होमbredcrumbमूवीजbredcrumbखानदानी शफाखानाbredcrumbआलोचनात्मक समीक्षा

    आलोचनात्मक समीक्षा

    • हमारे समाज में सेक्स शब्द या उससे जुड़ी बीमारियों को लेकर बात करना आज भी असंगत माना जाता है। इस फिल्‍म के माध्‍यम से इसी दबी-कुचली संकुचित विचारधारा को बदलने की कोशिश की गई है। लेकिन कमजोर कहानी मुद्दे को मात दे जाती है।
     
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X