For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    कैंसर से जूझ रहे इरफान खान ने लिखा इमोशनल खत, पढ़कर रो पड़ेंगे आप

    |
    Irrfan Khan OPENS UP with EMOTIONAL letter on battling cancer ! | FilmiBeat

    बॉलीवुड के सबसे शानदार अभिनेताओं में से एक इरफान खान इन दिनों भारत और बॉलीवुड से दूर लंदन में गंभीर बीमार से जंग कर रहे हैं। ये जंग भी उन्हें उनके काम और फैंस से दूर नहीं रख पा रही है। हाल ही में उन्होंने अपनी आने वाली फिल्म कारवां को लेकर एक अंग्रेजी अखबार को इंटरव्यू दिया। फिल्म के प्रमोशनल इंटरव्यू के दौरान उन्हें एक बेहद इमोशनल पत्र साझा किया है। जिसे पढ़कर हर कोई इमोशनल हो गया। ये पत्र उनके ऊपर गुजर रहे हर वाकये को बखूबी दर्शाता है। इस भावुक खत में उन्होंने अपने मन की पूरी दशा व्यक्त कर दी है।

    इरफान ने ट्विटर पर बताया कि वो न्यूरोएंडोक्राइन नाम की एक दुर्लभ बीमारी से पीड़ित हैं। जिसके बाद वे लंदन में इसका इलाज करवाने के लिए निकल गए। उन्होंने अपने फैंस को सोसल मीडिया के जरिए खुद से जुड़ी हर खबर से जागरूक रखा। उनके फैंस ने ही लाखों-करोड़ों खत और उनके जल्द ठीक होने की ढ़ेरों दुआएं भेजीं। हाल ही में उनका एक खत सोशल मीडिया पर फिर से वायरल हो रहा है। आगे पढ़ें उनका इमोशनल खत-

    'कुछ महीने पहले अचानक मुझे पता चला कि मैं न्यूरोएन्डोक्राइन कैंसर से ग्रस्त हूं। यह शब्द मैंने पहली बार सुना था। जब मैंने इसके बारे में सर्च की तो पाया कि इस पर ज्यादा शोध नहीं हुए हैं। इसके बारे में ज्यादा जानकारी भी मौजूद नहीं थी। ''यह एक दुर्लभ शारीरिक अवस्था का नाम है और इस वजह से इसके उपचार की अनिश्चितता ज्यादा है।'

    'अभी तक मैं तेज रफ्तार वाली ट्रेन में सफर कर रहा था। मेरे कुछ सपने थे, कुछ योजनाएं थीं, कुछ इच्छाएं थीं, कोई लक्ष्य था.. फिर किसी ने मुझे हिलाकर जगा दिया, मैंने पीछे मुड़कर देखा तो वो टीसी था। उसने कहा आपका स्टेशन आ गया है। कृप्या नीचे उतर जाइए- मैं कंफ्यूज था.. मैंने कहा- नहीं नहीं अभी मेरा स्टेशन नहीं आया। उसने कहा- नहीं आपको अगले किसी भी स्टॉप पर उतरना होगा। 'इस डर और दर्द के बीच मैं अपने बेटे से कहता हूं, 'मैं किसी भी हालत में ठीक होना चाहता हूं। मुझे अपने पैरों पर वापस खड़े होना है। मुझे ये डर और दर्द नहीं चाहिए।'

    'कुछ हफ्तों के बाद मैं एक अस्पताल में भर्ती हो गया। बेइंतहा दर्द हो रहा है.. 'मैं जिस अस्पताल में भर्ती हूं, उसमें बालकनी भी है.. बाहर का नजारा दिखता है। कोमा वार्ड ठीक मेरे ऊपर है। सड़क की एक तरफ मेरा अस्पताल है और दूसरी तरफ लॉर्ड्स स्टेडियम है... इस दर्द के बीच मैंने वहां विवियन रिचर्ड्स का मुस्कुराता पोस्टर देखा। मुझे ऐसा लगा कि ये दुनिया मेरी कभी थी ही नहीं। अब उस ओर देखकर ऐसा लगता है कि जिंदगी और मौत के बीच एक लंबी रोड है.. बस ये रोड।

    इरफान ने अपने पत्र के साथ एक फोटो भी शेयर की है। उन्होंने आगे अपने फैंस के लिए कहा कि 'इस सफर में सारी दुनिया के लोग... सभी मेरे सेहतमंद होने की दुआ कर रहे हैं, ये सब दुआएं मिलकर एक हो गई हैं और असर दिखना शुरू हो गया है।'

    English summary
    Irrfan Khan wrote emotional letter detailing his battle with cancer.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X