होमbredcrumbमूवीजbredcrumbडिबुकbredcrumbआलोचनात्मक समीक्षा

    आलोचनात्मक समीक्षा

    • डिबुक में बंद आत्मा की कहानी में रोमांच की कमी है, जो फिल्म को और कमजोर बनाती है। खासकर फिल्म का क्लाईमैक्स निराश करता है। फिल्म के स्पेशल इफैक्ट्स और बैकग्राउंड स्कोर एक पॉजिटिव पक्ष है। फिल्म के पक्ष जो काम नहीं करता है, वो है हर कदम पर रहस्य पैदा करने की कोशिश।

      Read more at: https://hindi.filmibeat.com/reviews/dybbuk-movie-review-emraan-hashmi-nikita-dutta-horror-film-fails-to-give-enough-chills-101347.html?story=3
     
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X