For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    अमिताभ बच्चन ने बांटा ICU के दिनों का दर्द - गर्दन काट कर मशीन लगाई गई थी, नाक काटकर पाईप

    |

    अमिताभ बच्चन ने एक ब्लॉग में अपने कुली के दिनों की यादें साझा की। जब वो आईसीयू में ज़िंदगी और अस्पताल के बीच झूल रहे थे और पूरा देश उनके लिए प्रार्थना कर रहा था। अमिताभ बच्चन ने लिखा ये जो नाक पर निशान है।

    ये तब काट कर कुछ पाईप यहीं सिल दिए गए थे। क्योंकि मैं हमेशा इलाज के दौरान परेशान होकर उन्हें नोच देता था।

    मैं कोमा में ही रहता था, अकसर बेहोशी में। इसलिए ये पाईप सिल दिए गए थे जिससे कि मैं ज़िंदा रह सकूं और इन्हें नोंच कर ना फेंक दूं। इसके बाद उन्होंने बताया कि उन्होंने अपनी आवाज़ कैसे खोई थी।

    अमिताभ बच्चन ने लिखा ये जो गर्दन के नीचे एक निशान है। उन दिनों में गर्दन काट कर एक मशीन लगाई गई थी। जिससे कि आप सांस ले सकें। और जब तक मशीन रहती थी आपकी आवाज़ चली जाती थी। कुछ बोल नहीं सकते थे।

    जब कुछ बोलना होता था तो या तो इशारा करते थे या फिर पेन कॉपी मांग कर, उसी पर कुछ गोंच कर लिखने की कोशिश करते थे। गौरतलब है कि कुली के बाद अमिताभ बच्चन का दूसरा जन्म माना जाता है।

    जुनूनी एक्टर

    जुनूनी एक्टर

    कुली की शूटिंग के साथ अमिताभ बच्चन के साथ एक हादसा हुआ जिसके बाद वो काफी समय तक ज़िंदगी और मौत से जूझते रहे। वो एक अनहोनी पूरे फिल्म इतिहास को बदल कर रख सकती थी। हालांकि इन 37 सालों में कुछ नहीं बदला। तब भी काम के प्रति जुनूनी एक्टर था और आज भी काम के लिए वही जुनून है। मनमोहन देसाई की इस फिल्म ने ताबड़तोड़ कलेक्शन बटोरा था।

    पूरा फाइट सीक्वेंस पहले से तैयार

    पूरा फाइट सीक्वेंस पहले से तैयार

    क्या आपको कुली फिल्म का वो शॉट याद है जिसमें बिग बी मेज से टकराते हैं। फिल्म में विलेन पुनीत इस्सर के साथ बिग बी दो दो हाथ कर रहे थे। एक्शन डायरेक्टर ने पूरा फाइट सीक्वेंस पहले से तैयार कर रखा था। बस उससे एक गलती हो गई। गलती ये कि लड़ाई की जगह पर उसने एक मेज रख दी, वो मेज जिसके कोने पर एल्युनियम चढ़ा हुआ था और इस वजह से वो नुकीला हो गया था।

    बन गए विलेन

    बन गए विलेन

    जैसे ही पुनीत इस्सर ने पहला घूंसा मारा, अमिताभ लडख़ड़ाए। इसके बाद पुनीत इस्सर के धक्के से अमिताभ मेज पर जा गिरे। बस यहीं वक्त थम गया। फिल्म यूनिट खुशी से चिल्ला पड़ी, ग्रेट शॉट। इस सीन के बाद पुनीत इस्सर पूरे देश के लिए विलेन बन गए थे।

    60 बोतल खून

    60 बोतल खून

    अगले ही पल मुंबई के ब्रीच कैंडी में उनका ऑपरेशन हो रहा था। उन्हें 60 बोतल खून चढ़ाया गया। अस्तपताल में इलाज चलता रहा और बाहर पूरे देश में दुआओं का दौर। लोगों ने व्रत रखे, मन्नत मांगी और अमिताभ ने मौत को मात दे दी, ठीक होकर घर लौटे।

    बस एक गलती

    बस एक गलती

    जल्दबाज़ी में इनमें से किसी एक बोतल का टेस्ट छूट गया और इस बोतल का खून में हेपिटाईटिस बी के अंश थे। और यही बोतल अमिताभ बच्चन को चढ़ा दी गई। अस्पताल की ये एक गलती अमिताभ बच्चन पर बहुत भारी पड़ गई थी।

    20 साल तक नहीं पता

    20 साल तक नहीं पता

    अस्पताल की गलती के कारण अमिताभ बच्चन हेपिटाईटिस बी के शिकार हो गए। हेपिटाईटिस बी के कारण, अमिताभ बच्चन का लीवर खराब हो गया और उन्हें अपनी इस बीमारी के बारे में 20 साल बाद पता चल पाया। तब तक उनका 75 प्रतिशत लीवर खराब हो चुका था। फिलहाल वो केवल 25 प्रतिशत लीवर पर जी रहे हैं।

    टीबी के भी मरीज़

    टीबी के भी मरीज़

    अमिताभ बच्चन को एक समय में टीबी भी था लेकिन उन्होंने कभी इसका टेस्ट नहीं कराया। उन्हें अपनी इस बीमारी का पता, बीमारी के 8 साल बाद लगा और तब तक स्थिति काफी बिगड़ चुकी थी।

    सबको दी सलाह

    सबको दी सलाह

    जहां लीवर के बारे में उन्हें 20 साल बाद पता चला, वहीं टीबी के बारे में 8 साल बाद। एक इंटरव्यू में उनका कहना था कि जब मेरे जैसा सुख - सुविधा से संपन्न आदमी इतने गंभीर मुद्दे को टाल सकता है तो बाकी लोग भी करते होंगे। उन्होंने सबसे लगातार चेकअप करवाने की गुज़ारिश भी की।

    हैमस्ट्रिंग से जूझ रहे थे

    हैमस्ट्रिंग से जूझ रहे थे

    कुछ महीनों पहले भी अमिताभ बच्चन ने एक ब्लॉग पोस्ट में अपनी तबीयत के बारे में बताते हुए लिखा था - मेरी गर्दन, हैमस्ट्रिंग, पीठ के निचले हिस्से और कलाई में चोट थी। काफी समय से मैं ऐसे ही बैठा रहा हूं। बुखार में था। डॉक्टर ने मुझे बेड रेस्ट करने की सलाह दी थी और यात्रा करने से मना कर दिया था।

    आने वाली है फिल्म

    आने वाली है फिल्म

    अमिताभ बच्चन की फिल्म गुलाबो सिताबो जून में अमेज़ॉन प्राइम पर रिलीज़ होने वाली है। वहीं उनकी फिल्म झुंड भी जल्दी ही कि OTT पर ही रिलीज़ हो सकती है।

    English summary
    Amitabh Bachchan in his blog shared his ICU days when he was bravely fighting death after his fatal coolie accident.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X