For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    नेताओं ने भरी सभा में खींची थी जयललिता की साड़ी, थलाईवी में कंगना का रौंगटे खड़े कर देने वाला सीन

    |

    कंगना रनौत की जयललिता बायोपिक, थलाईवी का ट्रेलर जिसने भी देखा, उसके रौंगटे खड़े हो गए। ट्रेलर के कुछ सीन देखकर तो ऐसा लगा कि सच में जयललिता ही परदे पर उतर आई हैं। ट्रेलर का एक सीन है जहां, कंगना रनौत का चीर हरण होता है और वो खुद को द्रौपदी और सभा के बाकी नेताओं को कौरव कहती हैं।

    इस घटना को 25 मार्च को पूरे 32 साल हो जाएंगे। जी हां, 25 मार्च 1989 में तमिलनाडु की विधान सभा में जयललिता के साथ इतनी शर्मनाक हरकत हुई जो कि भारत की राजनीति के काले पन्नों में दर्ज है।

    फिल्म में कंगना ने इस सीन को उतनी ही सच्चाई से निभाया है। वहीं इस सीन के डायलॉग्स सुनकर किसी का भी दिल दहल जाता है। तो सोचिए, जयललिता के साथ नेताओं से भरी सभा में ऐसा सच में हुआ था। लेकिन जयललिता डर के बैठ जाने वाली महिलाओं में से नहीं थीं।

    तमिलनाडूू की पहली महिला नेता विपक्ष

    तमिलनाडूू की पहली महिला नेता विपक्ष

    जयललिता, तमिलनाडू की पहली महिला नेता विपक्ष थीं और ये बात कईयों के गले के नीचे नहीं उतरी। 1987 में MGR के निधन के बाद जयललिता ने AAIDMK की कमान संभाली थी।

    घटी अप्रिय घटना

    घटी अप्रिय घटना

    25 मार्च 1989 को जयललिता के साथ तमिलनाडू विधानसभा में बहुत ही अप्रिय घटना घटी। जयललिता ने उस समय के मुख्यमंत्री करूणानिधि और उनके MLA को चोर कहा। इसके बाद करूणानिधि ने जयललिता के चरित्र पर उंगली उठाई।

    लगातार की कोशिश

    लगातार की कोशिश

    इतना ही नहीं, उन पर DMK के नेताओं ने आक्रमण करते हुए उनकी साड़ी का खुला हुआ हिस्सा खींच दिया। जयललिता अपनी इज़्जत बचाने की कोशिश करती रहीं। बाद में जयललिता ने मीडिया को उन पर हुए हमले से आई चोटों के निशान तक दिखाए।

    सबको दी चेतावनी

    सबको दी चेतावनी

    लेकिन जयललिता चुप बैठने वालों में से नहीं थीं। उन्होंने सबको चेतावनी देते हुए कहा कि भले ही वो ये सभा छोड़ रही है लेकिन लौटेंगी तो राज करने के लिए।

    बनीं मुख्यमंत्री

    बनीं मुख्यमंत्री

    इसके दो साल बाद, जयललिता ने उसी विधान सभा में बतौर मुख्यमंत्री शपथ ली और फिर सबको नाकों चने चबवाए।

    राजनीति में लेकर आए MGR

    राजनीति में लेकर आए MGR

    जयललिता को राजनीति में लेकर आने वाले थे मशहूर तमिल एक्टर एमजी रामचंद्रन। उन्होंने और जयललिता ने साथ में 30 फिल्में की थीं। इसके बाद MGR ने राजनीति में कदम रखा और 1977 से 1987 तक तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे।

    मौत पर भी तमाशा

    मौत पर भी तमाशा

    MGR को जयललिता अपना गुरू मानती थीं भले ही लोगों ने उनके रिश्ते को कई नाम दिए। MGR के निधन के बाद जयललिता उनके शरीर के पास घंटों बैठी रहीं। फिर जब अंतिम संस्कार के लिए वो MGR के शरीर के साथ ट्रक पर चढ़ीं तो MGR की पत्नी और परिवार ने इसका विरोध किया और जयललिता को धक्के देकर हटाया गया।

    सबसे प्यारी मुख्यमंत्री

    सबसे प्यारी मुख्यमंत्री

    देखते देखते जयललिता, तमिलनाडु की सबसे प्यारी मुख्यमंत्री बनकर उभरीं। उन्हें लोग अम्मा कहने लगे। उन्होंने गरीबों के लिए बहुत काम किया और उनकी अम्मा कैंटीन में लोगों को बेहद कम दाम पर खाना मिलता है।

    कंगना ने निभाई है कहानी

    कंगना ने निभाई है कहानी

    थलाईवी के ट्रेलर को देखकर ये साफ है कि कंगना रनौत पूरी तरह से जयललिता के किरदार में समा गई हैं। परदे पर उन्हें देखकर ऐसा लगता ही नहीं कि आप कंगना रनौत को देख रहे हैं।

    रिलीज़ का इंतज़ार

    रिलीज़ का इंतज़ार

    फैन्स को थलाईवी का ट्रेलर बहुत पसंद आया है। यही कारण है कि अब इस फिल्म का बेसब्री से इंतज़ार हो रहा है। फिल्म का ट्रेलर देखने के बाद लोगों ने एलान कर दिया है कि इस फिल्म के लिए कंगना रनौत को उनका पांचवा नेशनल अवार्ड मिलना तय है।

    English summary
    On 25 March 1989 Jayalalitha was assaulted in Tamil Nadu assembly. 32 years later, Kangana Ranaut recreated the scene in Thalaivi giving the audiences goosebumps.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X