»   » INTERVIEW: ''मुझे बॉक्स ऑफिस को लेकर ज्यादा फिक्र नहीं होती....''

INTERVIEW: ''मुझे बॉक्स ऑफिस को लेकर ज्यादा फिक्र नहीं होती....''

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

फिल्म 2010 में फिल्म 'लव सेक्स और धोखा' से डेब्यू करने वाले शानदार एक्टर राजकुमार राव एक दिन बॉलीवुड में इस मुकाम पर होंगे.. शायद किसी ने ना सोचा होगा। अपने अभिनय की काबिलियत और मेहनत से राजकुमार आज हर निर्देशक की पसंद हैं।

साल 2017 में बरेली की बर्फी से राजकुमार ने दर्शकों का दिल जीत ही लिया है। अब अगली फिल्म लेकर आ रहे हैं वो न्यूटन। सामाजिक मुद्दे पर बनी यह फिल्म इंटरनेश्नल स्तर पर काफी तारीफ बटोर चुकी है। भारत में फिल्म 22 सितंबर को रिलीज होगी।

Rajkummar Rao

इसी दौरान फिल्मीबीट ने टैलेंट के भंडार राजकुमार राव से कुछ खास बातचीत की। जहां उन्होंने अपनी फिल्मों के साथ साथ बॉलीवुड के अन्य पक्षों पर भी अपने विचार सामने रखे। 

यहां पढ़ें इंटरव्यू से कुछ प्रमुख अंश-

फिल्म न्यूटन के बारे में बताएं?

फिल्म न्यूटन के बारे में बताएं?

न्यूटन (नूतन कुमार).. जो कि मेरा किरदार है, वह नया सरकारी कर्मचारी है। जिसे छत्तीसगढ़ के जंगल इलाकों में सही तरीके से चुनाव कराने की जिम्मेदारी दी जाती है। न्यूटन काफी ईमानदार है और किस तरह वह सभी परेशानियों से जूझते हुए आगे बढ़ता है.. यही है न्यूटन की कहानी। यह सिर्फ एक दिन की कहानी है। इसे ब्लैक कॉमेडी कह सकते हैं.. लेकिन काफी अहम मुद्दे को उठाता है.. जो कि हमारे देश की चुनाव प्रक्रिया।

इस किरदार के कैसे तैयारी की?

इस किरदार के कैसे तैयारी की?

सच कहूं तो मुझे इसके लिए किसी की ज्यादा मदद लेने की जरूरत नहीं पड़ी। न्यूटन.. जो कि मेरा किरदार काफी ईमानदार है, सच्चा है। जो कि रियल लाइफ में मैं भी हूं। मैं इससे तुरंत कनेक्ट हो गया। मैंने और निर्देशक ने किरदार पर लुक पर भी थोड़ा काम किया।

आज तक किस किरदार को करने में ज्यादा नर्वस हुए हैं?

आज तक किस किरदार को करने में ज्यादा नर्वस हुए हैं?

सभी फिल्मों में.. मैं कोई भी नया प्रोजेक्ट शुरु करने से पहले बहुत नर्वस होता हूं। लेकिन हां, हाल ही में मुझे नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी के किरदार को निभाने का मौका मिला। जिसे लेकर मैं बहुत ही ज्यादा नर्वस था.. कि मैं इतने महान इंसान को पर्दे पर कैसे ला पाउंगा।

नक्सली इलाकों में शूटिंग करने का अनुभव कैसा रहा?

नक्सली इलाकों में शूटिंग करने का अनुभव कैसा रहा?

शूटिंग से पहले मेरी भी सोच आम लोगों जैसी ही थी। लेकिन वहां लोगों ने जिस तरह से हमारा स्वागत किया.. वह काफी अच्छा रहा। हमने जंगलों में, अंदरुनी इलाकों में भी काफी शूटिंग की.. लेकिन शुक्र है.. किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। कहना चाहूंगा कि वहां कि खूबसूरती देखने लायक है।

एक किरदार से दूसरे किरदार का सफर कैसे पूरा करते हैं?

एक किरदार से दूसरे किरदार का सफर कैसे पूरा करते हैं?

शारीरिक तौर पर थोड़ा समय तो लगता है। क्योंकि हर किरदार की अपनी अलग पहचान होती है। उदाहरण के तौर पर नेताजी के रोल के लिए मैंने काफी वजन बढ़ाया था। अब मैं फिर वजन घटा रहा हूं। तो यह सब चलता रहता है। लेकिन दिमागी तौर पर खुद को किसी किरदार से निकालने के लिए मैं कुछ समय के लिए ब्रेक ले लेता हूं और कहीं घूमने चला जाता हूं।

बतौर एक्टर.. किस फिल्म से सबसे ज्यादा संतोष मिला?

बतौर एक्टर.. किस फिल्म से सबसे ज्यादा संतोष मिला?

सिटीलाइट्स

बरेली की बर्फी को इतना प्यार मिल रहा है.. कैसा अनुभव रहा?

बरेली की बर्फी को इतना प्यार मिल रहा है.. कैसा अनुभव रहा?

इस फिल्म के लिए मुझे लगता है राइटर्स को सबसे ज्यादा क्रेडिट देना चाहिए। फिल्म की कहानी बहुत ही सुदंर ढ़ंग से लिखी गई थी। फिल्म में वह बात थी कि यह ज्यादा से ज्यादा लोगों से कनेक्ट हो पाए। मैंने ज्यादा मेहनत ट्रैप्ड के लिए किया था.. लेकिन मुझे लगता है लोग बरेली की बर्फी को याद रखेंगे।

बॉक्स ऑफिस को लेकर कितनी फिक्र होती है?

बॉक्स ऑफिस को लेकर कितनी फिक्र होती है?

नहीं, मुझे बॉक्स ऑफिस को लेकर ज्यादा फिक्र नहीं होती है.. लेकिन हां चाहता हूं कि फिल्म इतना कमा ले कि प्रोड्यूर्स का पैसा निकल जाए।

ऐश्वर्या राय के साथ काम करने को लेकर कितने उत्साहित हैं?

ऐश्वर्या राय के साथ काम करने को लेकर कितने उत्साहित हैं?

बहुत ज्यादा.. (हंसते हुए) मैं ऐश्वर्या राय के साथ काम करने को लेकर बेहद उत्साहित हूं। फिल्म को लेकर मैं ज्यादा बात नहीं कर सकता.. लेकिन मैं खुश हूं।

English summary
In an exclusive interview Rajkummar Rao shares views on his upcoming film Newton.And his experience in bollywood.
Please Wait while comments are loading...

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi