For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    'बिग बॉस' में क़साब के वकील भी

    By Ankur Sharma
    |

    क़साब को 26/11 हमलों के लिए मौत की सज़ा सुनाई गई है

    मुंबई में वर्ष 2008 में हुए चरमपंथी हमलों के एकमात्र जीवित हमलावर मोहम्मद अजमल क़साब के वकील रह चुके अब्बास काज़मी इस बार टेलीविज़न रियलिटी शो 'बिग बॉस' में दिखाई देंगे.

    अब्बास काज़मी को क़साब के वकील के रुप में राज्य सरकार की ओर से नियुक्त किया गया था. लेकिन बाद में, जब मुक़दमा ख़त्म होने की ओर था तो उन्हें 'असहयोग और देरी' के आरोप में मुक़दमे से अलग कर दिया गया था.

    मोहम्मद अजमल क़साब को गत मई में मुंबई हमलों के लिए दोषी ठहराते हुए मौत की सज़ा सुनाई गई थी.

    मुंबई में हुए इस हमले में 165 लोगों की मौत हो गई थी.

    ब्रिटेन के टेलीविज़न रियलिटी शो 'बिग ब्रदर' के भारतीय संस्करण 'बिग बॉस' का यह चौथा संस्करण है.

    इस शो में भागीदारी के लिए विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत लोगों को आमंत्रित किया जाता है.

    इस शो के नए संस्करण की मेज़बानी बॉलीवुड फ़िल्मों के स्टार सलमान ख़ान करने वाले हैं. सलमान ख़ान ख़ुद भी काले हिरण के शिकार और लापरवाही से गाड़ी चलाकर लोगों की जान लेने जैसे आपराधिक मुक़दमे झेल चुके हैं. हाल ही में उनकी फ़िल्म 'दबंग' ने बॉक्स ऑफ़िस में बड़ी सफलता हासिल की है.

    'बिग बॉस' में चौदह प्रतिभागियों को एक घर में 85 दिनों के लिए बंद कर दिया जाता है और हर हफ़्ते एक प्रतिभागी को बाहर निकाल दिया जाता है.

    काज़मी ने 'बिग बॉस' में जाने से पहले सलमान ख़ान से कहा, "सरकार ने मुझे अजमल क़साब का वकील नियुक्त किया लेकिन उससे पहले मैं 1993 में मुंबई में हुए विस्फोटों का मामला भी देख चुका हूँ."

    1993 के हमलों का आरोप मुंबई के अंडरवर्ल्ड के लोगों पर लगा था और इसमें कम से कम 250 लोग मारे गए थे और एक हज़ार अन्य घायल हुए थे.

    अब्बास काज़मी के स्थान पर क़साब के लिए दूसरा वकील रखा गया था

    अब्बास काज़मी ने सलमान ख़ान को बताया कि वे कई हिंदी फ़िल्मों में भी काम कर चुके हैं.

    उन्होंने कहा, "मैं प्रयोग और चुनौतियाँ स्वीकार करना पसंद करता हूँ. 'बिग बॉस' के घर में रहना अपने आप में एक चुनौती है क्योंकि वहाँ आपको बाहरी दुनिया से अलग-थलग अजनबियों के साथ रहना होता है."

    उनका 'बिग बॉस' के घर पर बड़ा स्वागत हुआ है.

    'बिग बॉस' के इस संस्करण में पाकिस्तान टेलीविज़न के प्रस्तोता नवाज़िश अली और पाकिस्तानी अभिनेत्री वीना मलिक शामिल हैं.

    शिवसेना ने इन लोगों के 'बिग बॉस'में होने का विरोध किया है और कहा है कि अगर ये लोग शो में रहे तो वे शो को नहीं चलने देंगे.

    उनकी शिकायत है कि भारतीय कलाकारों को पाकिस्तानी चैनलों में नहीं दिखाया जाता.

    शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत का कहना है कि जब पाकिस्तानी चैनल भारतीय कलाकारों को नहीं दिखाते तो फिर भारतीय टेलीविज़न पर पाकिस्तानी लोगों को क्यों दिखाया जाए?

    वैसे इस बार 'बिग बॉस' में सीमा परिहार भी शामिल हुई हैं. वे पहले डकैत रही हैं और उन पर हत्या और अपहरण के मामले चल रहे हैं. हालांकि उनके इस शो में शामिल होने के ख़िलाफ़ अदालत में याचिका दायर की गई है लेकिन वे फिर भी शो का हिस्सा हैं.

    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X