»   » कौमार्य तोड़ने के लिए बेचैन नीतू

कौमार्य तोड़ने के लिए बेचैन नीतू

Subscribe to Filmibeat Hindi

मधुर भंडारकर की फिल्म ट्रैफिक सिग्नल से पहचान पाने वाली नीतू अपना कौमार्य खत्म करने के लिए बेचैन हैं। वह कई बार कह चुकी हैं कि वह कुंआरी नहीं मरना चाहती हैं। अपने स्किन कलर के ट्रीटमेंट की वजह से नीतू चंद्रा इस समय घर पर ही हैं। नीतू चंद्रा की इमेज बॉलीवुड में सेक्स सिंबल के तौर पर ही है।

उस पर उनके इस तरह के उत्तेजक बयान उनकी सेक्सी इमेज पर चार चांद ही लगा रहे हैं। वैसे उनकी नयी फिल्म या किसी नये काम की खबर तो नहीं आयी है। तो जाहिर है कि इस तरह की बयानबाजी का मकसद एक ही है। सस्ती पब्लिसिटी पाने का नया हथकंडा। लोग उन्हे भूलें ना और घर बैठे-बैठे ही उनके चर्चे हो जाएं। इसके लिए कुछ तो करना ही पड़ेगा।

लगता है नीतू घर बैठकर आजकल इसी तरह के प्लान बना रही हैं कि पब्लिसिटी कैसे हासिल की जाये। वैसे भी अगर वह अपना कौमार्य तोड़ना ही चाहती हैं तो इसका खबर मीडिया में दे कर क्या होगा? वैसे नीतू अगर इतनी प्लानिंग आप ने अपने एक्टिंग करियर के लिए की होती तो आज आप को इस तरह के पब्लिसिटी स्टंट की जरूरत नहीं होती।

Please Wait while comments are loading...