For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    RELEASE REWIND:कूली, एक अनहोनी और बदल जाता bollywood

    |

    14 नवंबर 2013 को रिलीज़ हुई थी एक फिल्म कूली। इस फिल्म की शूटिंग के साथ अमिताभ बच्चन के साथ एक हादसा हुआ जिसके बाद वो काफी समय तक ज़िंदगी और मौत से जूझते रहे। वो एक अनहोनी पूरे फिल्म इतिहास को बदल कर रख सकती थी। हालांकि इन 31 सालों में कुछ नहीं बदला। तब भी काम के प्रति जुनूनी एक्टर था और आज भी काम के लिए वही जुनून है। मनमोहन देसाई की इस फिल्म ने ताबड़तोड़ कलेक्शन बटोरा था। और शूजीत सरकार की पीकू भी कुछ ऐसा ही करेगी।

    क्या आपको कुली फिल्म का वो शॉट याद है जिसमें बिग बी मेज से टकराते हैं। फिल्म में विलेन पुनीत इस्सर के साथ बिग बी दो दो हाथ कर रहे थे। एक्शन डायरेक्टर ने पूरा फाइट सीक्वेंस पहले से तैयार कर रखा था। बस उससे एक गलती हो गई। गलती ये कि लड़ाई की जगह पर उसने एक मेज रख दी, वो मेज जिसके कोने पर एल्युनियम चढ़ा हुआ था और इस वजह से वो नुकीला हो गया था। जैसे ही पुनीत इस्सर ने पहला घूंसा मारा, अमिताभ लडख़ड़ाए। इसके बाद पुनीत इस्सर के धक्के से अमिताभ मेज पर जा गिरे। बस यहीं वक्त थम गया। फिल्म यूनिट खुशी से चिल्ला पड़ी, ग्रेट शॉट। अगले ही पल मुंबई के ब्रीच कैंडी में उनका ऑपरेशन हो रहा था। उन्हें 60 बोतल खून चढ़ाया गया। अस्तपताल में इलाज चलता रहा और बाहर पूरे देश में दुआओं का दौर। लोगों ने व्रत रखे, मन्नत मांगी और अमिताभ ने मौत को मात दे दी, ठीक होकर घर लौटे।

    कुली उस दशक की सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली फिल्मों में से एक थी। फिल्म का गाना हमका इशक हुआ है यारों तो आज भी लोगों को गुदगुदाता जाता है। इस फिल्म के गीतों को गाने के लि्ए मनमोहन देसाई मो.रफी की आवाज़ चाहते थे। लेकिन रफी नहीं रहे ऐसे में शब्बीर कुमार को रफी के ऑप्शन की तरह इस्तेमाल किया गया था। फिल्म के गीतों को गाने के लिए किशोर कुमार ने मना कर दिया था।

    कुली के कुछ ड़ायलॉग्स बहुत फेमृस हु्ए थे -

    • अपनी तारीफ ज़रा लंबी है...बचपन से है सर पे अल्लाह का हाथ और अल्लारक्खा है अपने साथ...बाजू पे 786 का है बिल्ला...20 नंबर की बीड़ी पीता हूं...काम करता हूं कूली का और नाम है इकबाल।
    • ये हम मज़दूरों का हथियार है कि हम गरीबों का पेट पाल भी सकते हैं और आप जैसे अमीरों का पेट फाड़ भी सकते हैं।
    • कोई माई का लाल किसी को दो वक्त की रोटी नहीं दिला सकता क्योंकि रोटी दिलाने वाला वो मालिक है।
    • मज़दूर का पसीना सूखने से पहले उसकी मज़दूरी मिल जानी चाहिए जनाब।
    • तेरे हाथ में मौत का सामान तो है...पर मेरे सीने पे खुदा का नाम है।
    • जिसके सीने में दिल ही नहीं है उसे दिल का दौरा क्या पड़ेगा।
    English summary
    A film which could have changed the demographics of Bollywood. Coolie turns 31 with a workaholic Amitabh Bachchan till date.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X