For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    दिलीप कुमार के लिए सायरा बानो का दर्द भरा खत- जन्मदिन मुबारक हो जान, मेरा हाथ पकड़ा, हमेशा रहेंगे

    |

    बॅालीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार का 99 वां जन्मदिन खास बनाते हुए सायरा बानो ने एक खत लिखा है। जो कि मीडिया में चर्चा में छाया हुआ है। 7 जुलाई को दुनिया से दिलीप कुमार के विदा होने के बाद शायरा बानो का दिल कई बार रो पड़ता है अपने साहब की याद में। दिलीप साहब के जन्मदिन के मौके पर शायरा बानो ने एक भावुक और दर्द भरा खत लिखा है।

    इस खत में सायरा बानो ने अपनी सारी भावनाएं समेट कर रख दी हैं। एक अखबार के साथ शेयर किए गए इस खत में सायरा बानो ने लिखा है कि मेरी जान युसूफ साहब पेशावर के एक फल व्यापारी मोहम्मद सरवर खान और आयशा बेगम के चौथे बच्चे के रूप में पैदा हुआ थे। 11 दिसंबर को उनका 99 वां जन्मदिन है।

    सभी फैंस और हम उनके जन्मदिन को शांति से मनाएंगे और यह मानेंगे भी कि वह हमारे बीच में हैं। दिलीप साहब को इस बात का गर्व था कि उनका जन्म अविभाजित भारत में हुआ। वह एक साधारण शख्स थे जो अपने परिवार के साथ रहते थे।

    सायरा बानो का खत

    सायरा बानो का खत

    सायरा बानो ने लिखा है कि वह कभी भी अपने आप को किसी भगवान की तरह नहीं मानते थे। जैसे कि उनके फैंस उन्हें कह कर संबोधित करते थे। सायरा बानो ने दिलीप साहब के देश के प्रति सम्मान को जाहिर करते हुए लिखा है कि अपने पिता के जरिए अपने बच्चों को दी गई देशभक्ति पर भी दिलीप साहब को गर्व था। इस वजह से दिलीप साहब अपनी शानदार जिंदगी के समय सभी वर्गों के लोगों के साथ पूरी तरह से सहज रहते थे।

    दिलीप साहब से मेरी शादी

    दिलीप साहब से मेरी शादी

    दिलीप कुमार से अपनी शादी के दिनों को याद कर सायरा बानो ने लिखा है कि दिलीप साहब से मेरी शादी के बाद जीवन से तालमेल मिलाने में मुझे कोई परेशानी नहीं हुई। दिलीप साहब के दोस्तों की खातिर करने में मुझे अच्छा लगता था। एक सच्चे पठान की शैली में स्वागत होता था। ईद हो या दीवाली सजावट,कैंडल लाइट्स जीवन के सभी खास मौकों पर दोस्तों और फैंस से घर भरा होता था।

    वह हमारे साथ थे, और हमेशा रहेंगे

    वह हमारे साथ थे, और हमेशा रहेंगे

    इस सालगिरह के मौके पर दिलीप साहब से मेरी बातचीत नहीं हो पाई। लेकिन मुझे पता है कि वह हमारे साथ थे, और हमेशा रहेंगे। सायरा बानो ने अपने पिछली शादी की सालगिरह को याद कर बताया कि वो हमारे साथ थे। मेरा हाथ पकड़ा और बिना शब्दों के मुझसे संवाद किया। मुझे फिर एक बार पता है कि मैं अभी भी हमेशा के लिए अकेली नहीं हूं। जन्मदिन मुबारक हो जान। गौरतलब है कि दिलीप कुमार लंबे समय से बीमार थे। मुंबई के अस्पताल में 98 साल की उम्र में उनका निधन हो गया।

    English summary
    Here read Dilip kumar 99the birth anniversary wife saira banu emotional letter viral
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X