For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    Exclusive Interview: मैंने स्टार बनकर बहुत सारे लोग देखे हैं, इस जाल में नहीं फंसना - रश्मि देसाई

    |

    मध्यम वर्गीय परिवार से लेकर टीवी की सबसे अधिक कमाई करने वाली स्टार बनने के बाद रश्मि देसाई पीछे मुड़कर देखना पसंद नहीं करती हैं। बीते 10 साल से अधिक टीवी इंडस्ट्री में अपने नाम के आगे स्टार लगाने वालीं रश्मि देसाई अब अपने पंख फैला रही हैं। ओटीटी इस वक्त कलाकारों की उड़ान को सही घोंसला दे रहा है।

    रश्मि देसाई भी यहां अपनी दमदार मौजूदगी दर्ज कराने के लिए पहुंच गईं हैं तंदूर वेब सीरीज के साथ। बिग बॉस 13 के बाद तंदूर ही क्यों? साथ ही सबसे अधिक कमाई करने वालीं एक्ट्रेस, स्टारडम के साथ रश्मि देसाई ने ट्रोलिंग पर भी खुल कर Filmibeat Hindi फिल्मीबीट हिंदी से खास बातचीत की।

    रश्मि देसाई ने कोरोना लॅाकडाउन के दौरान अपनी फिटनेस पर सबसे अधिक ध्यान दिया है। इसकी वजह रश्मि देसाई ने बीमारी को बताया है। जिसका शिकार वो कुछ समय पहले हुई थीं। तंदूर वेब सीरीज को रश्मि देसाई ने बतौर एक्ट्रेस खुद के लिए सही फैसला बताया है। रश्मि कहती हैं कि जिंदगी में कई बार सबकुछ हासिल नहीं होता। ऐसे में दूसरे रास्ते पर निकलकर आगे बढ़ना चाहिए।

    टीवी पर बहू बनने के बाद अब अपने सपनों को जीना है- रश्मि देसाई

    टीवी पर बहू बनने के बाद अब अपने सपनों को जीना है- रश्मि देसाई

    बिग बॅास 13 के बाद सीधे वेब सीरीज से डेब्यू, इसकी क्या वजह रही है? रश्मि देसाई इस पर कहती हैं कि तंदूर के साथ मैंने और भी कई प्रोजेक्ट साइन किए।बाकी प्रोजेक्ट के बीच सबसे पहले तंदूर का काम शुरू हुआ।यह कहानी पति-पत्नी की है। शादी के बाद में किस तरह की घटनाएं होती है। फिर कैसे पत्नी की तंदूर के हत्या कर दी जाती है? पति खूनी है या नहीं? प्यार,नफरत, बदले के साथ सस्पेंस थ्रिलर लव स्टोरी हैं।

    यह मेरी खुशनसीबी है कि तंदूर जैसी दिलचस्प कहानी को मैंने खुद के लिए बतौर एक्ट्रेस चुना है। एक एक्ट्रेस के तौर पर आप सभी ने मुझे एक बहू की भूमिका में टीवी पर देखा है। लेकिन मेरे भी कई सारे सपने हैं। मैं भी एक एक्ट्रेस बनकर कई सारे पलों को जीना चाहती हूं। यही वजह है की बतौर एक्ट्रेस खुद को चुनौती देते हुए मैंने तंदूर के साथ नई राह को चुना है

    कहानी दिलचस्प नहीं होगी तो किरदार का क्या फायदा

    कहानी दिलचस्प नहीं होगी तो किरदार का क्या फायदा

    जब मेरे पास तंदूर फिल्म की कहानी आई तो मैंने इसका नेरेशन सुना। वर्कशॉप हुए। मुझे यह कहानी दिलचस्प लगी। स्कीन पर हर फ्रेम में सस्पेंस दिखेगा। निवेदिता बसु ने खूबसूरती के साथ इस फिल्म का निर्देशन किया है। सच कहूं तो मैं इस प्रोजेक्ट के लिए इनकार नहीं कर पाई। इस इनके सारी कहानी मेरे केदार के इर्द-गिर्द ही है। लेकिन पति के पॉइंट ऑफ यू से दिखाया गया है। एक एक्ट्रेस होने के नाते में केवल किरदार को नहीं सुनती, मेरा केंद्र कहानी पर भी रहता है । कहानी दिलचस्प नहीं होगी तो किरदार का क्या मतलब है?

    मुझे अब वो करना है जो मेरी पसंद है

    मुझे अब वो करना है जो मेरी पसंद है

    मैंने टीवी एक्ट्रेस के तौर पर एक प्रक्रिया का आनंद उठाया है। अब मुझे और मीडियम के माध्यम से खुद को बतौर एक्ट्रेस खुद को निखारना है। टीवी ऐसा माध्यम है, जहां पर अपने किरदार को पकड़ कर लेकर चलना पड़ता है। वेब में आपके आसपास के किरदार आपको कैसा पकड़कर चलते हैं वो मायने रखता है। वेब अलग तरह का मीडियम है। एक्ट्रेस के तौर पर मेरे दिमाग में कई सारी चीजें चल रही थीं मुझे लगा कि अब मुझे वो करना है जो मुझे पसंद है। तंदूर में रश्मि देसाई नहीं दिखेगी। मैंने पूरी सीरीज में किरदार को स्क्रीन पर जिया है।

