»   » INTERVIEW: ''मैं आज से नहीं.. 2006 से ही सुपरस्टार हूं....''- सुशांत सिंह राजपूत

INTERVIEW: ''मैं आज से नहीं.. 2006 से ही सुपरस्टार हूं....''- सुशांत सिंह राजपूत

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

लाखों दिलों की धड़कन सुशांत सिंह राजपूत आजकल अपनी आने वाली फिल्म राबता को लेकर काफी उत्साहित हैं। दिनेश विज़न के निर्देशन में बनी यह फिल्म 9 जून को देशभर में रिलीज होने वाली है। 

सनी देओल की धमाकेदार ब्लॉकबस्टर फिल्म.. सीक्वल है FINAL

फिलहाल सुशांत फिल्म के प्रमोशन में काफी व्यस्त हैं, जिस बीच उन्होंने थोड़ा वक्त निकालकर फिल्मीबीट से भी बातें की। इंटरव्यू के दौरान सुशांत ने अपनी आने वाली फिल्मों से लेकर, अपनी पर्सनल लाइफ से जुड़ी बातें भी शेयर कीं। 

Sushant Singh Rajput

राबता पुनर्जन्म की कहानी है जहां सुशांत और कृति सैनन एक साथ दो बिल्कुल अलग अलग तरह की किरदारों में दिखेंगे। सुशांत के अनुसार यह फिल्म उनके लिए काफी चैलेजिंग रही। उन्होंने इस फिल्म में काफी मेहनत की है, लिहाजा, उम्मीद करते हैं कि फैंस को फिल्म पसंद आएगी।

यहां पढ़ें इंटरव्यू के कुछ महत्वपूर्ण अंश- 

फिल्मों के प्रमोशन को लेकर क्या सोचते हैं?

फिल्मों के प्रमोशन को लेकर क्या सोचते हैं?

लोगों को सिर्फ इस बात की जानकारी देनी चाहिए कि इस दिन मेरी फिल्म आ रही है। ताकि वे सोच पाएं कि फिल्म देखनी है या नहीं। उसके बाद कुछ भी हो जाए.. मैं कुछ भी करूं.. नाचूं, गाऊं.. लेकिन आप फिल्म देखने नहीं आओगे.. यदि आपको ट्रेलर अच्छी नहीं लगी है तो। आप पूरे परिवार के साथ फिल्म देखने जाओगे.. पैसे खर्च करोगे.. सिर्फ इसीलिए क्योंकि मैंने बोली है! कभी नहीं.. आपको ट्रेलर अच्छा लगेगा.. सिर्फ तभी आप देखोगे।

राबता को लेकर आप कितने आश्वत हैं?

राबता को लेकर आप कितने आश्वत हैं?

बतौर एक्टर मैं राबता को लेकर बहुत कॉफिडेंट हूं। मैं हर वो काम करने को लेकर काफी उत्साहित रहता हूं, जो मैंने नहीं की होती है। लेकिन एक इंसान के तौर पर मैं किसी भी फिल्म को लेकर ज्यादा कॉफिडेंट नहीं रह सकता..

मिसाल के तौर पर मेरी फिल्म आई थी.. ब्योमकेश बख्शी। मैंने उस फिल्म के लिए बहुत ही मेहनत की थी। उतनी ही जितनी मैंने धोनी के लिए की थी। लेकिन फिल्म ने शुक्रवार को नहीं कमाई.. मैं सोचता रहा। शनिवार भी कमाई नहीं की.. रविवार भी नहीं की। मुझे दुख हुआ। लेकिन सोमवार को फिर मैं नॉर्मल हो गया।

वहीं, धोनी ने शुरुआती तीन दिनों में करोड़ों में कमाई की.. मैं बहुत ही खुश था। लेकिन सोमवार को मैं फिर नॉर्मल हो गया। कुल मिलाकर मैं सिर्फ तीन चार दिनों के लिए अपनी पूरी 6-7 महीने की मेहनत को नजरअंदाज़ नहीं कर सकता। हर फिल्म के लिए शुक्रवार जनता का है.. लेकिन सोमवार तो मेरा ही है।

धोनी के बाद कई फिल्मों के ऑफर

धोनी के बाद कई फिल्मों के ऑफर

धोनी सफल हुई थी.. उसके बाद कुछ कारणों से मेरी अगली फिल्म चार महीनों के लिए पोस्टपोंड हो गई। तो उन चार महीनों में मुझे 4 से 5 फिल्में ऑफर हुईं। एक तो काफी अच्छी थी.. मैं उस डाइरेक्टर की भी काफी कद्र करता हूं। मुझे फीस भी अच्छी मिल रही थी.. लेकिन उस फिल्म का किरदार ही मुझे आकर्षित नहीं कर पाया। मैंने रिजेक्ट कर दिया। बल्कि उन चार महीनों में मैंने थियेटर किया।

फिल्मों में प्रॉफिट शेयरिंग पर क्या सोचते हैं?

