»   » #PictureKhatam: बाहुबली के पहले शो के बाद अंडे, टमाटर...गालियों की बौछार!

#PictureKhatam: बाहुबली के पहले शो के बाद अंडे, टमाटर...गालियों की बौछार!

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

बाहुबली 2 का पहला शो खत्म हो गया औऱ वही हुआ जिसकी झलक हमने आपको दे दी थी - इसलिए टूटा फैन्स का दिल! और फिल्म से निकलते ही वही हुआ जिसका डर था। ज़्यादातर फैन्स को बाहुबली 2 पसंद नहीं आई।

और थिटेटर से बाहर निकलते ही फैन्स का गुस्सा ट्विटर पर जमकर बरसा है। राजामौली से लेकर फिल्म की स्टारकास्ट तक सबको फैन्स ने जमकर लताड़ा है। कुछ फैन्स का मानना है कि फिल्म को लेकर इतना हाईप बना दिया गया कि सब बेवकूफ बन गए।
 

baahubali-review-by-fans-negative-reactions-thrash-the-film-post-comments

फैन्स ने ट्विटर पर गुस्सा ज़ाहिर करते हुए लिखा कि पिछले कुछ सालों में सबसे गंदा वीएफएक्स और सबसे गंदा एनिमेशन अगर किसी फिल्म में देखा है तो वो बाहुबली 2 थी।

फैन्स का मानना है कि फिल्म ज़रूरत से ज़्यादा लंबी है जो कि फिल्म को बोरिंग बनाती है। कुछ फैन्स ने तो सीधे सीधे यह तक कह डाला है कि फिल्म कायदे से एक ही पार्ट के लायक थी औऱ उसी में खत्म की जाती है।

फिल्म देखते ही लोगों का जमकर गुस्सा निकला जो उन्होंने ट्विटर पर गालियां दे देकर निकाला है -

खराब है फिल्म

खराब है फिल्म

हालांकि पहली फिल्म के शानदार प्रदर्शन के बाद लोगों को फिल्म से काफी उम्मीदें थीं लेकिन उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया गया है। कुछ फैन्स का मानना है कि फिल्म इतनी भी बुरी नहीं है, वहीं कुछ का मानना है ठीकठाक। फिलहाल तो बाहुबली को शानदार फिल्म कोई नहीं कह रहा है।

इतने खराब वीएफएक्स

इतने खराब वीएफएक्स

बाहुबली की सबसे अच्छी बात थी इसके वीएफएक्स वहीं यही VFX दूसरी फिल्म को ले डूबा है। VFX एक महंगी तकनीक है और भारत में बहुत कम फिल्मों में बेहतरीन तरीके से दिख पाती है जिसका नमूना था बाहुबली। लेकिन बाहुबली 2 को देख, इसी VFX से लोग निराश दिखे।

भल्लालदेव की एक्टिंग

भल्लालदेव की एक्टिंग

फिल्म में भल्लालदेव को यानि कि राणा दग्गुबाती को लोगों ने जमकर लताड़ा है। राणा ने फिल्म के मुख्य विलेन की भूमिका निभाई है और इसमें वो इतना खो गए कि कुछ ज़्यादा ही हो गया है। ज़्यादातर फैन्स ने राणा दग्गुबाती के किरदार को ओवरएक्टिंग की दुकान कह डाला।

एनिमेशन फिल्म

एनिमेशन फिल्म

फैन्स की मानें तो पूरी फिल्म को देखकर किसी एनिमेशन फिल्म की याद आएगी। बाहुबली के इस पहलू से फैन्स बहुत ज़्यादा निराश। फिल्म के इसी निगेटिव पक्ष की वजह से लोगों का ध्यान फिल्म पर कम था और एनिमेशन जैसे वीएफएक्स पर ज़्यादा।

टिपिकल मसाला

टिपिकल मसाला

ऐसा लग रहा था कि बाहुबली टिपिकल मसाला फिल्म है। फैन्स का कहना है कि अब तक भारतीय सिनेमा अपने उसी पुराने ढर्रे पर चलता है - हीरो है, हीरोइन है, विलेन है और फाइट है। बस और किसी को क्या देखने का मन करेगा।

लड़खड़ाती हुई फिल्म को बचाते हैं ये दो लोग

लड़खड़ाती हुई फिल्म को बचाते हैं ये दो लोग

फैन्स की मानें तो लड़खड़ाती हुई फिल्म को केवल दो लोग बचाते हैं - प्रभास और तमन्ना। तमन्ना एक योद्धा के तौर पर बेहतरीन लग रही है और प्रभास अपने दोनों ही किरदारों में फिल्म को संभालते नज़र आते हैं।

विदेशी समीक्षकों को नहीं भाई फिल्म

विदेशी समीक्षकों को नहीं भाई फिल्म

बाहुबली 2 ने विदेशी समीक्षकों को भी निराश ही किया है और उन्होंने इसका रिव्यू भी दे दिया है। आपका दिल टूट जाएगा लेकिन ये रिव्यू बहुत मिला जुला है। कुछ लोगों को फिल्म बहुत पसंद आई तो कुछ को फिल्म ठीक ठाक लगी है। वहीं फिल्म का सबसे अच्छा पहलू है राजामौली का निर्देशन और प्रभास का अभिनय, जो एक जानी पहचानी फिल्म को अद्भुत बना देते हैं। राणा दग्गुबाती विदेशी मीडिया को इंप्रेस नहीं कर पाए और उनकी तारीफ में लोगों ने बातें नहीं की है।

The Guardian

The Guardian

फिल्म बिल्कुल पुरानी फिल्मों की तरह हैं जब ये माना जाता था कि ब्लॉकबस्टर बनाने के लिए कुछ चीज़ें काफी है - हीरो, हीरोइन, गाने, विलेन, फाइट और हैप्पी एंडिंग। लेकिन राजामौली ने फिर भी इसे इतनी खूबसूरत तरीके से बनाया है कि कभी भी आप फिल्म से निराश नहीं होंगे। आप बस आंखें फाड़ फाड़ कर फिल्म देखेंगे।

The Hollywood Reporter

The Hollywood Reporter

थोड़े कन्फ्यूज़ करने वाले फ्लैशबैक, खराब ग्राफिक्स और राणा दग्गुबाती की ओवरएक्टिंग बाहुबली को हल्का बनाती है। लेकिन फिल्म को संभालता है प्रभास और तमन्ना का शानदार काम। एमएम कीरवानी का संगीत इतना शानदार है कि गाने अच्छे लगते हैं, भले ही वो कामुक हैं। वहीं सेंथिल के कैमरा से जंगल और रेगिस्तान भी इतना शानदार लगता है कि बस देखते रहने का मन करता है।

Screen Daily

Screen Daily

फिल्म को कुर्नूल, केरल और रामोजी फिल्म सिटी में शूट किया गया है और फिल्म को देखने में मज़ा आता है। कुछ सीन और फाइट शानदार है। आर्ट डायरेक्शन आपका ध्यान रोक देता है। भले ही फिल्म में कुछ खास नहीं है पर फिर भी राजामौली का निर्देशन इसे बहुत खास बनाता है।

English summary
Baahubali review by fans - thrash the film and post negative comments!
Please Wait while comments are loading...

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi