For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    #FirstReview: भूमि...ऐसी फिल्म बनाने के लिए संजय दत्त को माफी मांगनी चाहिए!

    |

    संजय दत्त स्टारर भूमि का पहला रिव्यू, खाड़ी देशों में आ चुका है और एक खाड़ी पत्रिका ने फिल्म को डेढ़ स्टार भी दे दिया है। इतना ही नहीं, इस पत्रिका के हिसाब से उमंग कुमार और संजय दत्त को ऐसी फिल्म बनाने के लिए दर्शकों से माफी मांगनी चाहिए।

    Bhoomi Public Review | Sanjay Dutt | Aditi Rao Hydari | Omung Kumar | FilmiBeat

    भूमि संजय दत्त के लिए एक अच्छी कमबैक फिल्म नहीं साबित होगी ये तो तय है। बल्कि इससे अच्छा होता अगर वो किसी अच्छी कमबैक फिल्म का इंतज़ार करते।

    2012 में अग्निपथ में धमाकेदार रोल और पीके में शानदार कैमियो करने के बाद संजय दत्त का काफी बेसब्री से इंतज़ार हो रहा था।

    लेकिन दिक्कत ये है कि इतनी उम्र के बाद भी वो सुपरहीरो बनने की कोशिश करते हुए आए हैं। बहरहाल फिल्म में वो ऐसे बाप बने हैं, जिसे अपनी बेटी के रेप का बदला लेना है। जानिए फिल्म का पूरा रिव्यू -

    बेवकूफी भरी ओपनिंग

    बेवकूफी भरी ओपनिंग

    फिल्म का पहला सीन ही आपको निराश कर देगा। यहां संजय दत्त और उनकी बेटी अदिति के बीच के रिश्ते को दिखाया है। खराब खाना बनाने के लिए संजय अदिति से माफी मांगते दिखाई दे रहे हैं। और उससे भीख मांग रहे हैं। काफी देर तक आपको समझ ही नहीं आएगा कि चल क्या रहा है।

    पहले सीन से ही ओवर ड्रामा

    पहले सीन से ही ओवर ड्रामा

    जिस बात के लिए संजय दत्त माफी मांग रहे हैं वो है भिंडी में मसाला ज़्यादा होना। वो भिंडी जो अपने हाथों से उन्होंने बनाई है और उनकी बेटी को पंसद नहीं आई है। ये ड्रामा इतना ज़्यादा और वाहियात है कि आपसे हज़म ही नहीं होगा।

    बेकार ट्विस्ट

    बेकार ट्विस्ट

    इस बदले वाले ड्रामा में बेकार की कहानी और ट्विस्ट हैं जिनका कोई सर पैर नहीं है। किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा है। ना दर्शकों को समझ आ रहा है कि क्या चल रहा है, ना ही कलाकार को समझ आ रहा है कि वो क्या कर रहा है।

    माफी मांगनी चाहिए

    माफी मांगनी चाहिए

    उमंग कुमार और उनकी पूरी टीम को ऐसी फिल्म बनाने के लिए माफी मांगनी चाहिए। क्योंकि वो गैंग रेप जैसा संगीन विषय उठाते हैं और फिर उसे एक मसाला फिल्म बनाने की कोशिश करने में इतना गिर जाते हैं कि दोबारा उठ नहीं पाते।

     थका देती है फिल्म

    थका देती है फिल्म

    एक सीन है - एक लड़की का गैंग रेप होता है और उसके अगले ही सीन में रेपिस्ट जाकर सनी लियोन का आइटम डांस देखने लगता है। उस गाने का नाम है ट्रिपी ट्रिपी।

    हीरो - हीरोइन और विलेन

    हीरो - हीरोइन और विलेन


    अदिति हैदरी एक वेडिंग प्लानर बनी हैं जो अपने डॉक्टर बॉयफ्रेंड से शादी करने वाली हैं। और एक टिपिकल मोहल्ले का लड़का है जो अदिति से प्यार करता है, प्रपोज़ करता है, रिजेक्ट होता है, विलेन बनता है और उसका गैंगरेप करता है।

    बेकार डायलॉग्स

    बेकार डायलॉग्स

    फिल्म में इकलौता अच्छा काम किया है विलेन शरद केलकर ने। लेकिन उन्हें इतने खराब डायलॉग्स दिए गए हैं कि सब किए कराए पर पानी फिर गया है। हैदरी का फिल्म में ज़्यादा काम नहीं है। सिवाय अपने पापा को अपनी ही लड़ाई में सहारा देने के।

    अचानक से दुनिया पलटेगी

    अचानक से दुनिया पलटेगी

    फिल्म के पहले हाफ में अदिति - संजय एकदम ही लाचार हैं और दूसरे हाफ में दोनों के पास लड़ने की दुनिया भर की ताकत आ जाएगी। बिना किसी सपोर्ट के। दूसरा हाफ केवल संजय दत्त के माचो के लिए है।

    बेकार क्लाईमैक्स

    बेकार क्लाईमैक्स

    2017 में इससे गंदा क्लाईमैक्स आपने किसी फिल्म का नहीं देखा होगा ये तो तय है।

     1.5 स्टार भूमि संजय दत्त

    1.5 स्टार भूमि संजय दत्त

    भूमि संजय दत्त के कमबैक लायक फिल्म तो कतई नहीं थी। गल्फ न्यूज़ ने फिल्म को 1.5 स्टार दिए हैं। वहीं खाड़ी देशों में फिल्म को 1 से डेढ़ स्टार तक की रेटिंग मिली है। आप भी इसे अपने रिस्क पर देखने जाएं।

    English summary
    Bhoomi first review according to UAE critic.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X