For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    मुझे रणबीर कपूर- आलिया भट्ट से अच्छा एक्टर खोज कर दीजिए, फिर नेपोटिज्म पर बहस करेंगे

    |

    सुशांत सिंह राजपूक के सुसाइड के बाद से ही नेपोटिज्म का मामला तेजी से उछला है। इस पर अब निर्देशक आर बाल्की ने अपनी राय रखी है। उन्होंने कहा है कि नेपोटिज्म जैसा कुछ भी नहीं है। ये हर जगह है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि पहले आलिया भट्ट और रणबीर कपूर से अच्छा कलाकार वो लाकर दिखाए इसके बाद वह नेपोटिज्म पर बात करेंगे।

    हिंदुस्तान टाइम्स के बातचीत में आर बाल्की ने कहा है कि समाज के हर वर्ग में ये देखने को मिलता है। ड्राइवर हो या सब्जी वाला, वह भी अपने घर के बच्चों को अपना काम देता है। वो करते हैं। यह एक मूर्खतापूर्ण तर्क है। इसे याद रखना चाहिए कि हम एक आजाद समाज में रहते हैं। ऐसे में सवाल ये है कि स्टार किड को गलत या ज्यादा फायदा मिलता है या नहीं?

    बाल्की अपनी बात को आगे रखते हुए कहते हैं कि कोई भी समस्या पर बात नहीं कर रहा है। कुछ कलाकारों के परेशान होने पर भाई-भतीजीवाद जैसे शब्दों का इस्तेमाल करना उचित नहीं है। मुझे रणबीर कपूर और आलिया भट्ट से बेहतर कलाकार खोज कर दीजिए और हम बहस करेंगे उस पर। यह बात उन लोगों पर उचित नहीं बैठती हैं जो कि कुछ अच्छे अभिनेताओं में से हैं।

    नेपोटिज्म है और हमेशा रहेगा

    नेपोटिज्म है और हमेशा रहेगा

    ज्ञात हो कि नेपोटिज्म पर सुशांत सिंह राजपुत भी पहले बयान दे चुके थे। उन्होंने कहा था कि नेपोटिज्म है और हमेशा रहेगा। ये हर जगह है। हम इसे लेकर कुछ कर नहीं सकते हैं। लेकिन अगर आप जानबूझ कर सही प्रतिभा को सामने नहीं आने देंगे तो फिर समस्या होगी। इससे इंडस्ट्री का पूरा ढांचा ढह जाएगा।

    नेपोटिज्म का शिकार मैं भी हुआ

    नेपोटिज्म का शिकार मैं भी हुआ

    प्रकाश राज ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट परलिखा था कि नेपोटिज्म का शिकार मैं भी हुआ। मैंने भी काफी सारी ढेर सारी परेशानियां झेली है।

    स्टार किड्स के पास 10 फिल्में हैं

    स्टार किड्स के पास 10 फिल्में हैं

    हिना खान ने हाल ही मेंं कहा था किनेपोटिज्म की जो चर्चा इन दिनों हो रही है उस पर इतना ही कहना है कि जो स्टार किड्स हैं या जो इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं उन्हें विशेषाधिकार मिला है। उनके पास 10 फिल्में हैं। अगर एक फिल्म नहीं चली तो उन्हें फर्क नहीं पड़ता है।

    अभिषेक बच्चन हुए शिकार

    अभिषेक बच्चन हुए शिकार

    नेपोटिज्म बहस पर हाल ही में अभिषेक बच्चन ने कहा था किअभिषेक ने लिखा कि 1998 में मैंने कई निर्माता- निर्देशकों से काम मांगा था, लेकिन किसी ने नहीं दिया।

    कुछ लोग कठिन संघर्ष करके आते हैं

    कुछ लोग कठिन संघर्ष करके आते हैं

    सैफ अली खान ने इस पर कहा था कि कई बार सही प्रतिभावान सितारों को मौका नहीं मिलता। कुछ लोग कठिन संघर्ष करके आते हैं और कुछ आसान रास्तों से।

    आयशा टाकिया ने कहा मैंने भी झेला है

    आयशा टाकिया ने कहा मैंने भी झेला है

    आयशा टाकिया ने भी खुलासा करते हुए हाल ही में कहा कि निजी तौर पर मैंने खुद काम की जगह पर ट्रोलिंग और बुलिंग को फेस किया है। अगर आपको छोटा या बेकर महसूस करवाया गया है तो याद रखो कि आप अनमोल और खास हो।

    English summary
    Director R Balki talk about nepotism in Bollywood Said fined me a better actor than Ranbir Kapoor and Alia Bhatt, here read
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X