»   » #TooMuch: पाकिस्तान पर गुस्सा निकालिए....किसी खान पर नहीं!

#TooMuch: पाकिस्तान पर गुस्सा निकालिए....किसी खान पर नहीं!

Written By:
Subscribe to Filmibeat Hindi

हाल ही में डिफेंस सूत्रों की मानें तो कश्मीर के उड़ी में जो हमला हुआ वो पाकिस्तान आर्मी ने करवाया। और इसमें हमारे 18 जवान शहीद हुए। इस बात का सबको खेद है। लेकिन इसके बाद एक अजीब सी डिमांड लोगों ने रखी - फवाद खान और माहिरा खान को पाकिस्तान वापस भेजने की।

दोनों पाकिस्तानी कलाकार हैं। जहां फवाद खान ऐ दिल है मुश्किल में नज़र आएंगे वहीं माहिरा खान शाहरूख खान स्टारर रईस में। और हमें ये जानकर बहुत दुख हुआ जब लोगों ने यह कहने में भी गुरेज नहीं किया कि दोनों कलाकार भारत के पैसे पर स्टारडम पा रहे हैं।

in-defense-of-fawad-khan

फवाद खान, सलमान खान की अगली होम प्रोडक्शन फिल्म और करण जौहर के साथ कैटरीना कैफ की फिल्म रात बाकी में दिखाई देने वाले हैं। इसके अलावा और कई बॉलीवुड प्रोजेक्ट से उनका नाम जुड़ रहा है लेकिन ये सब प्रोजेक्ट ठंडे बस्ते में जाने वाले हैं।

in-defense-of-fawad-khan
 

सलमान की फिल्म जनवरी में शुरू हो रही है और कैटरीना की नवंबर में। लेकिन इन सबके बीच उन्हें पाकिस्तान चुनने का रास्ता दिखा दिया गया है।
[बॉलीवुड में किसकी है 56 इंच की छाती!] 

in-defense-of-fawad-khan
 

और ये सरासर गलत है। खासतौर से उन लोगों के लिए जो तब कुछ नहीं कहते जब इस देश का प्रधानमंत्री उस देश के प्रधानमंत्री को सरप्राइज़ देने गया उनके जन्मदिन पर।
  [क्यों फवाद खान हैं सलमान खान का परफेक्ट रिप्लेसमेंट!]

मुद्दा ये नहीं है कि पाकिस्तानी कलाकार यहां काम क्यों कर रहे हैं अगर भारत वाकई अपने नियमों को इतना सख्त बनाए तो हर हिंदुस्तानी शायद उसका साथ दे कि पाकिस्तान से कोई ताल्लुक नहीं रखना है।

in-defense-of-fawad-khan
 

लेकिन एक तरफ उनके कलाकारों का दोहन करना और दूसरी तरफ उन पर ये तोहमत लगाना कि हमने उन्हें बनाया है, केवल हमारी दोहरी मानसिकता दिखाता है।

in-defense-of-fawad-khan
 

अब जिन्हें नहीं पता हो या जिन्होंने फवाद खान का अभिनय ना देखा हो तो उन्हें हम ये बताना चाहेंगे कि उनके जैसा कलाकार, वाकई नेमत है। इसलिए नहीं कि उन्हें खुदा ने खूबसूरती बख्शी है, लेकिन इसलिए कि उन्होंने अपनी कला को हर दम तराशा है और वो उनके काम में दिखता है। 

in-defense-of-fawad-khan
 

कला कभी भी इंसान को राज्य की सीमा से नहीं बांध सकती और कुछ लोगों को ये बात समझने की बेहद ज़रूरत है कि कम से कम फवाद खान वो कलाकार नहीं है जिन्हें आपने बनाया है।

in-defense-of-fawad-khan

ससुराल सिमर का देखने वालों को ज़िंदगी गुलज़ार है जैसे बेहतरीन और कसे हुए नमूने देखने को मिलें ये भी अपने आप में बहुत बड़ी बात है। और कम से कम कलाकार की ज़मीनी इज़्जत तो आप कर ही सकते हैं। 

in-defense-of-fawad-khan

चलते चलते एक और बात कला को कभी सभ्यता की ज़रूरत नहीं होती, सभ्यता तभी बनती है जब कला उसे संवार दे। इसलिए कला और कलाकार की कद्र करना सीखिए। ये बात बात पर वापस जाओ के नारे लगाने ही हैं, तो उनके लिए लगाइए जिनके लिए ये अहम हैं।
 

in-defense-of-fawad-khan

दबाव बनाना उस पर आसान होता है जो आप पर अपना दम नहीं दिखाए। दबाव उस पर बनाइए जिस पर वाकई बनाना चाहिए। और एक आखिरी बार गुज़ारिश है कि कला और कलाकार दोनों को ही ज़हर से दूर रखें!

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    English summary
    In defense of Fawad Khan: Fawad Khan has been a born star and not made from India.

    रहें फिल्म इंडस्ट्री की हर खबर से अपडेट और पाएं मूवी रिव्यूज - Filmibeat Hindi

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Filmibeat sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Filmibeat website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more