For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Shocking..पहला लुक आउट..शूटिंग के लिए निकली टीम और सुपरस्टार ने छोड़ दी फिल्म

    By Shweta
    |

    अभिषेक बच्चन के फैन्स के लिए ये बुरी खबर भी हो सकती है। अभी ज्यादा समय नहीं हुआ है जब अभिषेक बच्चन ने खुद घोषणा की थी कि वो जेपी दत्ता की फिल्म पलटन का हिस्सा हैं और फिल्म का पहला लुक भी शेयर किया गया था लेकिन अब अभिषेक बच्चन ने अचानक यह फिल्म छोड़ दी है।

    जेपी दत्ता की बेटी निधि दत्ता ने इस खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि, 'अभिषेक बच्चन अब पलटन का हिस्सा नहीं हैं। उन्होंने निजी कारणों की वजह से फिल्म छोड़ने का फैसला किया है। यह हम सभी के लिए काफी शॉकिंग न्यूज है क्योंकि अब हम लोगों को उनका रिप्लेसमेंट ढूंढना होगा। फिल्म की पूरी टीम अब लदाख में पहुच चुकी है। हम बहुत जल्द अभिषेक बच्चन के रिप्लेसमेंट को तलाश लेंगे।

    अभिषेक बच्चन के फैन्स लंबे समय से उनकी एक फिल्म का इंतजार कर रहे हैं। पिछले काफी समय से अभिषेक बच्चन ज्यादातर सपोर्टिंग रोल में नजर आते हैं और फैन्स उनसे सोलो फिल्म चाहते हैं। खैर वजह जो भी हो लेकिन उनके फैन्स के लिए ये काफी शॉकिंग खबर है।

    अभिषेक बच्चन फिलहाल कई और प्रोजेक्ट पर बात कर रहे हैं और उम्मीद है कि वो कुछ और फिल्मों की घोषणा करेंगे लेकिन बड़ी बात ये है कि पलटन छोड़ना कहीं उनके करियर के लिए गलत फैसला साबित ना हो। पहले भी अभिषेक बच्चन ऐसी गलतियां कर चुके हैं।

    गलत सेलेक्शन

    गलत सेलेक्शन

    अभिषेक ने डेब्यू के लिए सहीं फिल्म नहीं चुन पाए।उन्हें कोई ऐसी फिल्म चुननी चाहिए थी जिसमें वो एक नॉर्मल स्मार्ट उस जमाने के लड़के की तरह होते जैसी डेब्यू ऋतिक ने की थी।

    मेहनत में कमी

    मेहनत में कमी

    कहीं ना कहीं अभिषेक मेहनत करने में चुक गए। उन्हें फिल्मों में रोल के हिसाब से ज्यादा मेहनत नहीं की जिससे उनकी इमेज एक मेहनती एक्टर की बनती जो रणबीर कपूर के साथ हुआ। जब-जब उन्होंने ऐसा किया वो हिट रहे चाहे वो युवा, बंटी और बबली या गुरू हो।

    हर फिल्म को हां

    हर फिल्म को हां

    अभिषेक ने कई ऐसी फिल्में की जो उन्हें नहीं चुनना चाहिए था जैसे अभिषेक की ‘तेरा जादू चल गया', ‘ढाई अक्षर प्रेम के', ‘बस इतना सा ख्वाब है', ‘हां मैंने भी प्यार किया है', ‘शरारत', ‘मैं प्रेम की दीवानी हूं', ‘मुंबई से आया मेरा दोस्त', ‘कुछ ना कहो', ‘जमीन', ‘रन', ‘फिर मिलेंगे', ‘नाच', ‘दस', ‘लागा चुनरी में दाग', ‘झूम बराबर झूम', ‘द्रोणा', ‘रावण', ‘खेले हम जी जान से' व अन्य फिल्में बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरी.

    सपोर्टिंग एक्टर

    सपोर्टिंग एक्टर

    अभिषेक का सपोर्टिंग एक्टरके लिए हां कहना उनपर भारी पड़ गया और गेस्ट जैसे कभी धूम, बोल बच्चन, और हैप्पी न्यू इयर।

    नहीं बन पाए ट्रेंडसेटर

    नहीं बन पाए ट्रेंडसेटर

    कोई भी स्टार बॉलीवुड में आते हीं अगर ट्रेंडसेटर बनता है तो लोग उसे फॉलो करते हैं जैसे ऋतिक अपने स्टाइल और ड्रेसिंग के मामले में ट्रेंड सेट किए तो करीना भी इसी राह पर चलीं।

    पा के स्टारडम का दबाब

    पा के स्टारडम का दबाब

    इसमें कोई शक नहीं है कि अभिषेक को उपर अमिताभ के बेटे होने का शुरू से दबाब था। हालांकि वो इससे अच्छी तरह से निपटे लेकिन दबाब का असर फिल्मों पर जरूर दिखा तभी वो शायद गलत फिल्में भी लगातार कर बैठे

    'बच्चन' होने का दबाब

    'बच्चन' होने का दबाब

    बच्चन फैमिली के मेंबर होने के कारण उनकी हर एक्टिविटी पर लोगों की नजर रहने लगी।

    भटका ध्यान

    भटका ध्यान

    अभिषेक बच्चन ने प्रो कबड्डी लीग में अपनी एक टीम उतारी और उसे जयपुर पिंक पैंथर्स नाम दिया। उनके इस प्रयास को अमिताभ ने भी सराहा है लेकिन कहीं इसका असर उनके फिल्मी करियर पर ना पड़े जैसा प्रीति जिंटा के साथ हुआ कि वो बिजनस में इतनी बिजी हो गई कि फिल्मों के लिए समय हीं नहीं बचा।

    फिल्मों से दूरी

    फिल्मों से दूरी

    अभिषेक बच्चन के पास ऑफर्स की कोई कमी नहीं हैं लेकिन वो किसी भी प्रोजेक्ट को ऑफिशियली हामी नहीं भरी है। अगर वो ऐसे ही लंबे अरसे तक फिल्मों से दूर रहेंगे तो जाहिर है कि फैन्स की दिलचस्पी घटती जाएगी।

    English summary
    Abhishek Bachchan walks out of JP Dutta’s Paltan.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X