»   » B'DaySpcl..ये न होते तो सलमान खान नहीं बन पाते सुपरस्टार!

B'DaySpcl..ये न होते तो सलमान खान नहीं बन पाते सुपरस्टार!

By: shivani verma
Subscribe to Filmibeat Hindi

बॉलीवुड में ऐसे कई डायरेक्टर हैं जिन्होंने इंडस्ट्री को ऐसी ऐसी फिल्में दी हैं जिनका तोड़ कोई नहीं निकाल सकता। बेशक उन फिल्मों को बने काफी साल हो चुके हों या बेशक नई नई हिट फिल्में आ रही हैं, लेकिन उन पुरानी फिल्मों का रिकॉर्ड कोई नहीं तोड़ सकता। बात को ज्यादा न घुमाते हुए हम सीधा प्वाइंट पर आते हैं और बताते हैं कि हिंदी सिनेमाजगत के जानी मानी हस्ती सूरज बड़जात्या का जन्मदिन है।

22 फरवरी 1964 में जन्में सूरज बड़जात्या आज 52 साल के हो गए हैं। ये कहना गलत नहीं होगा कि इन्होंने बॉलीवुड को ऐसी ऐसी सुपरहिट फिल्में दी हैं जिनके तोड़ में आज तक कोई फिल्म बन ही नहीं पाई।

#RarePics..जब शाहरुख नहीं थे सुपरस्टार..सेट पर सीनियर के सामने यूं आते थे नज़र

कोशिश तो बहुतों ने की होगी, लेकिन इन्होंने जो कर दिया, बस कर दिया। बॉलीवुड को मैंने प्यार किया, हम आपके हैं कौन जैसी फिल्में देने वाले बड़जात्या के बारे में हम आपको ऐसी ऐसी बातें बताएंगे जिन्हें आपका जानना वाकई में ज़रूरी है..

सलमान को बनाया स्टार

सलमान को बनाया स्टार

आज सलमान खान के दुनिया भर में फैन फॉलोइंग हैं। ये कहना गलत नहीं होगा कि सलमान खान के करियर को सही राह देनें और सुपरस्टार बनने तक के सफर में सूरज बड़जात्या का बहुत बड़ा हाथ है। सलमान ने पहली बार इनकी फिल्म मैंने प्यार किया में काम किया और इसके बाद सलमान ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

मैंने प्यार किया से निकल पड़ी गाड़ी

मैंने प्यार किया से निकल पड़ी गाड़ी

फिल्म मैंने प्यार किया सूरज बड़जात्या की पहली सुपरहिट फिल्म थी। इसके बाद इन्होंने कभी अपनी स्पीड कम नहीं होने दी और आगे बढ़ते ही गए।

हम आपके हैं कौने ऑल टाइम फेवरिट

हम आपके हैं कौने ऑल टाइम फेवरिट

ये फिल्म भी सूरज बड़जात्या की ही है। और इसके बारे में कोई नहीं जानता होगा ऐसा मुमकिन नहीं है। ये फिल्म 1994 में रिलीज़ हुई थी और आज भी जब ये फिल्म टीवी पर आती है तो घर में लोग साथ बैठकर ज़रूर देखते हैं।

हर फिल्म में हीरो का नाम का नाम प्रेम

हर फिल्म में हीरो का नाम का नाम प्रेम

इनकी सबसे बड़ी खास बात ये है कि इनकी हर फिल्म में हीरो का नाम 'प्रेम' होता है। फिर चाहे वो हम आपके हैं कौन, हम साथ साथ हैं, मैंने प्यार किया में सलमान खान हों या मैं प्रेम की दिवानी में ऋतिक रोशन। हीरो का नाम तो प्रेम ही है।

ज्वाइंट फैमिली पर फोकस

ज्वाइंट फैमिली पर फोकस

इसके अलावा अगर आप नोटिस करें तो इनकी अधिकतर फिल्मों में ज्वाइंट फैमिली पर ज्यादा फोकस किया जाता है। हम साथ साथ हैं, हम आपके हैं कौन, विवाह जैसी फिल्मों आप ऐसा देख सकते हैं।

दहेज के लिए बिल्कुल 'NO'

दहेज के लिए बिल्कुल 'NO'

इनकी फिल्मों में सामाजिक संदेश भी है। वो ये कि हर फिल्म में दहेज के लिए तो बिल्कुल NO ही है। विवाह में पूनम की शादी के लिए नारियल और सवा रुपये के साथ घर की बहु बनाना और हम आपके हैं कौन में पूजा भाभी का वज़न लल्लू को दहेज से ज्यादा लगना..इसी बात का सुबूत है..Wink

एक से बढ़कर एक गाने

एक से बढ़कर एक गाने

इनकी हर फिल्म में एक से बढ़कर एक गाने हैं, जो लोगों की ज़ुबान पर हमेशा रटे रहते हैं। अब जिसके भी घर शादी होती है उनके घर में इनकी फिल्मों के गाने न बजे ऐसा तो हो ही नहीं सकता।

भारी भरकम विलेन नहीं होता

भारी भरकम विलेन नहीं होता

इनकी फिल्म में छोटी छोटी सी बातों में खुशियां ढूंढ ही ली जाती हैं। न ज्यादा लड़ाई झगड़ा, न कोई दुश्मन।

किसी से कंपिटिशन नहीं

किसी से कंपिटिशन नहीं

बनने को कितनी भी फिल्में बन जाएं इनसे कॉम्पिटीशन कोई कर ही नहीं सकता।

English summary
Sooraj Barjatya birthday special common things in his movies.
Please Wait while comments are loading...