फिल्मों में प्रॉफिट शेयरिंग पर क्या सोचते हैं?

मैं क्यों लूं प्रॉफिट? मुझे चार, पांच ब्लॉकबस्टर फिल्में और दे लेने दीजिए.. फिर मेरी बात ज्यादा सटीक लगेगी। सच तो ये है कि मैं कितनी भी अच्छा एक्टर क्यों ना हूं.. कितना भी सेक्सी क्यों ना दिखता हूं.. किसी फिल्म को सफलता दिलाने में मेरा योगदान काफी कम होता है। और यदि मैं यह जानता हूं तो मैं प्रॉफिट क्यों लूं..
फिलहाल मेरे पास पांच फिल्में है.. पाचों ही काफी दमदार हैं.. और मैं ज्यादा और कुछ नहीं चाह सकता। मैं खुद को भाग्यशाली महसूस करता हूं।

राबता पुनर्जन्म की कहानी है.. तो आप पुनर्जन्म को कितना मानते हैं?

राबता पुनर्जन्म की कहानी है.. तो आप पुनर्जन्म को कितना मानते हैं?

मैं बिल्कुल भी नहीं मानता। फिल्म होती ही इसीलिए है कि जो आप नहीं जानते.. या नहीं देखते.. वो देख सके। जंगल बुक में जानवर आपस में बातें करते हैं, लेकिन ऐसा होता तो नहीं है। बस कहानी कहने का अपना एक तरीका होता है.. आप उसे कितना दिलचस्प बना सकते हैं। बाकी आप उस पर विश्वास करते हैं या नहीं.. कोई फर्क नहीं पड़ता।

उदाहरण के तौर पर.. आपको तो शुरु से पता था कि मैं धोनी नहीं हूं, लेकिन आप फिल्म देखने आए। तो जब तक आप बहुत बुरे एक्टर नहीं है.. या कहानी बहुत बुरी नहीं है.. आप विश्वास कर लेते हो।

मैं सुपरस्टार हूं

मैं सुपरस्टार हूं

मैं एक मिडिल क्लास लड़का था, जिसके लिए फिल्मों में आना कोई छोटी बात नहीं थी। मेरे लिए पैसे कमाना काफी मायने रखता था। लिहाजा जो लोग भी यह कहते हैं कि धोनी के बाद मैं खुद को स्टार समझने लग गया.. ये और वो.. मैं उन लोगों को बता देना चाहता हूं कि जिस दिन मैंने इंजीनियरिंग छोड़कर मुंबई आने और फिल्मों में काम करने का फैसला लिया.. उसी दिन मैं अपने दिमाग में सुपरस्टार बन गया।

कोई कुछ भी सोचे.. मैं जानता हूं कि मैं सुपरस्टार हूं। मुझे पागल तब होना चाहिए था.. जब मुझे पहली फिल्म मिली थी। मैं अब क्यों पागल होउंगा.. जब मेरे पास 10 फिल्में लाइन में हैं। मैं 2006 से ही सुपरस्टार हूं..

खुद पर इतनी अफवाह पढ़ चुका हूं, जो मुझे भी पता नहीं होता

खुद पर इतनी अफवाह पढ़ चुका हूं, जो मुझे भी पता नहीं होता

आज बात अच्छी खबरों की नहीं रही.. कितनी ज्यादा खबरें लिख रहे हो.. वो हो गई है। हर दिन किसी ना किसी को तो चक्की में पिसना ही है। तो कभी कभी मैं भी पिस जाता हूं। मुझे लेकर तो इतनी अफवाहें उड़ चुकी हैं कि अब मुझे फर्क ही नहीं पड़ता।

बॉक्स ऑफिस पर एक्टर चलते हैं या कहानी

बॉक्स ऑफिस पर एक्टर चलते हैं या कहानी

यहां कोई मंत्र नहीं है। एक डाइरेक्टर की पहली फिल्म बॉक्स ऑफिस हिट हो जाती है.. लेकिन जरूरी नहीं कि उसकी दूसरी फिल्म भी उतनी ही हिट हो। जहां तक एक्टर के चलने की बात है.. तो कोई एक्टर बॉक्स ऑफिस पर कैसे फिल्म चला सकता है.. हां, कुछ एक्टर हैं जैसे सलमान जिन्होंने वैसी फैन फॉलोइंग सालों में हासिल की है। लेकिन हर किसी के साथ ऐसा नहीं है।

English summary
Sushant Singh Rajput in an interview talks about his upcoming film Raabta and much more.
Please Wait while comments are loading...