»   » इन फ़िल्मों के दोनों हिन्दी रीमेक फ्लॉप रहे
BBC Hindi

इन फ़िल्मों के दोनों हिन्दी रीमेक फ्लॉप रहे

By: सुमिरन प्रीत कौर - बीबीसी संवाददाता
Subscribe to Filmibeat Hindi
इट हैपेन्ड वन नाइट
frank capra
इट हैपेन्ड वन नाइट

आजकल गानों के रीमेक होते हैं और फिर उनके रीमिक्स. जिस तरह फ़ैशन में कुछ चीज़ें वापस आती हैं उसी तरह फ़िल्मों के भी रीमेक होते हैं और रीमेक के भी रीमेक होते हैं. कुछ ऐसी ही फ़िल्मों पर एक नज़र.

1) फ़िल्म 'स्लीपिंग विद द एनिमी' की कहानी है कि जूलिया रॉबर्ट्स का किरदार अपने पति के अत्याचार से डर कर भाग जाती है.

जब वो एक नई ज़िंदगी की शुरुआत करने लगती है तो उसका पति वापस आता है और फिर से उसे तंग करता है. इस फ़िल्म की कहानी पर पहले आई माधुरी दीक्षित की फ़िल्म 1995 की 'याराना' और फिर आई जूही चावला की 1996 की फ़िल्म 'दरार'. 'याराना' और 'दरार', दोनों फ़िल्में फ्लॉप हुईं.

स्लीपिंग विद द एनिमी
Leonard Goldberg
स्लीपिंग विद द एनिमी

2) ऑड्री हेपबर्न और ग्रेगरी पेक की 1953 की 'रोमन हॉलिडे' और 1934 की 'इट हैपन्ड वन नाइट' की कहानी से मिलती जुलती कहानी है राज कपूर और नरगिस की फ़िल्म 'चोरी चोरी' की कहानी.

इस कहानी को बड़े पर्दे पर दोहराया गया और फ़िल्म का नाम था 'दिल है कि मानता नहीं' जो आई 1991 में. इस फ़िल्म में नज़र आए आमिर ख़ान और पूजा भट्ट.

दिल है कि मानता नहीं
T series
दिल है कि मानता नहीं

3) ख़ज़ाने की खोज की कहानी है ग्रेगरी पेक की 'मैकेनाज़ गोल्ड' जो आई 1969 में . इस कहानी से प्रेरित बहुत सी फ़िल्में बनीं.

भारत में इसपर पहले आई 1988 की धर्मेन्द्र और शत्रुघ्न सिन्हा की 'ज़लज़ला'. फिर 1992 में जूही चावला और आमिर खान की फ़िल्म 'दौलत की जंग'. दोनो फ़िल्में फ्लॉप हुईं.

दौलत की जंग
JALIL AHMED
दौलत की जंग

4) ऋषि कपूर की फ़िल्म 'कर्ज़' में मुख्य किरदार अपने खून का बदला लेने के लिए दूसरा जनम लेता है.

इसकी कहानी एक अँग्रेज़ी फ़िल्म 'रीइन्कारनेशन ऑफ पीटर प्राउड' की कहानी से मिलती जुलती कहानी है. थोड़ा फ़र्क ये है कि इंग्लिश फ़िल्म में मुख्य किरदार का वही हश्र होता है जो पहले जनम में हुआ लेकिन ऋषि कपूर का किरदार अपना बदला ले लेता है .

ऋषि कपूर की फ़िल्म 'कर्ज़' तो हिट हुई पर 2008 की हिमेश रेशमिया और उर्मिला मातोंडकर की 'कर्ज़' फ्लॉप हुई.

partner
Sohail Khan
partner

5) अमोल पालेकर की फ़िल्म 'छोटी सी बात' आधारित है 1960 की अँग्रेज़ी फ़िल्म 'स्कूल फॉर स्काउंड्रल्स' पर. फ़िल्म 'छोटी सी बात' और विल स्मिथ की 'द हिच' की कहानी भी कहीं ना कहीं एक जैसी है.

गोविंदा और सलमान की 2007 की फ़िल्म 'पार्ट्नर' की कहानी इन्हीं दो फ़िल्मों की कहानी जैसी है .

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

BBC Hindi
English summary
Many times Hindi remakes of hollywood movies did not work at box office
Please Wait while comments are loading...