    लोग क्या सोचते हैं, इसकी फुर्सत नहीं है मेरे पास

    लोग क्या सोचते हैं, इसकी फुर्सत नहीं है मेरे पास

    एक आम परिवार से लेकर सबसे अधिक फीस लेने वाली एक्ट्रेस तक आप खुद को कैसे देखती हैं? इस पर रश्मि ने बताया कि मैंने अपने लिए कभी असफलता नहीं देखी है। बाकी लोग इसे कैसे देखते हैं मुझे इसकी फ्रिक नहीं। मेरे पास इतनी फुर्सत नहीं है कि मैं दूसरे क्या सोचते हैं इस बारे में विचार करूं। मेरे लिए यही मायने रखता है कि मेरे लोग मेरे बारे में क्या सोचते हैं। मेरे पास अब इतना समय नहीं है कि मैं पीछे मुड़कर देखूं कि मैंने कहा से शुरू किया था और आज मैं कहां पर खड़ी हूं। मेरे पास एक लंबा सफर है आगे खत्म करने के लिए। मेरे बारे में अच्छी बात ये है कि मैं हर दिन काम कर रही हूं। काम उन चीजों का नहीं जो लोग अपनी नजर से देखते हैं मुझमें। मैंने जो इतने साल काम किया है वो धीरे-धीरे दिखता है। अगर मैं पीछे देखने लग जाऊंगी तो आगे नहीं बढ़ पाऊंगी।

    सोरायसिस बीमारी को मेरे लिए संभालना मुश्किल था

    सोरायसिस बीमारी को मेरे लिए संभालना मुश्किल था

    बिग बॉस से बाहर आने के बाद मैंने काम के साथ अपनी फिटनेस पर भी फोकस किया। बिग बॉस से पहले सोरायसिस बीमारी का शुरुआती समय था। ये नहीं कहूंगी कि मुझे सोरायसिस बीमारी हुई थी। लेकिन इस बीमारी को संभालना आसान नहीं था। मैं दिमागी तौर पर काफी मजबूत रही हूं। हां,कभी कभी जिंदगी में सब कुछ नहीं मिलता। टर्न लेना पड़ता है और दूसरे रास्ते पर आगे बढ़ना पड़ता है। मैंने ये किया और इसके लिए काफी हिम्मत चाहिए होती है।

    बदलाव जिंदगी में कई तरह की मुश्किलें लाती हैं। ये हुआ और मैं इससे आगे निकली। अब ये बीमारी मेरे साथ नहीं है। मुझे नहीं पता था कि ये बीमारी कहां से फैली थी, तो मैंने अपनी फिटनेस पर अधिक फोकस किया है। तंदूर की शूटिंग के समय कोविड चल रहा था, तो मैंने अपना अधिक ध्यान दिया है। सोरायसिस आधे से अधिक समय परेशान होने से बढ़ता है। मैंन खुद पर काम किया। जब आप वर्कआउट करते हैं तो आपकी फिटनेस के साथ सोच में भी पॅाजिटिव बदलाव आता है। ऐसा पड़ाव आ जाता है कि जिंदगी में दूसरे लोगों की मदद की जरूरत नहीं होती।

    स्टारडम माया है इसके जाल में नहीं फंसना है

    स्टारडम माया है इसके जाल में नहीं फंसना है

    स्टारडम के साथ आपने ट्रोलिंग का सामना भी काफी किया है हैं? रश्मि ने इसे माया बताते हुए स्टारडम पर कहती हैं कि ये आता है और जाता है। स्टारडम एक माया है इसके जाल में नहीं फंसना चाहिए। मैंने स्टारडम भी बहुत देखा है और लोगों को भी बहुत देखा है। स्टार बनके लोग भी देखे हैं। मेरे अनुुसार एक्ट्रेस बनना, कलाकार बनना एक बहुत जिम्मेदारी का काम है।असुरक्षित लोगों को कुछ नहीं कहना चाहूंगी जो ट्रोल करते हैं। ये सब देखने बैठ जाऊंगी तो मेरे पास समय ही नहीं बचेगा। मेरे पास अपनी अच्छी बेहतर जरूरी चीजों के लिए रहता है।

    किसी ने मुझे गंदी गालियां भी दी थीं

    किसी ने मुझे गंदी गालियां भी दी थीं

    बिग बॅास के दौरान मैंने देखा की बहुत अधिक ट्रोलिंग हुई। मेरी मां को मेरे घरवालों और घर के बच्चों को भी घसीटा गया। किसी ने तो बहुत गंदी गालियां भी दी थीं। सच कहूं तो इसका असर मुझ पर नहीं पड़ता है। लोग मुझसे प्यार भी करते हैं और नफरत भी करते हैं। तो आप लोगों से ये उम्मीद नहीं कर सकते कि लोग आपको अपनायेंगे। वैसे भी मैं कोई परफेक्ट इंसान नहीं हूं।मैं गलती करती हूं और अपनी गलती से सीखती भी हूं। इसका अच्छा भाग ये है कि लोग भी मेरी गलती से सीखते हैं। लोग तो बोलते ही हैं मुझे इसकी परवाह नहीं है। मेरे फैंस ही इतने सारे हैं कि मेरे पास ट्रोलर को देखने का समय नहीं है।

    English summary
    Exclusive: Rashami Desai talks about tandoor web series and trolling says somebody abuse me
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X