For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Exclusive: हनी पर मुकदमा लोगों की जागरूकता का परिणाम

    |

    आज चारों ओर चर्चा गायक हनी सिंह पर केस की हो रही है। उनके ऊपर मुकदमा किया गया है वजह है उनके द्वारा अश्लील गानों को आवाज देना जिसके कारण उनके खिलाफ लखनऊ में एफआईआर दर्ज की गयी है। उन पर केस दर्ज खुद लखनऊ के वरिष्ठ आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने गोमतीनगर थाने में कराया है। गायक हनी सिंह के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा (आईपीसी) 292, 293 और 294 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

    इस बारे में जब वनइंडिया के पाठकों को जानकारी हुई तो वो खुशी से फूले नहीं समाये उनका कहना था कि यह सब कुछ जनता की जागरूकता का नतीजा है। जनता ने ही ऑनलाइन शिकायत दर्ज करायी है जिसके कारण हनी पर मुकदमा हुआ है। अगर वाकई में जनता जनार्दन कमर कस ले तो अपराधियों की नकेल कसना आसान हो जायेगा। दिल्ली गैंगरेप के बाद जो चिंगारी लोगों के दिल में भड़की हुई है उसे बूझनी नहीं चाहिए।

    हनी सिंह जैसे और भी लोगों पर मुकदमे होने चाहिए क्योंकि इन जैसों ने ही समाज में अश्लीलता बेचकर उसे दूषित करने में मदद की है। अश्लील गीतों, अश्लील साहित्य पर तत्काल प्रभाव से रोक लगनी चाहिए। ताकि समाज में अपराध का कुछ तो ग्राफ नीचे गिरे।

    आपको बता दें कि इससे पहले लखनऊ के आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने मीडिया को बताया था कि हनी सिंह के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत की गयी थी इसलिए हमें एक्शन लेना पड़ा। यही नहीं उन्होंने कहा कि वाकई में हनी सिंह ने अश्लीलता और भद्देपन की सभी सीमाएं लांघने वाले गाने 'मैं हूं बलात्कारी' और 'केंदे पेचायिया' गाने लिखे और गाये हैं जो कि समाज में गलत चीजों को प्रसारित करते हैं। ये गाने अत्यंत अश्लील, उत्तेजक और अभद्र होने के कारण भारतीय दंड विधान की विभिन्न धाराओं के तहत अपराध की श्रेणी में आते हैं ।
    English summary
    Honey Singh case is a good Example of People Awareness Said Oneindia Readers.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X