»   » #FirstReview: बादशाहो...अजय देवगन आए...कुछ किए और चले गए...पता नहीं क्या!

#FirstReview: बादशाहो...अजय देवगन आए...कुछ किए और चले गए...पता नहीं क्या!

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

अजय देवगन शिवाय के बाद, बड़े परदे पर करीब एक साल बाद वापसी कर रहे हैं। और इस बार दर्शक उनसे कुछ ज़़ोरदार धमाके की उम्मीद कर रहे हैं। बादशाहो एकदम अजय देवगन स्टाईल फिल्म है। जैसी वो करते हैं। जैसी में वो हिट होते हैं।

यूएई के क्रिटिक्स ने बादशाहो की धज्जियां उड़ा दी हैं और कुछ ने तो यहां तक लिखा है कि फिल्म किसलिए बनाई गई है पता नहीं।

baadshaho-first-review-according-to-UAE-critics

पूरी फिल्म में केवल एक ही काम के आदमी हैं और वो हैं संजय मिश्रा। पूरी फिल्म में वो अपना ह्यूमर बरकरार रखते हैं। जानिए पूरा फिल्म रिव्यू। केवल यूएई के क्रिटिक्स के मुताबिक -

अजीब सी शुरूआत

अजीब सी शुरूआत

फिल्म का पहला सीन ही इतना अजीब है कि आप लोट लोट कर हंसना चाहेंगे, इसलिए नहीं कि ये सीन इतना मज़ेदार है, बल्कि इसलिए कि इस सीन का कोई भी लॉजिक समझ नहीं आएगा।

Baadshaho Movie Review: Great Love Story with Action Packed performances | FilmiBeat
पहले सीन से फ्लॉप का वादा

पहले सीन से फ्लॉप का वादा

पहला सीन देखकर ही लग जाएगा कि एक बेहद बकवास अनुभव होने वाला है। और पहले सीन में किया गया ये वादा मिलन लूथरिया किसी सीन में नहीं टूटने देंगे।

सुंदर औरतें और बॉडी वाले आदमी

सुंदर औरतें और बॉडी वाले आदमी

मिलन लूथरिया ने इस बार सुंदर सी, सेक्सी दिखने वाली औरतों को और काफी बॉडी बनाए मर्दों को इकट्ठा किया है और फिर उनसे कुछ नहीं करवाया है।

सबके पास बंदूक और बेवकूफी भरे डायलॉग्स

सबके पास बंदूक और बेवकूफी भरे डायलॉग्स

फिल्म में सबके पास बंदूक हैं और उनको बंदूकों को चलाते वक्त वो बेवकूफी भरे डायलॉग्स बोलते हैं। और हर कैरेक्टर की पर्सनैलिटी में कोई ना कोई झोल है जिसका भी कोई लॉजिक नहीं है।

एक बड़ा ट्रक और सनी लियोन

एक बड़ा ट्रक और सनी लियोन

कुल मिलाकर पूरी फिल्म में एक बड़ा सा ट्रक है और आती जाती, विस्फोटक सी सनी लियोन है।

सब कुछ कर लिया कहानी भूल गए

सब कुछ कर लिया कहानी भूल गए

लूथरिया पूरा ताम झाम इकट्ठा कर लिए हैं लेकिन ये भूल गए थे कि ये सब चलाने के लिए कहानी भी चाहिए। लेकिन जब लूथरिया कहानी भूल गए तो वो बिना मतलब एक्शन करवाने लगे। वो भी स्लो मोशन शॉट में।

 सबका काम बंटा हुआ है

सबका काम बंटा हुआ है

पूरी फिल्म में आदमियों का काम है एक्शन सीन करके गोली चलाना और औरतों का काम है सेक्सी दिखना, आदमी को उकसाना, बहकाना और कभी कभी हाथ में बंदूक पकड़ लेना।

136 मिनट की मनहूसियत

136 मिनट की मनहूसियत


136 मिनट की मनहूसियत
ये समझ लीजिए कि पूरी फिल्म 136 मिनट की मनहूसियत है जो आप झेल नहीं पाएंगे।

अजय देवगन क्या कर रहे पता नहीं

अजय देवगन क्या कर रहे पता नहीं

अजय देवगन ने पूरी फिल्म में कुछ नहीं किया है। वो फिल्म में क्यों हैं पता नहीं। लेकिन फिर कोई भी फिल्म में क्यों हैं, ये किसी को पता नहीं।

बहुत बुरी फिल्म

बहुत बुरी फिल्म

कुल मिलाकर बादशाहो बहुत ज़्यादा खराब फिल्म है। 1 स्टार लायक भी नहीं।

English summary
Baadshaho first review according to UAE critic.
Please Wait while comments are loading...