For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    81 साल की आशा की आवाज में खनकती है 16 साल की लड़की

    |

    मखमली आवाज की मल्लिका आशा भोंसले का आज जन्मदिन हैं। आज आशा 81 साल की हो गयी हैं। लोगों के लिए एक मिसाल बन चुकीं आशा भोंसले ने अब तक हर शैली के गाने गाये हैं,चाहे वो हिंदी संगीत हो, पॉप हो या फिर गजल,ठुमरी हर जगह आशा नंबर वन है। आशा का जन्म महाराष्ट्र के सांगली गांव में 08 सितम्बर 1933 को हुआ था। पिता पंडित दीनानाथ मंगेश्कर की छोटी बेटी आशा ने 1980 में आर डी बर्मन से शादी की थी यह उनकी दूसरी शादी थी।

    आज भी मादक हैं आशा भोंसले की आवाज

    कई अवार्ड पर कब्जा जमा चुकीं आशा को बतौर गायिका 8 बार फिल्म फेयर पुरस्कार मिल चुके हैं। यह पहली सिंगर हैं जिन्हें ग्रेमी अवार्ड के लिए भी चुना गया था। 1986 मे प्रदर्शित फिल्म इजाजत के गीत 'मेरा कुछ सामान आपके पास पड़ा है' के लिए आशा भोंसले नेशनल अवार्ड से सम्मानित की गई। इनके अलावा बीबीसी ने उन्हें लाइफ टाइम अचिवमेंट अवार्ड भी दिया है।

    मेरी तरह सानिया पर भी फालतू का बवाल मचा है: आशा भोंसले

    अपने सदाबहार गानों के लिए प्रसिद्ध आशा भोंसले ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि उनके दिवंगत संगीतकार पति आऱ डी बर्मन सर्वश्रेष्ठ रोमांटिक गीतों को उनकी बड़ी बहन लता मंगेशकर के लिए बचाकर रखा करते थे, ताकि उन गानों के साथ पूरा न्याय हो।

    सुरों की इस मल्लिका के बारे में जानते हैं कुछ और खास बातें.. जिसके लिए आप नीचे की स्लाइडों पर क्लिक कीजिये

    16 साल की उम्र में की शादी

    16 साल की उम्र में की शादी

    महज सोलह वर्ष की उम्र मे अपने परिवार की इच्छा के विरूद्ध जाते हुए आशा ने अपनी उम्र से काफी बडे गणपत राव भोंसले से शादी कर ली। वैसे उनकी शादी सफल तो नहीं हो पायी लेकिन धीरे-धीरे आशा की आवाज का जादू संगीत की दुनिया पर छाने लगा और जल्द ही उन्होंने संगीत की दुनिया में अपनी अलग ही पहचान बना ली।

    'नया दौर'

    'नया दौर'

    आशा भोंसले के संगीत जगत में अपना पहला गीत वर्ष 1948 में सावन आया... फिल्म चुनरिया में गाया था। लेकिन वर्ष 1957 में प्रदर्शित निर्माता-निर्देशक बी. आर. चोपडा की फिल्म 'नया दौर' आशा भोंसले के लिए मील का पत्थर साबित हुई। इसके बाद बी. आर. चोपडा ने आशा भोंसले को अपनी कई फिल्मों में गाने का मौका दिया।

    आजा आजा मैं हू प्यार तेरा ..

    आजा आजा मैं हू प्यार तेरा ..

    फिल्म तीसरी मंजिल में आशा भोंसले ने आर.डी.बर्मन के संगीत में ..आजा आजा मैं हू प्यार तेरा ..गाना जिसने उनके जीवन मे एक नया मोड़ दिया।

    बी ग्रेड के गाने गाये

    आशा ने अपने शुरूआती दौर में ज्यादातर बी ग्रेड के लिए ही गाने गाए। साठ और सत्तर के दशक में आशा भोंसले हिन्दी फिल्मों की डांसर 'हेलन' की आवाज समझी जाने लगी। आशा भोंसले ने हेलन के लिए तीसरी मंजिल में 'ओ हसीना जुल्फों वाली...', इसके बाद कारवां में 'पिया तू अब तो आजा....' मेरे जीवन साथी में 'आओ ना गले लगा लो ना... और सुपरहीट रही फिल्म डॉन में 'ये मेरा दिल यार का दीवाना... जैसे सुपरहिट गीत गाए।

    1980 में आशा ने आर डी बर्मन से की शादी

    1980 में आशा ने आर डी बर्मन से की शादी

    फिल्म तीसरी मंजिल के संगीत निर्देशन के दौरान आर. डी. बर्मन से उन्हें उनके गाने के लिए 100 रूपए उपहार स्वरूप भी दिए। इतना ही नहीं आगे दोनों ने एक दूसरे के लिए काफी समय तक काम भी किया बाद में इन्होंने साथ-साथ रहने का फैसला कर लिया। वर्ष 1980 में आशा ने आर डी बर्मन से शादी कर ली।

    रंगीला में 'तन्हा तन्हा...'

    रंगीला में 'तन्हा तन्हा...'

    1994 मे अपने आर.डी.बर्मन की मौत से आशा भोंसले को गहरा सदमा लगा और उन्होने गायिकी बंद कर दी। लेकिन अपनी उदासियों को दूर करने के लिए आशा ने सुरों का सफर फिर से शुरू किया। 1995 में रंगीला में 'तन्हा तन्हा...' गीत गाया।

    जन्मदिन मुबारक हो

    जन्मदिन मुबारक हो

    भारत के गुरूर आशा भोंसले को आप भी जन्मदिन की शुभकामनाएं दे सकते हैं। कमेंट बॉक्स में लिखिये आशा जी का कौन सा गीत आपको पसंद है और क्यों? मां सरस्वती के साक्षात अवतार आशा भोंसले को वनइंडिया परिवार भी जन्मदिन का ढेर सारी शुभकामनाएं देता है।

    English summary
    Asha Bhosle turned 80 today she is one of the best singer of India. she has recorded many songs for film and pop album.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X