»   » EXCLUSIVE: ''फिल्में 200, 300 करोड़ कमा रही है.. तो परेशानी क्या है!! ''

EXCLUSIVE: ''फिल्में 200, 300 करोड़ कमा रही है.. तो परेशानी क्या है!! ''

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

बॉलीवुड में कुछ स्टार्स होते हैं, कुछ एक्टर्स जो स्टार बनने चाह रखते हैं.. और कुछ सिर्फ कुछ एक्टर होतें हैं। नाना पाटेकर तीसरी लिस्ट में शामिल होते हैं। बॉलीवुड में एक से बढ़कर किरदार निभाने वाले यह एक्टर अपने दमदार अभिनय और खासकर डॉयलोग्स की वजह से आज भी घर घर में लोकप्रिय हैं। बता दें, नाना पाटेकर को तीन राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल है। 

[EXCLUSIVE: 'पिंक' से बिल्कुल अलग है फिल्म 'अनारकली ऑफ आरा']

हाल ही में नाना पाटेकर की फिल्म वेडिंग एनिवर्सरी रिलीज हुई है। हालांकि फिल्म को खास रिस्पॉस नहीं मिला, लेकिन नाना पाटेकर हमेशा की तरह अपने काम से बेहद संतुष्ट हैं। 

Nana Patekar

बहरहाल, फिल्म वेडिंग एनिवर्सरी के प्रमोशन के दौरान फिल्मीबीट ने नाना पाटेकर से कुछ खास बातचीत की। जहां उन्होंने अपनी फिल्म के साथ साथ.. बॉक्स ऑफिस आंकड़े और बदलते बॉलीवुड ट्रेंड पर बातें की।

यहां पढ़ें इंटरव्यू के कुछ प्रमुख अंश:

करियर से खुश हूं..

करियर से खुश हूं..

मैं खुश हूं.. सुकून ही सुकून है। मैं संतुष्ट हूं.. जहां कुछ गलत है तो उसके लिए मैं खुद ही जिम्मेदार हूं।जो कहानी मुझे लगती है, मैं करता हूं। हिंदी, मराठी या कोई भाषा से फर्क नहीं पड़ता।

बॉलीवुड को टिप्स

बॉलीवुड को टिप्स

घिसी पिटी प्रेम कहानियों को अब बंद कर देना चाहिए। वही नाच, गाना.. लोग इससे तंग आ चुके हैं। आजकल तो हफ्ते में स्टार्स बदलते हैं। पहले ऐसा नहीं था, दिलीप कुमार हों या अमिताभ बच्चन सालों तक स्टार रहे हैं। खैर, उस वक्त सब सीमित था। लेकिन काम के प्रति काफी लगन था। लोग एक दूसरे को नीचा नहीं दिखाते थे। आज के कंपिटिशन को देखते हुए थोड़ी तकलीफ होती है।

दंगल, जॉली एलएलबी 2 आई पसंद

दंगल, जॉली एलएलबी 2 आई पसंद

मैंने हाल ही में दंगल देखी, काफी बेहतरीन फिल्म थी। मुझे लगता है इस फिल्म के जरीए आमिर खान ने मुझे कुछ सिखाया है। एक कलाकार होने के नाते मैंने काफी कुछ सीखा। वहीं, अक्षय की हाल में रिलीज फिल्म जॉली एलएलबी 2 भी मुझे काफी पसंद आई।मुझे लगता है सिनेमा एक ऐसा माध्यम हैं, जिससे हम बहुत कुछ कह सकते हैं।

बॉक्स ऑफिस क्लब कितने सही!

बॉक्स ऑफिस क्लब कितने सही!

100 करोड़, 200 करोड़ क्लब में परेशानी क्या है? पैसे कमाना कुछ बुरा तो नहीं है। पैसे बनाने के साथ मनोरंजन होता है, तो सही है।

बॉलीवुड में सिर्फ अच्छा काम मायने रखता है

बॉलीवुड में सिर्फ अच्छा काम मायने रखता है

मुझे लगता है आप यहां काम कैसा करते है, सब उसपर निर्भर करता है। खुद ही चिल्लाकर की मैं किंग हूं, मैं बादशाह हूं.. उससे कोई फर्क नहीं पड़ता। आज के दर्शकों को कुछ पसंद नहीं आता, तो तुरंत उजागर कर देते हैं। सलमान हो या शाहरूख, अजय हो या अक्षय.. कोई फर्क नहीं पड़ता। जो अच्छा है, लोग वही देखते हैं।

कॉमेडी में लोगों ने पसंद किया है.. फिर भी कम फिल्में क्यों!

कॉमेडी में लोगों ने पसंद किया है.. फिर भी कम फिल्में क्यों!

मैं उन कहानियों में सेट नहीं हो पाता। मुझे नहीं लगता, मैं अपना समय वहां लगाऊं। हालांकि कॉमेडी करना काफी चैंलेजिंग है, लेकिन सच कहूं तो मुझे रास नहीं आता।

आने वाले प्रोजेक्ट्स

आने वाले प्रोजेक्ट्स

फिलहाल कोई नहीं। लेकिन अब मैं निर्देशन पर हाथ आजमाना चाहता हूं। हो सकता है जल्द ही कोई फिल्म करूं। एक लव स्टोरी है, जो 1940 के समय के इर्द गिर्द घूमती है। मैं इस कहानी पर काम कर रहा हूं।

English summary
Nana Patekar in an interview talks about his films, box office numbers and much more.
Please Wait while comments are loading...