»   » 'गुलाब गैंग' को 'गुलाबी गैंग' ने दिखाया बांस का डंडा, मुश्किल में रिलीज

'गुलाब गैंग' को 'गुलाबी गैंग' ने दिखाया बांस का डंडा, मुश्किल में रिलीज

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

चारों ओर इस समय माधुरी दीक्षित और जूही चावला की आने वाली फिल्म 'गुलाबी गैंग' की चर्चा है। फिल्म का प्रमोशन जबरदस्त ढंग से किया जा रहा है तो वहीं अब फिल्म 'गुलाबी गैंग' की रिलीज पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। खबर है कि बुंदेलखंड (बांदा) के गुलाबी गैंग और कमांडर संपत पाल ने दावा किया है कि सौमिक सेन की फिल्म 'गुलाब गैंग' उन्हीं के संगठन की कहानी है जो कि उनकी परमिशन की वजह से बनायी गयी है इसलिेए वह 'गुलाब गैंग' की रिलीज का विरोध करती हैं और किसी भी सूरत में उसे रिलीज नहीं होने देंगी।

उन्होंने फिल्म के प्रदर्शन को रोकने के लिए अदालत का भी सहारा लिया है लेकिन उनकी हर कोशिश और दावों को निर्देशक सौमिक सेन ने झूठा साबित कर दिया है। निर्माता-निर्देशक कहते हैं कि हमारी फिल्म का गुलाबी गैंग से कोई संबंध नहीं है।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर 7 मार्च को फिल्म प्रदर्शित होने वाली है। इस पृष्ठ भूमि पर 'गुलाबी गैंग' जनसंगठन के राष्ट्रीय संयोजक एवं सहसंस्थापक जयप्रकाश शिवहरे उर्फ बाबूजी का कहना है कि मुंबई के वकील एस.सी. पाल के नोटिस के जवाब में निर्माता, निर्देशक ने विस्तृत उत्तर देने की भ्रामक बातें कहकर जिम्मेदारी से बचने का प्रयास किया है और आज तक संपर्क नहीं किया।

आगे की खबर स्लाइडों में..

'गुलाब गैंग' को रिलीज नहीं होने देंगे: संपत पाल

'गुलाब गैंग' को रिलीज नहीं होने देंगे: संपत पाल

गुलाब गैंग के प्रदर्शन पर कमांडर संपत पाल ने अपना अधिकृत ऐतराज जता दिया है, प्रशासनिक स्तर पर भी रोक लगाने की तैयारी कर ली गई है।उधर, यदि इतने पर भी बात नहीं बनती है तो संगठन रैली, धरना प्रदर्शन, अनशन की कार्रवाई करेगा। पहले रिपोर्ट से, फिर कोर्ट से उसके बाद भी नहीं माने तो बांस कोर्ट (बांस का डंडा जो गुलाबी गैंग का निशान है इसको लेकर गुलाबी गैंग की महिलाएं चलती हैं) से मनवाया जाएगा।

'गुलाबी गैंग' से 'गुलाब गैंग' का कोई संबंध नहीं

'गुलाबी गैंग' से 'गुलाब गैंग' का कोई संबंध नहीं

फिल्म के निर्देशक सौमिक सेन का कहना है कि 'गुलाबी गैंग' से मेरी फिल्म 'गुलाब गैंग' का कोई संबंध नहीं है। हालांकि वह 'गुलाबी गैंग' कमांडर की तारीफ तो करते हैं। कहते हैं कि सम्पत पाल बहुत अच्छा काम कर रही हैं उनके गैंग का काम मुख्य रूप से बद्तमीज पतियों को रास्ते पर लाना है जब कि उनकी फिल्म में बालिकाओं की शिक्षा एक बड़ा मुद्दा है उनको आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश है ताकि वे इस दुनिया में स्वयं की मेहनत के दम पर जी सकें।

नाम 'गुलाबी गैंग' ही क्यों?

नाम 'गुलाबी गैंग' ही क्यों?

संपत पाल ने सौमिक सेन को झूठा कहते हुए कहा है कि यदि ऐसा है तब उन्होंने अपनी फिल्म का शीर्षक 'पिंक इज रेड' या 'लाल गैंग' क्यों नही रख लिया? उन्हें गुलाब गैंग रखने का विचार कहां से आया? वास्तव में यह बुंदेलखंड (बांदा) के गुलाबी गैंग से ही प्रभावित होकर रखा गया है।

गुलाब गैंग और गुलाबी गैंग आमने-सामने

गुलाब गैंग और गुलाबी गैंग आमने-सामने

संपत पाल को गुलाबी गैंग की कहानी पर गुलाब गैंग फिल्म बनने की सर्वप्रथम जानकारी अप्रैल 2012 में हुई। जैसे ही उन्हें जानकारी हुई तो उन्होंने कहा कि बिना अनुमति यदि उनके जीवन पर फिल्म बनायी तो वह अदालत जाएंगी। "यदि किसी को फिल्म बनानी है तो पहले मुझसे अनुमति ले लें फिल्म की स्क्रिप्ट दिखाएं, तब फिल्म निर्माण करें।"

निर्माता अनुभव सिन्हा ने उसी समय दावा किया कि उनकी फिल्म उत्तर प्रदेश के किसी संगठन या महिला के जीवन से प्रेरित नहीं है। ये विवादास्पद बाते दोनों ओर से आई और हो गई, किंतु इनका कोई निराकरण नहीं हुआ।

कैसे रिलीज होगी 'गुलाब गैंग'?

कैसे रिलीज होगी 'गुलाब गैंग'?

मामला बड़ा ही रोचक बनता जा रहा है। दोनों तरफ से अपनी-अपनी तैयारियां हैं। गुलाब गैंग के निर्माता निर्देशक ने फिल्म का प्रचार प्रारंभ कर दिया है। इधर गुलाबी गैंग जनसंगठन की कमांडर संपत पाल, राष्ट्रीय संयोजक जयप्रकाश शिवहरे सहित अन्य पदाधिकारी प्रदर्शन रुकवाने के लिए कमर कस चुके हैं। फिल्म 7 मार्च को रिलीज हो रही है देखते हैं फिल्म रिलीज हो भी पाती है या नहीं?

English summary
Exactly four days before Gulaab Gang in trouble,Sampat Pal best known as the leader of Gulaabi Gang is unhappy with this starry film. Pal has filed a case against the film with the Delhi High Court.
Please Wait while comments are loading...