For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    इरफान खान के आखिरी पल को याद कर पत्नी सुतापा का भावुक पोस्ट- 363 दिन, 8,712 घंटे हर सेकंड की गिनती

    |

    एक साल हो गए, उस महान कलाकार को इस दुनिया से गए हुए। हम बात कर रहे हैं इरफान खान की। इरफान खान की आज पहली पुण्यतिथि है। इरफान खान ने 29 अप्रैल 2020 को 53 साल की उम्र में दुनिया से अलविदा कह दिया था। वह न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर की बीमारी से पीड़ित थे।

    इरफान की बीमारी के बारे में उनके सभी फैंस को जानकारी थी। लेकिन ऐसा मालूम होता था कि सब वक्त के साथ ठीक हो रहा है। इरफान के निधन की खबर ने उनके सभी फैंस का दिल तोड़ दिया।इरफान के परिवार के लिए भी ये गहरा सदमा ही था। जो कि बीते एक साल में लगातार हर समय उनकी पत्नी सुतापा सिकदर और बेटे बाबिल के इंस्टाग्राम पोस्ट से जाहिर होता रहा है।

    आज उनके निधन वाले दिन भी पत्नी सुतापा सिकदर ने एक खास नोट लिखकर उस दिन को याद किया जब इरफान उनके साथ आखिरी बार थे। अस्पताल में। जहां उनके जाने का समय करीब आ चुका था।

    पिछले साल मैं तुम्हारे लिए गाना गा रही थी

    पिछले साल मैं तुम्हारे लिए गाना गा रही थी

    अपने फेसबुक अकाउंट पर सुतापा सिकदर ने लिखा है कि पिछले साल रात को मैं और मेरे दोस्त तुम्हारे लिए गाना गा रहे थे। सभी तुम्हारे पसंदीदा गाने।

    नाजुक हालात में वह धार्मिक मंत्रों की आदि

    नाजुक हालात में वह धार्मिक मंत्रों की आदि

    नर्सेस हमें आश्चर्य से देख रही थीं कि वो नाजुक हालात में वह धार्मिक मंत्रों की आदि थीं। दो साल तक मैंने इरफान के लिए सबकुछ किया। सुबह, शाम और रात।

    अगले दिन छोड़कर आप अगली यात्रा पर निकल गए

    अगले दिन छोड़कर आप अगली यात्रा पर निकल गए

    उन्होंने मुझे बताया था कि वह अपने प्यारे लोगों की यादों के साथ जाना चाहते थे। इसलिए हम गा रहे थे। अगले दिन आप छोड़कर अगली यात्रा पर निकल गए।

    घड़ी थम गई थी

    घड़ी थम गई थी

    मुझे उम्मीद है कि आप जानते हैं कि मेरे बिना कहां जाना है। 363 दिन 8,712 घंटे हर सेकेंड की गिनती है। समय के इस विशाल सागर को कोई कैसे तैरता है। घड़ी थम गई थी।

    आपके आखिरी वक्त में तीन बार 11

    आपके आखिरी वक्त में तीन बार 11

    सुतापा ने आगे लिखा कि 11:11 बजे। 29 अप्रैल इरफान आपको संख्या के रहस्य में रुचि थी और मजेदार बात ये है कि आपके आखिरी वक्त में तीन बार 11 था।

    महामारी के समय

    महामारी के समय

    कुछ लोग कहते हैं कि 11/11/11 यह एक रहस्यमय संख्या है। महामारी के वक्त के साथ यह चिंता, भय और दर्द को भी जोड़ता जाता है।

    सुतापा ने किया इरफान के साथ पुराने दिनों को याद

    सुतापा ने किया इरफान के साथ पुराने दिनों को याद

    सुतापा ने इरफान के साथ एनएसडी की यादों को भी शेयर किया है। और लिखा है कि जीवनकाल के लिए एक दूसरे को सुधारने की लंबी यात्रा रही है।

    यहां देखिए पूरा पोस्ट

    English summary
    Irrfan Khan death Anniversary wife Sutapa Sikdar pens down and emotional note,here read in details
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X