For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    #Yaadein: वो जिसने शाहरूख - सलमान को बनाया सुपरस्टार

    |

    पिछले साल कई दिग्गज अभिनेताओं ने दुनिया को अलविदा कह दिया। इनमें से एक थे शशि कपूर। शशि कपूर 4 दिसंबर को दुनिया से विदा लेकर चले गए। और आज उनके 80वें जन्मदिन पर बॉलीवुड ने उन्हें याद किया।

    शशि कपूर को ज़्यादातर याद रखा जाता है तो अमिताभ बच्चन के भाई की भूमिकाओं के लिए। लेकिन अगर लोग भूल जाते हैं तो वो ये कि शाहरूख - सलमान से पहले, अगर वाकई 60 - 70 के दशक का रोमांटिक सितारा था तो वो थे शशि कपूर।

    जब भी कोई जाता है तो अपने पीछे ढेरों यादें छोड़ जाता है। और इन्हीं यादों के सहारे, वो इंसान हमेशा ज़िंदा रहता है। शशि कपूर भले ही हमारे बीच ना रहे हों लेकिन उनकी फिल्में और शूटिंग के दौरान के उनके किस्से कभी उनकी यादों को धुंधला नहीं होने देंगे।

    शशि कपूर शशि ने एक्टिंग में अपना करियर 1944 में अपने पिता पृथ्वीराज कपूर के पृथ्वी थिएटर के नाटक 'शकुंतला' से शुरू किया। उन्होंने फिल्मों में भी अपने एक्टिंग की शुरुआत बाल कलाकार के रूप में की थी।

    आपको बताते हैं उनके जीवन से जुड़े, कुछ बेहद दिलचस्प किस्से -

    पूनम ढिल्लन को मारा था थप्पड़

    पूनम ढिल्लन को मारा था थप्पड़

    एक बार शशि कपूर ने शूटिंग के दौरान पूनम ढिल्लन को थप्पड़ मार दिया था। शशि कपूर पूनम के साथ त्रिशूल में काम कर रहे थे। फिल्म के डायरेक्टर थे यश चोपड़ा। एक सीन में शशि कपूर को पूनम ढिल्लन को थप्पड़ मारना था। एक्शन बोलते ही उन्होंने ज़ोरदार थप्पड़ मारा क्योंकि वो चाहते थे कि पूनम का रिएक्शन एकदम सच्चा और सटीक आए। बाद में उन्होंने इस बात के लिए पूनम से माफी भी मांगी।

    सैफ अली खान ने बचाई थी जान

    सैफ अली खान ने बचाई थी जान

    शशि कपूर, शर्मिला टैगोर के साथ पाप और पुण्य की शूटिंग कर रहे थे। शूटिंग के दौरान विलेन के साथ शशि कपूर का फाइट सीन था। लेकिन दो साल के सैफ अली खान को लगा कि विलेन उनके प्यारे से शशि अंकल को मार रहा है और वो उन्हें बचाने दौड़ पड़े।

    अमिताभ बच्चन की बचाई जान

    अमिताभ बच्चन की बचाई जान

    कुली की शूटिंग के दौरान, अमिताभ बच्चन तो अस्थमा की बीमारी की वजह से काफी दिक्कत होती थी। एक बार उन्हें सांस लेने में इतनी तकलीफ होने लगी कि उन्होंने सोचा कि अचानक से छलांग मार देता हूं, शायद सदमे से सांस आ जाए। शशि कपूर ने तुरंत ही उन्हें रोक दिया।

    मेरे पास मां है

    मेरे पास मां है

    शशि कपूर का ये डायलॉग इतना फेमस हो गया था कि एआर रहमान ने अपना ऑस्कर लेते समय, इसे अपनी स्पीच में बोला।

    मरते मरते बचे

    मरते मरते बचे

    शशि कपूर सुहाग की शूटिंग कर रहे थे। मनमोहन देसाई ने एक हेलीकॉप्टर का क्लाईमैक्स सीन था। शशि कपूर ने जैसे ही रॉड पकड़ी तो उनके हाथ में थोड़ी देर बाद पसीना आने लगा और लटकना मुश्किल हो गया लेकिन वो शॉट बीच में कट नहीं कर सकते। दूर से सबको लगा कि वो सीन में घुसे हैं जबकि उनका ध्यान केवल अपनी जान बचाने पर था।

     दो बार हो चुका था एक्सीडेंट

    दो बार हो चुका था एक्सीडेंट

    मनमोहन देसाई के सेट पर शशि कपूर के साथ कई हादसे हो चुके थे। अंत में शशि ने उनके स्टंट करना बंद कर दिया। एक बार देसाई ने उन्हें एक शीशा तोड़ने को कहा जिसे उन्होंने मना कर दिया। बाद में जिस स्टंटमैन ने वो सीन किया उसे, बारह टांके लगे थे।

    राजकपूर बुलाते थे टैक्सी

    राजकपूर बुलाते थे टैक्सी

    एक वक्त पर शशि कपूर इतना काम कर रहे थे कि उनके भाई राजकपूर उन्हें टैक्सी बुलाने लगे थे।

    पिता के खिलाफ की थी शादी

    पिता के खिलाफ की थी शादी

    शशि कपूर ने पिता के खिलाफ जाकर शादी की थी। उनकी पत्नी जेनिफर विदेशी थी और शशि उनके साथ थियेटर करते हुए मिले थे।

    किस्सा छड़ी का

    किस्सा छड़ी का

    अमिताभ बच्चन बताते हैं कि शशि कपूर पता नहीं कहां से एक छड़ी पा गए थे और उसका इस्तेमाल शूटिंग में अनुशासन के लिए होता था। फिर वो सब रूस किसी फिल्म की शूटिंग के लिए गए थे और भगवान की दया से वहां वो छड़ी खो गई।

    English summary
    Bollywood remembers Shashi Kapoor on his 80th birth anniversary. Shashi Kapoor breathed his last on December 4, 2017.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X