For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    क्रिमिनल जस्टिस सीजन 3: माधव मिश्रा का फिर चल गया जादू, पहले दो एपिसोड ने बढ़ाई दिलचस्पी

    |

    डिज्नी प्लस हॉटस्टार के बहुप्रतीक्षित वेब सीरिज 'क्रिमिनल जस्टिस: अधुरा सच' के दो एपिसोड्स को रिलीज किया गया है। इसमें हर किसी के फेवरेट वकील माधव मिश्रा अपने सबसे चुनौतीपूर्ण मामलों में से एक का सामना करते हैं, जो लोकप्रिय बाल कलाकार ज़ारा आहूजा की हत्या का मामला है। इस कहानी में सभी सुबूत ज़ारा के भाई मुकुल आहूजा के आरोपी होने का इशारा करते हैं।

    पहले एपिसोड में दिखाया जाता है कि ज़ारा (देशना दुगड़) की एक सुनसान जगह पर बेरहमी से हत्या कर दी जाती है। जैसा कि आहूजा एक भावनात्मक रोलर कोस्टर का उपयोग करती है, पुलिस जांच और सभी सबूत उसके सौतेले भाई मुकुल (आदित्य गुप्ता) की ओर इशारा करते हैं, जो उसे देखने वाला आखिरी शख्स होता है। दुख और दर्द से परिवार पूरी तरह टूट जाता है। मीडिया और ज़ारा के प्रशंसकों से पुलिस और सरकारी वकील पर अपराधी को खोजने का दबाव बढ़ जाता है।

    मुकुल के इतिहास की वजह से उसके अपने माता-पिता, अवंतिका (स्वस्तिका मुखर्जी) और नीरज (पूरब कोहली) को उसकी बेगुनाही पर शक होता है। जैसे ही आगे की जांच मुकुल को इस केस का अहम संदिग्ध बना देती है, उसे एक जुवेनाइल होम में दबाव बनाया जाता है। ऐसे में परेशान और एक वकील की तत्काल जरूरत में, गौरी (कल्याणी मुले) माधव मिश्रा (पंकज त्रिपाठी) की सिफारिश करती है।

    जैसे-जैसे मामला आगे बढ़ता है, मुकुल की सौतेली बहन ज़ारा के प्रति नफरत के खुलासे के साथ उसके साथ नशे की लत का इलाज चलना और नीरज का इस बात को लेकर पूरा शक होना कि मुकुल ही हत्यारा है, के साथ यह केस और भी मुश्कित होता जाता है। ऐसे में अब माधव मिश्रा सच्चाई को उजागर करने के लिए क्या करेंगे? ये देखना वाकई बेहद दिलचस्प होगा जिसके आपको सीरीज के बारी के एपीसोड्स का इंतजार करना होगा।

    English summary
    Criminal justice: Adhura Sach madhav mishra aka pankaj triapthi loved by audience in first two episodes.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X