लिखा मुझे एहसास हुआ कि मेरी बहन खुशी कपूर दुनिया में मेरी सबसे मजाकिया वाली दोस्त और बहन है।

    मुझे फिल्में पसंद है

    मुझे फिल्में पसंद है

    मैंने सीखा कि मुझे दूसरी चीजों के बजाय मूवीज ज्यादा पसंद है। मुझे फिल्में देखना और उनके बारे में विचार करना अच्छा लगता है। मुझे अपनी जिंदगी पसंद है।

     पिता उनका इंतजार करते हैं

    पिता उनका इंतजार करते हैं

    पिता बोनी कपूर को लेकर जाह्नवी कपूर ने लिखा कि मुझे इन दिनों में ये भी पता चला कि कैसे पापा हमेशा उनका इंतजार करते हैं। हमें घर के बारे में कई चीजों को लेकर सीखने व समझने की जरूरत है।

    मेरे घर को मेरी जरूरत

    मेरे घर को मेरी जरूरत

    मुझे लॉकडाउन में ये भी अहसास हुआ कि मेरे घर को मेरी जरुरत है। मैंने सीखा कि कैसे अपने लोगों के लिए हमें जिम्मेदार होना पड़ता है। परिवार में हर शख्स का घर में होना बहुत जरूरी होता है। हर किसी की सेहत एक दूसरे से जुड़ी होती है।

    English summary
    Janhvi Kapoor pens emotional note for mom sridevi and learn so many things in lockdown
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X