For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    अनाउंस हुई फिल्मफेयर की खास नॉमिनेशन लिस्ट...ये सुपरस्टार होगा BEST ACTOR

    |

    फिल्मफेयर की नॉमिनेशन लिस्ट जारी होते ही हर तरफ एक ही हल्ला था। इस साल भी राजकुमार राव का नाम बेस्ट एक्टर लिस्ट से गायब था। राजकुमार राव की न्यूटन को दुनिया भर में अवार्ड्स की भरमार हो चुकी है लेकिन यहां फिल्मफेयर की लिस्ट से उनका नाम गायब था।

    ज़ी सिने अवार्ड्स में भी राजकुमार की न्यूटन को बेस्ट एक्टर के लिए इग्नोर किया गया और उन्हें एक Extraordinary Award थमा दिया गया था जिसे लेते ही राजकुमार राव ने कहा कि ये शायद मुझे न्यूटन के लिए मिला है।

    खैर, अब काफी हो हल्ले के बाद फिल्मफेयर ने भरपाई की है। फिल्मफेयर ने क्रिटिक्स चॉइस की नॉमिनेशन लिस्ट जारी कर दी है। और इस लिस्ट में राजकुमार राव को स्थान मिल चुका है।

    गौरतलब है कि फिल्मफेयर ने हमेशा ही पॉपुलर फिल्मों को ज़्यादा तरजीह दी है। हालांकि इस साल स्टार स्क्रीन अवार्ड्स ने रूख बदलते हुए राजकुमार राव को बेस्ट एक्टर पॉपुलर और क्रिटिक्स दोनों अवार्ड थमा दिए।

    यहां देखिए फिल्मफेयर के क्रिटिक्स नॉमिनेशन -

    बेस्ट एक्टर क्रिटिक्स Male

    बेस्ट एक्टर क्रिटिक्स Male

    रणबीर कपूर - जग्गा जासूस
    राजकुमार राव - न्यूटन
    विक्रांत मैसी - डेथ इन द गंज
    इरफान खान - हिंदी मीडियम
    राजकुमार राव - ट्रैप्ड

    किसकी होगी जीत

    किसकी होगी जीत

    अगर देखा जाए तो जहां इरफान ने एक ही फिल्म में दो विपरीत किरदार निभाए वहीं दूसरी तरफ रणबीर कपूर ने फिर खुद को ही चैलेंज किया। राजकुमार राव ने ट्रैप्ड अकेले संभाली है 2 घंटा तो न्यूटन में उन्होंने दमदार अभिनय से बांधा है। वहीं विक्रांत मैसी एक ऐसी फिल्म में थे जो अगर आपने नहीं देखी है तो गलती की है।

    किसे मिलेगी जीत

    किसे मिलेगी जीत

    अब देखना है कि जीत किसकी होती है लेकिन अगर नॉमिनेशन देखे जाएं तो हक केवल दो ही लोगों का है - राजुकमार राव और विक्रांत मैसी।

    बेस्ट एक्टर क्रिटिक्स Female

    बेस्ट एक्टर क्रिटिक्स Female

    कंगना रनौत - रंगून
    श्रीदेवी - मॉम
    विद्या बालन - तुम्हारी सुलु
    ज़ायरा वसीम - सीक्रेट सुपरस्टार
    स्वरा भास्कर - अनारकली ऑफ आरा

    किसे मिलेगी जीत

    किसे मिलेगी जीत

    श्रीदेवी ने इस साल उस मां की भूमिका निभाई जो गलत और बहुत गलत में चुनना सिखाती है वहीं विद्या बालन ने हर काम के प्रति इज़्जत करना भी सिखा दिया। जहां ज़ायरा वसीम ने नन्हें सपनों को जीना सिखाया तो कंगना रनौत ने चमकीले सपनों को। लेकिन इस साल चौंकाया तो केवल स्वरा भास्कर ने अपनी एकदम बोल्ड चॉइस के साथ।

    गायब रह गईं कोंकणा

    गायब रह गईं कोंकणा

    कोंकणा सेन शर्मा लिपस्टिक अंडर माय बुरखा में दमदार अभिनय के बावजूद गायब रह गईं। इस साल ये अवार्ड ज़ायरा वसीम या स्वरा भास्कर ले जा सकती हैं।

    बेस्ट फिल्म क्रिटिक्स

    बेस्ट फिल्म क्रिटिक्स

    डेथ इन द गंज
    लिपस्टिक अंडर माय बुरखा
    मुक्ति भवन
    न्यूटन
    ट्रैप्ड

    किसकी होगी जीत

    किसकी होगी जीत

    डेथ इन द गंज जहां कई फिल्म फेस्टिवल में नाम कमा चुकी है वहीं न्यूटन ने भी हर जगह हर किसी का दिल जीता है। ट्रैप्ड को सारा श्रेय केवल इसलिए दिया जाना चाहिए क्योंकि केवल एक इंसान इस पूरी फिल्म को जी गया है। लिपस्टिक अंडर माय बुरखा एक बोल्ड एक्सपेरिमेंट है और मुक्ति भवन एक भावुक ट्रिप।

    बिल्कुल अलग अनुभव

    बिल्कुल अलग अनुभव

    क्रिटिक्स की कसौटी पर जो दो फिल्में खरी उतर सकती हैं वो हैं ट्रैप्ड और डेथ इन द गंज।

    अलग नज़रिया

    अलग नज़रिया

    हालांकि हिंदी मीडियम और न्यूटन हर लिहाज़ से चाहे कॉमर्शियल हो, क्रिटिक्स हो या पॉपुलर, इस साल की दो बेस्ट फिल्में हैं।

    English summary
    63rd Filmfare Awards 2018 - Critics nominations announced.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X