»   » INTERVIEW: ''अभय देओल जैसे एक्टर को आप गोलमाल अगेन में फिट नहीं कर सकते हो..''

INTERVIEW: ''अभय देओल जैसे एक्टर को आप गोलमाल अगेन में फिट नहीं कर सकते हो..''

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

साल 2013 में वॉर- कॉमेडी फिल्म 'वॉर छोड़ ना यार' के साथ बतौर डाइरेक्टर सामने आए फराज़ हैदर अब अपनी अगली फिल्म के साथ तैयार हैं। 20 अप्रैल को रिलीज हो रही है फिल्म नानू की जानू, जहां अभय देओल और पत्रलेखा मुख्य किरदारों में दिखेंगे। 

फिल्म प्रमोशन के दौरान निर्देशक ने फिल्मीबीट से हुए खास बातचीत में अभय देओल के साथ काम करने के अनुभव, कॉमेडी फिल्में और फिल्मों के क्लैश पर खुलकर बातें कीं। अभय देओल पर बात करते हुए फराज़ ने कहा- जो काम आपने आज तक अभय को करते नहीं देखा होगा.. वह अभय देओल ने इस फिल्म में किया है। ट्रेलर में आपने एक झलक भी देखी होगी।

Faraz Haidar

उन्होंने कहा- यह हॉरर कॉमेडी होते हुए भी काफी रियलिस्ट फिल्म है। मैंने गोलमाल अगेन देखी नहीं है.. लेकिन उस फिल्म का अपना एक अलग ट्रीटमेंट है। मेरी फिल्म थोड़ी रियलिस्टिक है.. क्योंकि मेरा हीरो भी रियलिस्टिक है। अब अभय देओल को आप गोलमाल में फिट करोगे तो ना तो अभय कंफर्टेबल होंगे, ना आडियंस होगी। इसीलिए मुझे लगता है कि नानू की जानू में दर्शकों को कुछ अलग देखने को मिलेगा।

यहां पढ़ें इंटरव्यू से कुछ प्रमुख अंश-

कॉमेडी मेरा पैटर्न है

कॉमेडी मेरा पैटर्न है

मैंने फिल्म 'वॉर छोड़ ना यार' में वॉर के साथ कॉमेडी बनाई है.. नानू की जानू में हॉरर- कॉमेडी का मिक्स किया.. अगली फिल्म राजनीति- कॉमेडी होगी.. वहीं एक स्क्रिप्ट मैं थ्रिलर- कॉमेडी भी लिख रहा हूं। तो यही मेरा पैटर्न है। मैं सोचता हूं कि बड़ी से बड़ी बात भी कॉमेडी के साथ सही तरीके कही जा सकती है।

हर इंसान हंसना चाहता है

हर इंसान हंसना चाहता है

निर्देशक फराज़ हैदर ने कहा- कॉमेडी को एक पॉपुलर शैली माना जा सकता है। हर इंसान हंसना चाहता है। और मैं मुझे लोगों को हंसने में मजा आता है। लेकिन हां, बतौर निर्देशक मेरी कुछ ड्यूटी भी है.. इसीलिए मैं मुद्दे को कॉमेडी के साथ मिलाकर परोस देता हूं।

क्लैश से कोई डर नहीं है

क्लैश से कोई डर नहीं है

20 अप्रैल को नानू की जानू तीन और फिल्मों के साथ रिलीज हो रही है.. लेकिन निर्देशक फराज़ हैदर को क्लैश से कोई डर नहीं। उन्होंने कहा- मेरी फिल्म के साथ बीयांड द क्लाउड्स और ओमेर्टा जैसी फिल्में आ रही हैं, इनका दर्शक वर्ग बिल्कुल अलग है। जबकि मेरी फिल्म इनके मामले में थोड़ी ज्यादा कमर्शियल है। इसका दर्शक वर्ग बिल्कुल ही अलग है।

रिलीज की प्लानिंग जरूरी है

रिलीज की प्लानिंग जरूरी है

निर्देशक ने कहा, मुझे लगता है कि फिल्म को सही समय पर रिलीज करना भी जरूरी है। इसके लिए प्लानिंग जरूरी है। बड़े डेट्स पर ना भी मिलें.. लेकिन हर फिल्म का अपना ज़ोन होता है, उसके अनुरुप ही फिल्म रिलीज करनी चाहिए।

फेस्टिवल डेट तो रोशन, खान और कुमार ने ले रखी है

फेस्टिवल डेट तो रोशन, खान और कुमार ने ले रखी है

निर्देशक ने बड़ी डेट्स को लॉक करने की बात पर कहा किफेस्टिवल डेट तो रोशन, खान और कुमार ने ले रखी है। लेकिन मुझे इसमें कुछ गलत भी नहीं रखता। यदि आपको अपनी फिल्म पर भरोसा है तो फिल्म कभी भी रिलीज करो, उसे दर्शकों का प्यार मिलेगा।

शानदार एक्टर हैं अभय देओल

शानदार एक्टर हैं अभय देओल

मैंने फिल्म ओय लकी लकी ओय की थी बतौर एसिस्टेंट डाइरेक्टर। मुझे एक अंदाजा था कि अभय किस तरह की किरदार करना चाहते हैं। वह थोड़ा हटकर ही काम करना चाहते हैं। अभय बहुत चूजी हैं स्क्रिप्ट के चुनाव के लेकर, लेकिन मुझे कहीं ना कहीं उम्मीद थी कि अभय को यह स्क्रिप्ट पसंद आएगी। और अच्छी बात है कि मैंने जब उन्होंने स्क्रिप्ट सुनाई तो उन्होंने पहली ही बार में हां भी कर दिया।

English summary
Director Faraz Haider talks about his upcoming film Nanu ki Jaanu and how it was working with Abhay Deol. Movie is releasing on 20th April.

रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

X