For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    'पृथ्वीराज रासो' महाकाव्य पर आधारित है अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज' , निर्देशक ने बताई नई डिटेल

    |

    डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी के मन में युगांतरकारी ग्रंथों का अनुकूलन करके उन्हें उतने ही शानदार सिनेमा में परिवर्तित कर देने की एक गहरी आसक्ति बसी हुई है। वह 'पिंजर' और 'मोहल्ला असी' जैसी बेहद अर्थपूर्ण व प्रशंसनीय फिल्मों के कर्ता-धर्ता रहे हैं तथा उन्होंने प्रतिष्ठित टेलीविजन धारावाहिक 'चाणक्य' का निर्देशन भी किया था।

    यह फिल्मनिर्माता अपनी अगली फिल्म 'पृथ्वीराज' में व्यस्त है, जिसमें अक्षय कुमार और मानुषी छिल्लर मुख्य भूमिकाएं निभा रहे हैं। विश्व पुस्तक दिवस के अवसर पर डॉ. द्विवेदी बता रहे हैं कि पृथ्वीराज रासो महाकाव्य इस बहु-प्रतीक्षित ऐतिहासिक फिल्म की प्रेरणा कैसे बना।

    "पृथ्वीराज फिल्म मुख्य तौर पर पृथ्वीराज रासो नामक एक मध्यकालीन महाकाव्य पर आधारित है, जिसकी रचना महाकवि चंद बरदाई ने की थी। रासो के चंद अलग-अलग संस्करणों के अलावा सम्राट पृथ्वीराज के जीवन और उनके काल को लेकर काफी साहित्यिक लेखन किया गया है। इसके अतिरिक्त रासो की कुछ टीकाएं और भाष्य भी मौजूद हैं।"- जानकारी दे रहे हैं डॉ. द्विवेदी।

    डॉ. द्विवेदी का कहना है कि पृथ्वीराज फिल्म बनाने के लिए उनको इस शूरवीर सम्राट के बारे में गहन शोध करना पड़ा। वह बताते हैं, "मैं व्यापक और गंभीर शोधकार्य में डूब जाया करता हूं, क्योंकि मुझे भारत के महानायकों और उनके कालखंडों वाली अज्ञात एवं अनछुई दुनिया में प्रवेश करने की प्रक्रिया बहुत आनंदित करती है। यह उन महान चरित्रों के साथ उन्हीं के दौर में जाकर संवाद करने जैसी प्रक्रिया है। मुझे विश्वास है कि अधिकतर लेखकों ने इस विचित्र तथ्य का अनुभव अवश्य किया होगा।"

    आंकड़ों की खोज

    आंकड़ों की खोज

    वह आगे कहते हैं, "कहानी के अलावा मुझे कला, पुरातत्व, वेशभूषा, भौतिक संस्कृति तथा उपलब्ध ऐतिहासिक आंकड़ों की खोज करना बहुत भाता है। दूसरे शब्दों में कहें तो किसी युग या उस युग के व्यक्तित्वों की पुनर्रचना करने के लिए किसी साहित्यिक कृति या ऐतिहासिक गल्प के पृष्ठों की पुरातात्विक खोज और उत्खनन करना मुझे अत्यधिक पसंद है। एक ऐसा कलाविद होने के नाते मुझे इस कार्य से अत्यधिक प्रसन्नता और संतुष्टि मिलती है, जो लाइट्स और कैमरा के सहारे सिनेमा के कैनवास पर चित्र बनाना चाहता है।"

    पीढ़ियों को प्रेरणा देते रहेंगे

    पीढ़ियों को प्रेरणा देते रहेंगे

    इस फिल्मनिर्माता का मानना है कि पृथ्वीराज जैसे महान योद्धाओं की गाथाएं वर्तमान युग में भी बेहद प्रासंगिक हैं, जहां अच्छाई का बुराई के साथ सतत संघर्ष चल रहा है। उनकी सोच स्पष्ट है- "मैं पृथ्वीराज जैसे महान चरित्रों को युवा दर्शकों की दृष्टि में प्रासंगिक बनाने हेतु नहीं चुनता। मैं सिनेमा के लिए उनको अपना विषय इसलिए बनाता हूं कि ये चरित्र हमारे समय में भी प्रासंगिक हैं और आने वाले हर युग के लिए भी प्रासंगिक रहेंगे। ये महान ऐतिहासिक चरित्रों की आकाशगंगा के ऐसे चमकते नक्षत्र हैं, जो आगामी कई पीढ़ियों को प्रेरणा देते रहेंगे।"

    महान योद्धा

    महान योद्धा

    पृथ्वीराज के रूप में यशराज फिल्म्स अपनी सबसे बड़ी ऐतिहासिक फिल्म बना रहे हैं, जो निर्भीक और शक्तिशाली सम्राट पृथ्वीराज चौहान के जीवन तथा उनके साहस, पराक्रम और प्रताप पर आधारित है। सुपरस्टार अक्षय कुमार किंवदंती बन चुके इस महान योद्धा की भूमिका निभा रहे हैं, जिसने गोर के क्रूर हमलावर मोहम्मद के विरुद्ध वीरतापूर्वक युद्ध किए थे। अलौकिक सुंदरी मानुषी छिल्लर वीर पृथ्वीराज की प्रेमिका संयोगिता का किरदार निभा रही हैं। इस फिल्म से होने वाली मानुषी की शुरुआत निस्संदेह रूप से 2021 का बहु-प्रतीक्षित डेब्यू साबित होने जा रही है।

    कैसा है सलमान खान की 'राधे' का रिलीज मॉडल? सिनेमाघर के मालिक और ट्रेड एनालिटिक्स की रायकैसा है सलमान खान की 'राधे' का रिलीज मॉडल? सिनेमाघर के मालिक और ट्रेड एनालिटिक्स की राय

    English summary
    akshay kumar prithviraj film based on prithviraj raso epic poem told director Chandraprakash Dwivedi
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X