»   » बोले अभय देओल..मैं फेल होने से नहीं घबराता

बोले अभय देओल..मैं फेल होने से नहीं घबराता

Posted By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

संजिदा अभिनय के जरिये लोगों के दिलों में अपनी जगह बनाने वाले अभिनेता अभय देओल ने कहा कि उन्हें फेल होने से डर नहीं लगता है। उनका कहना है कि बेशक मेरी प्रोड्यूस फिल्म 'वन बाय टू' को लोगों ने सिरे से नकार दिया तो इसका मतलब यह तो नहीं कि मैं फिल्में बनाना छोड़ दूंगा। सच कहूं तो मुझे असफलता से डर नहीं लगता है क्योंकि यह मुझे ज्यादा मजबूत बनाता है क्योंकि मेरा मानना है कि जिंदगी में सफलता की तुलना में असफलताएं कहीं अधिक सीख देती हैं।

मीडिया से बात करते हुए अभय ने कहा कि जिदगी में कुछ भी गलत नहीं है। गलत सिर्फ तब होता है जब आप गलती से सबक नहीं लेते और मैं मानता हूं कि लोग सफलता से ज्यादा अपनी असफलताओं से सीखते हैं। इसलिए मेरे लिए यह 'वन बाय टू' एक सीखने का अनुभव था।"

अभय ने कहा, "मेरे लिए प्रोडक्शन प्रक्रिया खत्म नहीं हुई है। आप छोड़ नहीं सकते। आप अपनी पहली फिल्म के निर्माण के बाद इतना कुछ सीखने के बाद अन्य फिल्में क्यों नहीं बनाना चाहोगे? आप अब अपनी दूसरी फिल्म के लिए ज्यादा अच्छे से तैयार हैं।"

आगे की खबर स्लाइडों में...

'वन बाय टू' बड़ी फ्लॉप फिल्म थी

'वन बाय टू' बड़ी फ्लॉप फिल्म थी

मालूम हो कि इस साल की शुरुआत में रिलीज हुई 'वन बाय टू' का निर्देशन देविका भगत ने किया। फिल्म में अभय के साथ उनकी प्रेमिका प्रीति देसाई ने भी अभिनय किया।

'वन बाय टू' का खराब बिजनेस

'वन बाय टू' का खराब बिजनेस

यह फिल्म करीब 15 करोड़ रुपये के बजट से बनी और यह अपने शुरुआती सप्ताहांत में महज 1.25 करोड़ और 1.5 करोड़ रुपये के बीच ही कमा पाई।

असफलता से नहीं घबराते अभय

असफलता से नहीं घबराते अभय

असफलता से ना घबराने वाले अभय इन दिनों अपनी फिल्म 'बाउन्टी हंर्ट्स' पर काम कर रहे हैं। वह इसे स्वयं बना रहे हैं और साथी ही इसमें अभिनय भी कर रहे हैं।

संजिदा एक्टर

संजिदा एक्टर

38 वर्षीय अभय ने वर्ष 2005 में 'सोचा ना था' फिल्म से बॉलीवुड में कदम रखा। उन्हें संजिदा अभिनय के लिए जाना जाता है।

लीक से हटकर फिल्मों में अभिनय

लीक से हटकर फिल्मों में अभिनय

अभय 'हनीमून ट्रवेल्स प्राइवेट लिमिटेड', 'एक चालिस की लास्ट ट्रेन', 'मनोरमा सिक्स फीट अंडर', 'ओए लक्की! लक्की ओए!', 'देव.डी' और 'चक्रव्यूह' सरीखी फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं।

English summary
After putting up a brave front by choosing unconventional roles on the screen, Abhay Deol tried his hand at film production with One By Two, but the film failed to impress moviegoers.
Please Wait while comments are loading...