For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Just In - पद्मावती हो गई पास..लेकिन लीड रोल हो गया OUT

    By Shweta
    |
    Padmavati Row: CBFC changes title from Padmavati to Padmavat | FilmiBeat

    संजय लीला भंसाली , पद्मावती टीम और फैन्स के लिए राहत भरी खबर है कि पद्मावती को आखिरकार सेंसर बोर्ड ने U/A सर्टिफिकेट के साथ पास कर दिया है। लेकिन बात सिर्फ इतनी नहीं है।फिल्म को पास करने के साथ एक फिल्म के नाम में बदलाव किया गया है और अब फिल्म का नाम पद्मावती नहीं बल्कि पद्मावत होगा।

    आपको बता दें कि पद्मावती के लिए सेंसर बोर्ड ने इतिहासकारों का एक स्पेशल पैनल बनाया था जिन्होंने फिल्म देखी और अब फिल्म को UA सर्टिफिकेट के साथ पास कर दिया। इसमें कोई शक नहीं है कि ये पद्मावती टीम के लिए राहत भरी खबर है क्योंकि फिल्म की रिलीज लंबे से अटकी हुई है।

    पहले फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज होने वाली थी लेकिन राजस्थान सहित कई राज्यों में फिल्म को लेकर हो रहे विवाद को देखते हुए फिल्म की रिलीज आगे बढ़ा दी गई थी। सेंसर बोर्ड को दिए गए आवेदन में भी पद्मावती के मेकर्स की ओर से गलतियां की गई थी जिस वजह से आवेदन को वापस लौटा दिया गया था।

    वैसे आपको बता दें कि पद्मावती पहली फिल्म नहीं है जिसका नाम बदला गया है। इसके पहले भी कई बॉलीवुड फिल्में आई जिसका नाम सेंसर बोर्ड ने बदल दिया था।

    ऐ दिल है मुश्किल

    ऐ दिल है मुश्किल

    ऐ दिल है मुश्किल का नाम पहले सिर्फ ऐ दिल रखा गया था लेकिन बाद में करण जौहर ने इसे बदलकर ऐ दिल है मुश्किल रख दिया।

    तमाशा- विंडो सीट

    तमाशा- विंडो सीट

    जी हां रणबीर दीपिका पादुकोण की इस फिल्म का नाम विंडो सीट था जिसे बाद में तमाशा किया गया।

    लव आज कल- इलास्टिक

    लव आज कल- इलास्टिक

    लव आज कल नाम से ही लगता है की फिल्म में कुछ इंटरेस्टिंग होगा। आप सोचिए अगर इसका नाम इलास्टिक होता तो आप क्या सोच पाते।

    कट्टी बट्टी- साली कुत्तिया

    कट्टी बट्टी- साली कुत्तिया

    इसका तो अच्छा ही हुआ जो बदल दिया गया वरना कंट्रोवर्सी पक्की थी।

    मद्रास कैफे-जाफना

    मद्रास कैफे-जाफना

    जॉन अब्राह्म की सबसे अच्छी फिल्में में से एक मद्रास कैफे का नाम जाफना था। जाफना श्रीलंका एक शहर का नाम है । काफी कंट्रोवर्सी के बाद इसे बदला गया।

    वीर-जारा-ये कहां आ गए हम

    वीर-जारा-ये कहां आ गए हम

    वीर जारा तो वीर जारा ही ठीक हैं । ये कहां आ गए हम कुछ खास अच्छा बी नहीं लग रहा।

    जब तक है जान- ये कहां आ गए हम

    जब तक है जान- ये कहां आ गए हम

    इस फिल्म का ये कहां आ गए हम भी सही था। आखिर शाहरूख की यादाश्त भी तो चली जाती है।

    जब वी मेट- पंजाब एक्सप्रेस, इश्क वाया भटिंडा

    जब वी मेट- पंजाब एक्सप्रेस, इश्क वाया भटिंडा

    जब वी मेट के तो पहले दो दो नाम सोचे गए थे। वो भीपंजाब एक्सप्रेस, इश्क वाया भटिंडा।आपको डॉयलग तो याद होगा भटिंडा की सिखणी हूं मैं कोई डाउट मत रखना।

    English summary
    CBFC changes padmavati title to padmavat and passes with UA certificate.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X