For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    अंग्रेजी मीडियम ट्रेलर रिव्यू- अंग्रेजी की जद्दोजहद पर सिर्फ हंसाएगी या समस्या पर चोट भी करेगी !

    By Varsha Verma
    |

    इरफान खान, राधिका मदान और करीना कपूर की फिल्म 'अंग्रेजी मीडियम' का ट्रेलर रिलीज हो चुका है। बेटी के सपने को पूरा करने के लिए पिता की भावनाओं को बड़े ही सलीखे से पिरोया गया है। ट्रेलर में राधिका मदान, करीना व इरफान तीनों की झलक देखने को मिलती है। इरफान खान ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि वह एक्टिंग में कितने निपुण हैं। हाल में ही 'न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर' जैसी गंभीर बीमारी से ठीक होकर इरफान खान लौटे हैं, जिससे जुड़ा इमोशनल वीडियो भी अभिनेता ने ट्रेलर के रिलीज से ठीक पहले शेयर किया था।

    Photos: लैक्मे फैशन वीक से सनी लियोनी,नेहा धूपिया और सई मांजरेकर की ग्लैमरस फोटो-रैंप पर बिखेरा जलवाPhotos: लैक्मे फैशन वीक से सनी लियोनी,नेहा धूपिया और सई मांजरेकर की ग्लैमरस फोटो-रैंप पर बिखेरा जलवा

    'अंग्रेजी मीडियम' के ट्रेलर को देखकर फिल्म की कहानी का अंदाजा लगाया जा सकता है। जहां इरफान खान ऐसे गुजराती पिता की भूमिका में हैं जो बेटी के सपनों को पूरा करने के लिए अपनी जी-जान लगा देता है। पिता के किरदार में इरफान खान बेटी के लिए वो सब करते हैं जो एक लो मीडियम क्लास पिता के लिए असभंव होता है।

    खासियत

    खासियत

    किसी भी फिल्म की सबसे बड़ी खासियत ये होती है जब दर्शक उससे खुद को जुड़ा हुआ महसूस करता है। जब आप ट्रेलर को देखते हैं तो राधिका मदान में खुद को और इरफान खान में पिता की झलक को पाते हैं। इसके आगे ट्रेलर कब खत्म हो जाता है, पता ही नहीं चलता। लेकिन सवाल ये है कि क्या शिक्षा, सपने, भाषा जैसे मुद्दों के नाम पर बनी ये फिल्म आम जन की समस्या को उठाएगी या बस कॉमेडी के नाम पर सिमट कर रह जाएगी।

    भावनाओं को बयान करने के लिए भाषा की जरूरत नहीं

    भावनाओं को बयान करने के लिए भाषा की जरूरत नहीं

    ट्रेलर की शुरुआत तारिका (राधिका मदान) के स्कूल फंक्शन से होती है जहां उसे अवॉर्ड मिलता है। इस मौके पर बेहद खुश चंपक (इरफान खान) स्कूल पहुंचता है और स्टेज पर अपनी भावनाओं को अंग्रेजी में बोलने की कोशिश करता है। यहां चंपक की अंग्रेजी सुनकर आपको हंसी जरूर आएगी लेकिन ध्यान देने वाली बात ये है कि चंपक की बातें समझने के लिए आपको किसी भाषा की जरूरत नहीं होगी। उनके चेहरे के भाव उनकी भावनाओं को बखूबी बयान करते हैं।

    बेटी का लंदन में पढ़ने के सपना

    बेटी का लंदन में पढ़ने के सपना

    तारिका स्कूल की पढ़ाई करने के बाद लंदन से पढ़ने का सपना रखती हैं। पहले तो चंपक उसे मना कर देता है लेकिन बिटिया की खुशी के लिए बाद में हां कर देता है। इस सीन में कुछ मजेदार डायलॉग भी सुनने को मिलते हैं। लेकिन जब चंपक को पता चलता है कि लंदन में बिटिया को पढ़ाने के लिए 1 करोड़ का खर्चा आएगा तो यही से उसका असली संघर्ष शुरू होता है।

    पिता की भूमिका

    पिता की भूमिका

    अक्सर फिल्मों व नाटकों में हमें बच्चों की जिंदगी में मां की क्या भूमिका होती है, इसे दिखाया जाता है। लंबे समय बाद एक ऐसी फिल्म आ रही है जिसमें पिता की भूमिका को दिखाया जा रहा है। जहां वह बच्चों के सपनों और उन्हें कुछ बनाने के लिए सब कुछ दांव पर लगा देता है।

    क्लाइमैक्स

    क्लाइमैक्स

    जब सपना टूट जाता है तो आदमी भी खत्म हो जाता है... ये कोई आम वाक्य नहीं है, ये वो डायलॉग है जिसके बाद जबरदस्त क्लाइमैक्स देखने को मिलेगा। फिल्म आने के बाद पता चलेगा जब चंपक अपनी बेटी का सपना पूरा नहीं कर पाता तो क्या वह अपनी जान दे देता है?

    करीना कपूर का नामात्र रोल

    करीना कपूर का नामात्र रोल

    करीना कपूर पुलिस वाली का रोल अदा कर रही हैं। जिनका रोल फिलहाल तो ट्रेलर में कुछ खास दिखा नहीं है। फिल्म का ट्रेलर पूरी तरह इरफान खान और फिर राधिका मदान पर टिका है।

    खटकती है ये चीज

    खटकती है ये चीज

    फिल्म के टाइटल के मुताबिक फिल्म का ट्रेलर थोड़ा सा भटका हुआ महसूस होता है। ट्रेलर की शुरुआत में ही अंग्रेजी का प्रभाव देखने को मिलता है लेकिन आगे चलकर फिल्म सपने और पिता-बेटी के रिश्तों पर दिखाई देती है। हालांकि अभी इस बारे में प्रीडिक्ट करना ही नहीं होगा, फिल्म की रिलीज के बाद ये चीज साफ हो पाएगी।

    English summary
    Angrezi Medium Trailer Review: Irrfan Khan Radhika Madan film story on father daughter relationship
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X