For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Opps..सेंसर बोर्ड ने बॉलीवुड की कसी लगाम, कई निर्देशक खिलाफ!

    |

    सेंसर बोर्ड द्वारा जारी की गई मौजूदा लिस्ट को देखते हुए लगता है कि बोर्ड अपने कर्तव्य को लेकर ज्यादा ही सजग हो उठा है। जी हां, आपको बता दें, नए सेंसर बोर्ड ने अब बॉलीवुड फिल्मों पर लगाम कसनी शुरू कर दी है। बोर्ड ने कुछ ऐसे चुनिंदा अभद्र शब्दों और गालियों की लिस्ट जारी की है, जिनका इस्तेमाल अब तक फिल्मों में धड़ल्ले से किया जाता था, लेकिन अब नहीं किया जाएगा।

    बॉम्बे और मुंबई को लेकर हुए विवाद के बाद सेंसर बोर्ड ने इस लिस्ट को जारी किया है। बोर्ड का मानना है कि फिल्मों में डाली जाने वाली गालियों और अभद्र शब्दों से बच्चों पर बुरा असर पड़ता है। शब्द चाहे हिन्दी में हो या अंग्रजी में, कुछ शब्दों को फिल्म में शामिल नहीं किया जाना चाहिए। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए बोर्ड ने एक लिस्ट तैयार की जिनमें हिन्दी और अंग्रेजी भाषा के शब्दों को शामिल किया गया है।

    इतना ही नहीं बोर्ड ने कुछ ऐसे शब्दों के इस्तेमाल पर भी कड़ाई से रोक लगा दी है जिनका इस्तेमाल अप्रत्यक्ष रूप से सेक्स को लेकर किया जाता है। डबल मीनिंग यानि दोहरे अर्थों वाले शब्दों पर भी बैन लगाया है। बहरहाल, यह देखकर लगता है कि एकता कपूर, इन्द्र कुमार, अनुराग कश्यप, तिग्मांशु धूलिया जैसे निर्देशक अब शायद ही फिल्में बना पाएंगे।

    गौरतलब है कि अनुराग कश्यप, तिग्मांशु धूलिया और विशाल भारद्वाज जैसे फिल्म निर्देशक फिल्मों में अक्सर अपशब्दों का इस्तेमाल बेहद सहजता के साथ करते हैं लेकिन सेंसर बोर्ड के आदेश से उन्हें बड़ा झटका लगता दिख रहा है। वहीं, कई निर्देशक बोर्ड के इस निर्णय का विरोध भी कर रहे हैं। हंसल मेहता, संजय गुप्ता और महेश भट्ट जैसे निर्देशक इस लिस्ट का जमकर विरोध कर रहे हैं।

    <blockquote class="twitter-tweet blockquote" lang="en"><p>Dear Indian government, If you decide what I should make and what my characters can say then why don't you also fund my films?</p>— Hansal Mehta (@mehtahansal) <a href="https://twitter.com/mehtahansal/status/566170810113462272">February 13, 2015</a></blockquote> <script async src="//platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

    <blockquote class="twitter-tweet blockquote" lang="en"><p>So basically <a href="https://twitter.com/anuragkashyap72">@anuragkashyap72</a> can never make a film in India again. <a href="https://twitter.com/hashtag/EpicFail?src=hash">#EpicFail</a> <a href="https://twitter.com/hashtag/CBFC?src=hash">#CBFC</a> <a href="https://twitter.com/hashtag/CensorBoardMurderingIndianFilm?src=hash">#CensorBoardMurderingIndianFilm</a></p>— Nikhil Advani (@nickadvani) <a href="https://twitter.com/nickadvani/status/566172620807106560">February 13, 2015</a></blockquote> <script async src="//platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

    English summary
    Chairman of CBFC Pahlaj Nihalani issued a list of cuss words that cannot be used in the films, "in any category of the certificate."
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X