For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    जब लता मंगेशकर ने गाने से किया इंकार

    |

    तेरी चढ़ती जवानी तड़पे गाने में लता मंगेशकर की आवाज सुनकर लाखों श्रोता खो जाते होंगे लेकिन यह बात कम ही लोग जानते होंगे कि पहले इस गाने को अपने सुर देने के लिए लता ने साफतौर पर इंकार कर दिया था।

    जी हां सुरों की इस मलिका ने पहली बार गीत के बोल पढे़ थे तो इन पर एतराज जताते हुए इस गीत को अपनी आवाज देने से साफ इंकार कर दिया था। यह खुलासा मशहूर संगीतकार राजेश रोशन ने किया, जिन्होंने फिल्म दिल तुझको दिया 1987 का यह हिट गीत लिखा था और इसकी धुन तैयार की थी।

    रोशन को मध्यप्रदेश सरकार द्वारा 27 वां राष्ट्रीय लता मंगेशकर सम्मान दिया गया इसे ग्रहण करने से पहले, लताजी ने स्टूडियो में रिकॉर्डिंग के पहले इस गाने के बोल पढे़ तो वह नाराज हो गईं। जब मैंने उन्हें भरोसा दिलाया कि यह गाना हिट साबित होगा, वह तब भी नहीं मानीं और अपने एक सहयोगी को बुलाकर कहा कि वह रिकॉर्डिंग नहीं करना चाहतीं।

    मशहूर संगीतकार ने बताया, जब मैंने इस गीत पर लताजी का यह रुख देखा तो मुझे घबराहट हुई। फिर मैंने उन्हें फिल्म चित्रलेखा के उस गाने की याद दिलाई, जिसके बोलों में नायिका कलियों की सेज सजाने का जिक्र करती है। इस गाने को मेरे पिता रोशन ने संगीतबद्ध किया था और इसे लताजी ने अपनी आवाज दी थी।

    जूनियर रोशन ने अतीत की मीठी यादों में खोते हुए बताया, मेरी बात सुनते ही लताजी मुस्कुराने लगीं और कहा कि अगर उन्होंने रोशन साहब का यह गाना गाया है तो वह मेरे गीत मेरी चढ़ती जवानी तड़पे को भी अपनी आवाज देंगी।

    English summary
    The Famous Music director Rajesh Roshan get Lata Mangeshkar Samman for 2010-11 by the Madhya pradesh state government.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X