»   » #Hafta: उतर गया खुमार...बाहुबली 2 की ये MISTAKES आपने पकड़ी?

#Hafta: उतर गया खुमार...बाहुबली 2 की ये MISTAKES आपने पकड़ी?

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

बाहुबली 2 की रिलीज़ को एक हफ्ता हो गया औऱ अब धीरे धीरे फिल्म का खुमार भी उतरने लगा है। लोग फिल्म के बारे में एक रिवाइंड ज़रूर मार रहे हैं और जैसे ही रिवाइंड करेंगे आपको समझ में आएगा कि वाकई ये सीक्वल थोड़ा अजीब था। 

क्योंकि कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा, ये जानने के चक्कर में आपने फिल्म के कुछ अहम सवाल मिस कर दिए। क्योंकि डायरेक्टर ने इनका जवाब दिया ही नहीं। यूं कह लीजिए कि बाहुबली एक अधूरी सीक्वल निकली। 

baahubali-the-conclusion-mistakes-which-no-one-noticed
 

क्यों ऐसी है अवंतिका
फिल्म में अवंतिका एक योद्धा बनी है लेकिन क्यों हैं इसकी कोई बैकस्टोरी नहीं है। उसका किरदार इतना दमदार है लेकिन तमन्ना भाटिया के किरदार को यूं ही अधूरा छोड़ दिया गया है।

कौन है भल्लालदेव की पत्नी
पहले पार्ट में भल्लालदेव का एक बेटा था लेकिन दूसरे पार्ट में भी भल्लालदेव की पत्नी कहीं दिखाई नहीं दी। अगर वो होती तो ये देखना दिलचस्प होता कि वो अपने पति की तरह थी या फिर माहिष्मती की बाकी औरतों की तरह!

माहिष्मती की जनता का अता - पता

माहिष्मती की जनता का अता - पता

माहिष्मती की जनता अपने बाहुबली से बहुत प्यार करती है। इतना प्यार की बाहुबली पर आंच आती है वो भल्लाल देव को जड़ से उखाड़ फेंकने की कोशिश कर देते हैं लेकिन वहीं जनता अपनी देवसेना को इतने सालों तक ज़ंजीर में बंधे सहती है! क्यों?

देवसेना की गलती!

देवसेना की गलती!

दरअसल, बाहुबली को मारने में कटप्पा से ज़्यादा देवसेना का हाथ था। पहली बार जब देवसेना ने सिवागामी के सामने ज़ुबान लड़ाई थी, सिवागामी को उसका साहस पसंद आय़ा था। लेकिन इसे अपने हित में इस्तेमाल करने की बजाय देवसेना ने सिवागामी की इतनी बेइज़्जती कर दी कि बाहुबली को भुगतनी पड़ी!

फैन्स ने निकाली है भड़ास

फैन्स ने निकाली है भड़ास

फैन्स का मानना है कि फिल्म ज़रूरत से ज़्यादा लंबी है जो कि फिल्म को बोरिंग बनाती है। कुछ फैन्स ने तो सीधे सीधे यह तक कह डाला है कि फिल्म कायदे से एक ही पार्ट के लायक थी औऱ उसी में खत्म की जाती है। फिल्म देखते ही लोगों का जमकर गुस्सा निकला जो उन्होंने ट्विटर पर गालियां दे देकर निकाला था।

खराब है फिल्म

खराब है फिल्म

हालांकि पहली फिल्म के शानदार प्रदर्शन के बाद लोगों को फिल्म से काफी उम्मीदें थीं लेकिन उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया गया है। कुछ फैन्स का मानना है कि फिल्म इतनी भी बुरी नहीं है, वहीं कुछ का मानना है ठीकठाक। फिलहाल तो बाहुबली को शानदार फिल्म कोई नहीं कह रहा है।

इतने खराब वीएफएक्स

इतने खराब वीएफएक्स

बाहुबली की सबसे अच्छी बात थी इसके वीएफएक्स वहीं यही VFX दूसरी फिल्म को ले डूबा है। VFX एक महंगी तकनीक है और भारत में बहुत कम फिल्मों में बेहतरीन तरीके से दिख पाती है जिसका नमूना था बाहुबली। लेकिन बाहुबली 2 को देख, इसी VFX से लोग निराश दिखे।

भल्लालदेव की एक्टिंग

भल्लालदेव की एक्टिंग

फिल्म में भल्लालदेव को यानि कि राणा दग्गुबाती को लोगों ने जमकर लताड़ा है। राणा ने फिल्म के मुख्य विलेन की भूमिका निभाई है और इसमें वो इतना खो गए कि कुछ ज़्यादा ही हो गया है। ज़्यादातर फैन्स ने राणा दग्गुबाती के किरदार को ओवरएक्टिंग की दुकान कह डाला।

एनिमेशन फिल्म

एनिमेशन फिल्म

फैन्स की मानें तो पूरी फिल्म को देखकर किसी एनिमेशन फिल्म की याद आएगी। बाहुबली के इस पहलू से फैन्स बहुत ज़्यादा निराश। फिल्म के इसी निगेटिव पक्ष की वजह से लोगों का ध्यान फिल्म पर कम था और एनिमेशन जैसे वीएफएक्स पर ज़्यादा।

टिपिकल मसाला

टिपिकल मसाला

ऐसा लग रहा था कि बाहुबली टिपिकल मसाला फिल्म है। फैन्स का कहना है कि अब तक भारतीय सिनेमा अपने उसी पुराने ढर्रे पर चलता है - हीरो है, हीरोइन है, विलेन है और फाइट है। बस और किसी को क्या देखने का मन करेगा।

लड़खड़ाती हुई फिल्म को बचाते हैं ये दो लोग

लड़खड़ाती हुई फिल्म को बचाते हैं ये दो लोग

फैन्स की मानें तो लड़खड़ाती हुई फिल्म को केवल दो लोग बचाते हैं - प्रभास और अनुष्का शेट्टी। अनुष्का देवसेना के तौर पर बेहतरीन लग रही है और प्रभास अपने दोनों ही किरदारों में फिल्म को संभालते नज़र आते हैं।

विदेशी समीक्षकों को नहीं भाई फिल्म

विदेशी समीक्षकों को नहीं भाई फिल्म

बाहुबली 2 ने विदेशी समीक्षकों को भी निराश ही किया है और उन्होंने इसका रिव्यू भी दे दिया है। आपका दिल टूट जाएगा लेकिन ये रिव्यू बहुत मिला जुला है। कुछ लोगों को फिल्म बहुत पसंद आई तो कुछ को फिल्म ठीक ठाक लगी है। वहीं फिल्म का सबसे अच्छा पहलू है राजामौली का निर्देशन और प्रभास का अभिनय, जो एक जानी पहचानी फिल्म को अद्भुत बना देते हैं। राणा दग्गुबाती विदेशी मीडिया को इंप्रेस नहीं कर पाए और उनकी तारीफ में लोगों ने बातें नहीं की है।

 

English summary
Baahubali the conclusion mistakes which no one noticed. Did you catch them?
Please Wait while comments are loading...