For Quick Alerts
    ALLOW NOTIFICATIONS  
    For Daily Alerts

    चमचमाता बेदाग करियर..'बघीरा' की वजह से बने बच्चों के फेवरिट तो जीते कई अवार्ड्स

    By Shweta
    |

    बॉलीवुड के सबसे टैलेंटेड और सीनियर एक्टर ओम पुरी का शुक्रवार की सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 66 साल के थे। ओमपुरी न सिर्फ बॉलीवुड सिनेमा, बल्कि पाकिस्तानी, ब्रिटिश और हॉलिवुड फिल्मों में भी अपनी बेमिसाल अदाकारी के लिए जाने जाते रहे। सिनेमा में उनके योगदान के लिए उन्हें पद्मश्री से भी नवाजा गया।

    [#RIP - नहीं रहे सीनियर एक्टर ओम पुरी..स्टार्स ने जताया शोक]

    ओम पुरी ने लगभग 150 फिल्मों में काम किया वो भी एक से बढ़कर एक फिल्मों में वो नजर आए। आर्ट फिल्मों में उनकी महारथ थी। ओम पुरी नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के स्टूडेंट भी रह चुके थे। ओम पुरी भले अब नहीं रहे लेकिन उन्हें इन फिल्मों की वजह से हमेशा याद रखा जाएगा।

    अर्धसत्य

    अर्धसत्य

    अर्धसत्य के लिए ओम पुरी को नेशनल अवार्ड से सम्मानित किया गया था। ओम पुरी अर्धसत्य के अलावा भी कई फिल्मफेयर जीत चुके हैं।

    जाने भी दो यारों

    जाने भी दो यारों

    ओम पुरी का जाने भी दो यारों में किया रोल हमेशा यादगार रहेगा।

    मिर्च मसाला

    मिर्च मसाला

    मिर्च मसाला में भी ओम पुरी का किरदार बहुत ही मजबूत था।

    नरसिम्हा

    नरसिम्हा

    ओम पुरी विलेन, सर्पोटिंग किरदार या कुछ भी निभा लें वो उसमें परफेक्ट लगते थे। नरसिम्हा मेंभी वो अपने किरदार में परफेक्ट लगे थे।

    माचिस

    माचिस

    ओम पुरी नें इस फिल्म में एक सिख सनत का किरदार निभाया है जो लड़ाई में बम से हमला करने वाला होता है लेकिन हमले से पहले ही उसका एंकाउंटर हो जाता है । ओम पुरी को इस फिल्म में उनके दमदार अभिनय के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का अवार्ड भी दिया गया ।

    चाची 420

    चाची 420

    कमल हसन की चाची 420 में ओम पुरी ने एक बार फिर हास्य अभिनय के लिए अपना लोहा मनवाया। कमल हसन, अमरीश पुरी, परेश रावल जैसे पाये के अभिनेताओं के संग सहायक भूमिका में भी ओम पुरी दर्शकों पर अपना प्रभाव छोड़ने में कामयाब रहे।

    मृत्युदंड

    मृत्युदंड

    मृत्युदंड में भी ओम पुरी के रोल को काफी सराहा गया था। फिल्म में माधुरी दीक्षित, शबाना आजमी मुख्य किरदार में थे।

    मालामाल वीकली

    मालामाल वीकली

    मालामाल वीकली में एक बार फिर ओम पुरी लोगों को खूब हंसाए। लोग आज भी मालामाल वीकली जब भी देखते हैं हंसते हंसते लोट पोट हो जाते है।

    बघीरा की आवाज

    बघीरा की आवाज

    ओम पुरी 2016 में एक बार फिर जंगल बुक में बघीरा की आवाज दी। जंगल बुक के कारण ओम पुरी बच्चों के फेवरिट हो गए।

    English summary
    Om Puri sudden demise shocked bollywood but his these brilliant performances will keep him alive.
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X